बिन्नी के छक्के से भारत ने बांग्लादेश को 47 रन से हराया, सीरीज पर 2-0 से कब्‍जा

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

मीरपुर : अंतरराष्ट्रीय वनडे क्रिकेट में भारत की ओर से सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाले गेंदबाज स्टुअर्ट बिन्नी के छह और मोहित शर्मा के चार विकेट की बदौलत टीम इंडिया ने वर्षा से प्रभावित 41 ओवर के मैच में बांग्लादेश को आज यहां 47 रन से हराकर तीन मैचों की श्रृंखला में 2-0 की निर्णायक बढत बना ली.

बिन्नी ने सिर्फ चार रन देकर छह जबकि मोहित ने 22 रन देकर चार विकेट चटकाए जिससे भारत के 106 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए बांग्लादेश की टीम शेरे बांग्ला स्टेडियम में 17.4 ओवर में सिर्फ 58 रन पर ढेर हो गई और वनडे क्रिकेट में उसने अपने न्यूनतम स्कोर की बराबरी की. इससे पहले भी टीम का न्यूनतम स्कोर 58 रन ही था जो उसने वेस्टइंडीज के खिलाफ चार मार्च 2011 को इसी मैदान पर बनाया था.

बिन्नी ने भारत की ओर से पारी में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया. अपना तीसरा मैच खेल रहे बिन्नी ने अनिल कुंबले के रिकार्ड को तोडा जिन्होंने वेस्टइंडीज के खिलाफ नवंबर 1993 में कोलकाता में 12 रन देकर छह विकेट चटकाए थे. बांग्लादेश की ओर से पदार्पण कर रहे मिथुन अली (26) और कप्तान मुशफिकुर रहीम (11) ही दोहरे अंक तक पहुंच पाए जबकि उसके पांच बल्लेबाज खाता भी नहीं खोल पाए. भारत ने पारी के दौरान सिर्फ तीन गेंदबाजों को आजमाया. उमेश यादव ने पांच ओवर में 32 रन खर्च किए लेकिन उन्हें एक भी विकेट नहीं मिला.

इसके साथ ही यह किसी ऐसे मैच में दोनों टीमों का सबसे कम कुल स्कोर है जिसमें दोनों टीमों ने अपने सभी 10 विकेट गंवाए हों. यह मैच 41 ओवर का था लेकिन दोनों टीमें मिलकर भी सिर्फ 43.1 ओवर ही क्रीज पर टिक सकी. इससे पहले बांग्लादेश ने पदार्पण कर रहे तास्किन अहमद (28 रन पर पांच विकेट) की धारदार गेंदबाजी से भारत को 25.3 ओवर में 105 रन पर ढेर कर दिया था. उन्नीस वर्षीय तास्किन पदार्पण मैच में पांच या इससे अधिक विकेट हासिल करने वाले बांग्लादेश के पहले और दुनिया के आठवें गेंदबाज हैं.

यह भारत का बांग्लादेश के खिलाफ न्यूनतम स्कोर है. इससे पहले इस टीम के खिलाफ भारत का न्यूनतम स्कोर 191 रन था जो उसने मार्च 2007 में विश्व कप के दौरान पोर्ट आफ स्पेन में बनाया था. श्रृंखला का तीसरा और अंतिम मैच इसी मैदान पर 19 जून को खेला जाएगा. लक्ष्य का पीछा करने उतरे बांग्लादेश की शुरुआत भी खराब रही. उसने भी पारी की दूसरी गेंद पर ही तमीम इकबाल (04) का विकेट गंवा दिया जिन्होंने मोहित की गेंद पर विकेटकीपर रिद्धिमान साहा को कैच थमाया. मोहित ने अपने अगले ओवर में दूसरे सलामी बल्लेबाज अनामुल हक (00) को भी प्वाइंट पर अजिंक्य रहाणो के हाथों कैच कराके बांग्लादेश का स्कोर दो विकेट पर 13 रन किया.

मिथुन और मुशफिकुर ने तीसरे विकेट के लिए 31 रन की साङोदारी की। मिथुन ने यादव को निशाना बनाते हुए उनके ओवरों में चार चौके मारे जबकि रहीम ने भी इस तेज गेंदबाज पर चौका जडा. रहीम हालांकि ज्यादा देर नहीं टिक पाए और 11 रन बनाने के बाद बिन्नी की गेंद पर विकेटकीपर को कैच दे बैठे.

बिन्नी ने इसके बाद लगातार गेंदों पर मिथुन और महमूदुल्लाह (00) को पवेलियन भेजकर भारत को जोरदार वापसी दिलाई. मिथुन ने स्क्वायर लेग पर अक्षर पटेल को कैच थमाया जबकि अंबाती रायुडू ने गली में दूसरे प्रयास में महमूदुल्लाह का कैच लपका.

मोहित ने भी गेंदबाजी में वापसी करते हुए साकिब अल हसन (04) और जियाउर रहमान (00) को आउट किया जबकि बिन्नी ने मशरेफ मुर्तजा (02), नासिर हुसैन (05) और अल अमीन हुसैन (00) को आउट करके भारत की जीत सुनिश्चित की. बांग्लादेश की टीम एक समय दो विकेट पर 44 रन बनाकर अच्छी स्थिति में थी लेकिन उसने अपने अंतिम आठ विकेट सिर्फ 14 रन जोडकर गंवा दिए.

इससे पहले भारत का कोई बल्लेबाज टिककर नहीं खेल पाया. टीम की ओर से कप्तान सुरेश रैना ने सर्वाधिक 27 रन बनाए. उनके बाद शीर्ष स्कोरर 11वें नंबर पर बल्लेबाजी करने उतरे यादव रहे जिन्होंने 13 गेंद में 17 रन बनाए.टास हारकर बल्लेबाजी करने उतरे भारत ने दूसरी ही गेंद पर अजिंक्य रहाणो (00) का विकेट गंवा दिया जो मुर्तजा की इनस्विंग को चूकने के बाद पगबाधा आउट हुए.भारतीय पारी का अभी छठा ही ओवर चल रहा था कि बारिश के कारण खेल रोकना पडा. इस समय टीम का स्कोर एक विकेट पर 14 रन था. लगभग ढाई घंटे के विलंब के बाद जब खेल दोबारा शुरु हुआ तो पदार्पण कर रहे अहमद ने अनुकूल हालात का पूरा फायदा उठाते हुए भारतीय बल्लेबाजी क्रम को ध्वस्त कर दिया.

अहमद ने अपने दूसरे ओवर में रोबिन उथप्पा (14) को मिड आफ में जियाउर रहमान के हाथों कैच कराके वनडे क्रिकेट में अपना पहला विकेट हासिल किया. दायें हाथ के इस तेज गेंदबाज ने अपने अगले ओवर में अंबाती रायुडू (01) को भी पगबाधा आउट किया.रैना और पुजारा (11) ने कुछ देर विकेटों के पतन पर विराम लगाया लेकिन अहमद ने पुजारा को पगबाधा आउट करके भारत को चौथा झटका दिया. पारी के 17वें ओवर में भारत को दोहरा झटका लगा. मुर्तजा ने रिद्धिमान साहा (05) को पगबाधा आउट किया जबकि अगली गेंद पर रैना भी दो रन लेने की कोशिश में रन आउट हो गए जिससे भारत का स्कोर छह विकेट पर 66 रन हो गया.

अक्षर पटेल (08) ने अल अमीन हुसैन पर दो चौके मारे लेकिन इस तेज गेंदबाज के इसी ओवर में बोल्ड हो गए. अहमद ने इसके बाद बिन्नी (03) और अमित मिश्र (04) की पारी का अंत किया और पदार्पण मैच में ही पांच विकेट हासिल किए. भारतीय टीम पर 100 रन से भी कम पर ढेर होने का खतरा मंडरा रहा था लेकिन यादव ने अल अमीन की लगातार गेंदों पर चौका और छक्का जडकर टीम इंडिया को इस शर्मनाक स्थिति से बचा लिया। यादव हालांकि अगले ओवर में साकिब की गेंद पर पहली स्लिप में नासिर हुसैन को कैच दे बैठे जिससे भारतीय पारी का अंत हुआ. बांग्लादेश की ओर से अहमद के अलावा मुर्तजा ने 35 रन देकर दो विकेट हासिल किए.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें