1. home Hindi News
  2. religion
  3. navratri 2020 kab hai date time tarikh puja vidhi mantra kalash sthapana shubh muhurt puja samagri rashifal panchang in a rare coincidence this time navratri this yoga is being made after 58 years know how the impact of navratri will be on these zodiac signs rdy

Navratri 2020: 58 साल बाद बन रहा है ऐसा योग, जानिए किस दिन कौन सी देवी की होगी पूजा...

By Radheshyam Kushwaha
Updated Date

Navratri 2020 kab hai, Date, Time, Tarikh, Puja Vidhi, mantra, kalash sthapana, shubh muhurt, Puja Samagri: इस बार दुर्गा मां की पूजा दुर्लभ योग में होगी. 1962 के बाद इस बार नवरात्रि में ऐसा अद्भुत संयोग बन रहा है. 1962 में नवरात्रि 29 सितंबर से शुरू हुई थी. वहीं इस बार नवरात्रि 17 अक्टूबर से शुरू हो रही है. 2020 की नवरात्रि बेहद दुर्लभ संयोग में मनेगा. नवरात्रि 17 अक्टूबर से शुरू हो रही है जो 25 अक्टूबर तक रहेगी. नवरात्रि के पहले दिन सूर्य देव भी राशि परिवर्तन कर रहे है. सूर्य का यह राशि परिवर्तन मानव जीवन पर बहुत बड़ा असर डालेगा. इस बार सूर्य तुला राशि में प्रवेश कर रहे है. तुला राशि में बुध पहले से ही वक्री रहेंगे. इस कारण बुध-आदित्य योग बनेगा. इसके साथ ही 58 साल बाद शनि-गुरु का भी दुर्लभ योग बन रहा है. इस नवरात्रि में शनि मकर में और गुरु धनु राशि में रहेंगे. ये दोनों ग्रह 58 साल बाद नवरात्रि में एक साथ अपनी-अपनी राशि में स्थित रहेंगे. 1962 के बाद इस बार नवरात्रि में ऐसा अद्भुत संयोग बन रहा है. आइए जानते है कि इस बार की नवरात्रि मानव जीवन पर कैसा असर डालेगा...

email
TwitterFacebookemailemail

जानें किस दिन कौन सी देवी की होगी पूजा

17 अक्टूबर- मां शैलपुत्री पूजा घटस्थापना

18 अक्टूबर- मां ब्रह्मचारिणी पूजा

19 अक्टूबर- मां चंद्रघंटा पूजा

20 अक्टूबर- मां कुष्मांडा पूजा

21 अक्टूबर- मां स्कंदमाता पूजा

22 अक्टूबर- षष्ठी मां कात्यायनी पूजा

23 अक्टूबर- मां कालरात्रि पूजा

24 अक्टूबर- मां महागौरी दुर्गा पूजा

25 अक्टूबर- मां सिद्धिदात्री पूजा

email
TwitterFacebookemailemail

जानें घट स्थापना का शुभ मुहूर्त

नवरात्रि का पर्व 17 अक्टूबर से शुरू हो रहा है. पंचांग के अनुसार इस दिन आश्चिन मास की शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा तिथि रहेगी. इस दिन घट स्थापना मुहूर्त का समय सुबह 06 बजकर 27 मिनट से 10 बजकर 13 मिनट तक रहेगा. घटस्थापना के लिए अभिजित मुहूर्त सुबह 11बजकर 44 मिनट से 12 बजकर 29 मिनट तक रहेगा.

email
TwitterFacebookemailemail

जानें व्रत रखने का नियम

व्रत-उपवास में माता जी की पूजा करने के बाद ही फलाहार करें. यानि सुबह माता जी की पूजा के बाद दूध और कोई फल ले सकते हैं. व्रत के दौरान नमक नहीं खाना चाहिए. उसके बाद दिनभर मन ही मन माता जी का ध्यान करते रहें. शाम को फिर से माता जी की पूजा और आरती करें. इसके बाद एक बार और फलाहार कर सकते हैं. अगर न कर सके तो शाम की पूजा के बाद एक बार आप भोजन कर सकते हैं.

email
TwitterFacebookemailemail

घर पर नवरात्रि पूजा विधि

नवरात्रि में सुबह जल्दी उठना चाहिए और नित्यकर्म और स्नान करने के बाद साफ कपड़े पहनें और पूजा घर को साफ करें. इसके बाद नवरात्रि में मां दुर्गा की आराधना करने से पहले सभी तरह की पूजा सामग्रियों को एक जगह एकत्रित कर लें. इसके बाद मां दुर्गा की फोटो को लाल रंग के कपड़े में रखें. फिर पूजा की थाली को सजाएं उसमें सभी तरह की पूजा सामग्री को रखें. मिट्टी के पात्र में जौ के बीज को बोएं और नौ दिनों तक उसमें पानी का छिड़काव करें. नवरात्रि के पहले दिन यानी प्रतिपदा तिथि पर शुभ मुहूर्त में कलश को लाल कपड़े में लपटेकर स्थापित करें. कलश में गंगाजल डाले और आम की पत्तियां रखकर उस पर जटा नारियल रखें.

