37.3 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Trending Tags:

इन्वेस्टर समिट में अडानी ग्रुप से गोदरेज तक आ रहे बिहार, बोले संजय झा- आइटी इंडस्ट्रीज साबित होगी गेम चेंजर

मंत्री संजय कुमार झा और समीर महासेठ ने मंगलवार को कहा कि बिहार बिजनेस कनेक्ट 2023, राज्य में निवेश के अवसरों की पहचान के लिए एक बड़ा मंच साबित होगा. यह राज्य अब औद्योगिक निवेश के लिए एक आदर्श जगह बन चुका है. यहां अब औद्योगिक निवेश के लिए उपयुक्त माहौल भी है.

पटना. अगले सप्ताह 13 और 14 दिसंबर को पटना में बिहार बिजनेस कनेक्ट 2023 (ग्लोबल इन्वेस्टर समिट ) आयोजित होगा. इसके मुख्य सत्र में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भागीदारी करेंगे. इस दौरान उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव समेत कई मंत्री शिरकत करेंगे. इस समिट में देश और विदेशी की नामी कंपनियां शिरकत करेंगी. औद्योगिक निवेश के नजरिये से यह समिट अपनी तरह का यह सबसे बड़ा आयोजन है. इस संदर्भ में राज्य के सूचना एवं जनसंपर्क विभाग के मंत्री संजय कुमार झा और उद्योग मंत्री समीर महासेठ ने मंगलवार को कहा कि बिहार बिजनेस कनेक्ट 2023, राज्य में निवेश के अवसरों की पहचान के लिए एक बड़ा मंच साबित होगा. यह राज्य अब औद्योगिक निवेश के लिए एक आदर्श जगह बन चुका है. यहां अब औद्योगिक निवेश के लिए उपयुक्त माहौल भी है. उन्होंने यह बात उद्योग विभाग के सभागार में आयोजित विशेष प्रेस कॉन्फ्रेंस में मंगलवार को कही.

अब औद्योगिक निवेश के लिए उपयुक्त माहौल

जन संपर्क मंत्री संजय झा ने कहा कि बिहार के औद्योगिक भविष्य और रोजगार सृजन में आइटी इंडस्ट्रीज गेम चेंजर साबित होगी. दस लाख रोजगार के अवसर उपलब्ध कराने में इसकी विशेष भूमिका होगी. उन्होंने कहा कि इसी मंशा के मद्देनजर सरकार ने आइटी पॉलिसी को मंजूरी दी है. उन्होंने विकास के नजरिये से प्लग एंड प्ले को खास बताया. कहा कि बिहार के औद्योगिक विकास के मद्देनजर विशेष राज्य का दर्जा मांग रही है. अगर यह दर्जा मिल जाता है तो उद्योगों में छूट देने में आसानी होगी. मंत्री झा ने कहा कि बाहर रह रहे बिहार के लोग बिहार में काम शुरू करना चहते हैं. दरअसल बिहार की छवि में सकारात्मक सुधार हुआ है. कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्व में बिहार ने उल्लेखनीय आर्थिक तरक्की की है.

Also Read: इलेक्ट्रिक वाहनों पर सब्सिडी को लेकर बिहार सरकार का बड़ा फैसला! वाहन टैक्स पर 75% तक की छूट

उद्योगों को हम करों में अपेक्षित छूट देंगे

इस दौरान उद्योग मंत्री समीर कुमार महासेठ ने कहा कि राज्य में ग्लोबल इन्वेस्टर समिट के आयोजन का एक प्रमुख मकसद, उद्यमियों को बिहार की विभिन्न औद्योगिक नीतियों से रू-ब-रू कराना भी है. कहा कि विकास की मूलभूत दिक्कतों से बिहार ऊपर उठ चुका है. राज्य के 75 औद्योगिक क्षेत्रों में आधारभूत संरचना विकास में हम दो हजार करोड़ तक खर्च कर चुके हैं. कहा कि बिहार के औद्योगिक विकास के लिए अब केवल छवि या परसेप्शन बदलने की जरूरत है. हम एमएसएमइ और दूसरी औद्योगिक योजनाओं में देश के शीर्ष राज्यों में हैं. अवार्ड हासिल कर रहे हैं. साफ है कि हमने औद्योगिक विकास में काम किया है. उद्योग मंत्री महासेठ ने कहा कि हम केंद्र से तमाम सुविधाओं की मांग करते रहे हैं. खास तौर पर हम राज्य में एसइजेड चाहते हैं. अगर हमें समुचित संख्या में एसइजेड हमें मिल जाते है तो उद्योगों को हम करों में अपेक्षित छूट ( टेक्स हॉलिडे ) दे पाने में समर्थ होंगे.

अब तक 11 देशों के प्रतिनिधियों के आने की सूचना

उद्योग विभाग के अपर मुख्य सचिव संदीप पौंड्रिक ने बताया कि प्रस्तावित ग्लोबल इन्वेस्टर समिट का आयोजन किया जा रहा है. तैयारियों के सिलसिले में पौंड्रिक ने बताया कि इस समिट में अब तक 11 देशों मसलन अमेरिया, जापान, ताइवान, जर्मनी, ब्राजील,यूएसइ,घाना, बांग्लादेश आदि भाग ले रहे हैं. कहा कि उम्मीद है कि इन्वेस्टर समिट में 600 कंपनियां या या ट्रेड एजंसियां भागीदारी करेंगी. पौंड्रिक ने बताया कि बिहार बिजनेस कनेक्ट 2023 में 22 से अधिक देशों के प्रतिनिधियों को आमंत्रित किया गया है. बताया कि भागीदारी करने वाली बड़ी कंपनियों में ब्रिटानिया, पतंजलि, गोदरेज , फॉक्सकॉन , एएमएडी, टाइगर एनलिस्टिक , लुलु ग्रुप , अडानी ग्रुप, आइटीसी ग्रुप , ओसवाल ग्रुप आदि शामिल हैं.

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें