चलती ट्रेन में मोबाइल ऑन होते ही चालक होंगे िनलंबित

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

मुजफ्फरपुर : ट्रेन परिचालन के दौरान चालकों की छोटी गलती के कारण बड़ी रेल दुर्घटना की आशंका को देखते हुए रेलवे बोर्ड ने एक सख्त पत्र जारी किया है. दो साल पहले भी रेलवे बोर्ड ने इस तरह का पत्र जारी किया था, लेकिन कुहासे में रेल दुर्घटना की आशंका को देखते हुए बोर्ड ने दोबारा पत्र जारी किया है. इसमें अब चलती ट्रेन में चालक अपने मोबाइल से बातचीत नहीं कर सकते हैं.

रेल के इंजन में चढ़ने से पहले चालकों को अपना मोबाइल फोन बंद करना होगा. चालक अगर ऐसा नहीं करते हैं और औचक जांच में मोबाइल नंबर ऑन मिलता है, तो उन्हें बिना स्पष्टीकरण रेलवे सीधे निलंबित कर देगा. चालकों की निगरानी के लिए कंट्रोल रूम के अधिकारी और लोको इंस्पेक्टर को जिम्मेदारी दी गयी है. इससे रेलवे के लोको पायलटों में हड़कंप मच गया है.

ट्रेनों की न्यूनतम व अधिकतम गति निर्धारित : बढ़ते कोहरे को देखते हुए पूर्व मध्य रेलवे ने ट्रेनों की गति न्यूतनम 30 और अधिकतम 60 किलोमीटर प्रति घंटा निर्धारित कर दी है. पूर्व मध्य रेल ने इससे संबंधित एक पत्र जारी किया है. इसमें किस प्रकार के सिग्नल पर कितनी गति में ट्रेन चलानी है, इसकी विस्तृत जानकारी दी गयी है.
    Share Via :
    Published Date
    Comments (0)
    metype

    संबंधित खबरें

    अन्य खबरें