email
TwitterFacebookemailemail

58 साल बाद बन रहा है ऐसा संयोग

सूर्य का यह राशि परिवर्तन मानव जीवन पर बहुत बड़ा असर डालेगा. इस बार सूर्य तुला राशि में प्रवेश कर रहे है. तुला राशि में बुध पहले से ही वक्री रहेंगे. इस कारण बुध-आदित्य योग बनेगा. इसके साथ ही 58 साल बाद शनि-गुरु का भी दुर्लभ योग बन रहा है. इस नवरात्रि में शनि मकर में और गुरु धनु राशि में रहेंगे. ये दोनों ग्रह 58 साल बाद नवरात्रि में एक साथ अपनी-अपनी राशि में स्थित रहेंगे. 1962 के बाद इस बार नवरात्रि में ऐसा अद्भुत संयोग बन रहा है.

email
TwitterFacebookemailemail

नवरात्रि के पहले दिन की जाती है मां शैलपुत्री की पूजा

नवरात्रि के पहले दिन मां शैलपुत्री की पूजा की जाती है. इस दिन मां के चरणों में गाय का शुद्ध घी अर्पित करें. ऐसा करने पर आरोग्य का आशीर्वाद मिलता है.

email
TwitterFacebookemailemail

इस बार घोड़े पर सवार होकर आएंगी माता रानी

इस बार 17 अक्टूबर से नवरात्र शुरू हो रहा है. इस दिन शनिवार है, इसलिए मां दुर्गा घोड़े पर सवार होकर आने वाली है. देवी भागवत पुराण के अनुसार जब माता दुर्गा नवरात्रि पर घोड़े की सवारी करते हुए आती हैं तब पड़ोसी से युद्ध, गृह युद्ध, आंधी-तूफान और सत्ता में उथल-पुथल जैसी गतिविधियां बढ़ने की संभावना रहती है.

email
TwitterFacebookemailemail

जानिए इन राशियों पर कैसा पड़ेगा नवरात्रि का असर

मेष- इस राशि के लिए विवाह के योग बन सकते हैं. प्रेम में सफलता मिल सकती है. नवरात्रि में नौ दिनों तक मां की आराधना जरूर करें.

वृष - इन लोगों को को शत्रुओं पर विजय मिलेगी. रोगों में लाभ होगा. नवरात्रि में मां की उपासना करें.

मिथुन - संतान सुख मिलने के योग हैं. नौकरी में प्रमोशन और धन लाभ मिल सकता है. इस बार आप नवरात्रि व्रत रखें.

email
TwitterFacebookemailemail

कर्क - माता से सुख मिलेगा. वैभव बढ़ेगा. कार्यों में सफलता के साथ सम्मान मिलेगा. दुर्गा माता की पूजा करें.

सिंह - आपका पराक्रम अच्छा रहेगा. आशा के अनुरूप फल प्राप्त होंगे. भाई से मदद मिलेगी. नवरात्रि में मां दुर्गा की पूजा करें.

कन्या - स्थाई संपत्ति से लाभ हो सकता है. धन वृद्धि के योग बन रहे हैं. दुर्गा माता की पूजा करें.

email
TwitterFacebookemailemail

तुला - इस राशि के लिए प्रसन्नता बनी रहेगी. सोचे हुए काम समय पर पूरे होंगे. नवरात्रि में व्रत रखें और पूजा करें.

वृश्चिक - अनावश्यक व्यय होगा. कमाई कम हो सकती है. घर-परिवार से संबंधित चिंताजनक समाचार मिल सकता है.

धनु - आपके लिए ये नवरात्रि लाभदायक रह सकती है. आय में बढ़ोतरी होने के योग हैं.

email
TwitterFacebookemailemail

मकर - इन लोगों अनावश्यक काम करना पड़े सकते हैं. समय अभाव रहेगा. मानसिक तनाव बना रहेगा.

कुंभ - इस राशि के लिए भाग्य वृद्धि का समय है. साथियों की मदद प्राप्त होगी. काम पूरे होंगे.

मीन - आपको वाहन प्रयोग में सावधानी रखनी होगी. दुर्घटना होने के योग बन रहे हैं. शत्रुओं की वजह से परेशानी हो सकती है.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें