Advertisement

vaishali

  • May 18 2019 8:12AM
Advertisement

निशा की मौत के मामले में दहेज हत्या की प्राथमिकी

 बरौली  : बैकुंठपुर थाना के बंगरा निवासी पानपति कुंवर ने अपनी बेटी निशा की मौत के लिए उसके ससुराल के लोगों को जिम्मेदार मानते हुए परिवार के छह लोगों को नामजद किया है. मृतका की मां अपने आवेदन में कहा है कि 14 मार्च को माधोपुर ओपी के माधोपुर गांव में अखिलेश महतो के साथ निशा की शादी हुई. 

 

शादी के दस दिन बाद से ही निशा को उसके ससुर महेश महतो, पति अखिलेश महतो, सास सावित्री देवी, देवर मिथलेश तथा अनुप महतो एवं ननद पूजा कुमारी अपाची मोटरसाइकिल, सोने की चेन तथा अंगूठी के लिए प्रताड़ित करने लगे. घटना के दिन आठ बजे अखिलेश ने फोन कर कहा कि अपनी बेटी की लाश ले जाओ. मायके से लोग जब निशा के ससुराल पहुंचे तो निशा पलंग पर मृत पड़ी थी तथा ससुराल के सभी लोग घर छोड़ कर फरार थे. उधर, पुलिस ने जांच शुरू की, तो मृतका के कमरे से एक सुसाइड नोट मिला. इसमें लिखा था कि मैं आत्महत्या कर रही हूं और इसमें मेरे ससुराल के किसी भी सदस्य का कोई हाथ नहीं है.
 
 लिखा है कि मां, मुझे माफ करना, मैं तेरे विश्वास पर खरा नहीं उतर सकी. पुलिस सुसाइड नोट की सत्यता की जांच कर रही है.  निशा की मौत के मामले में पुलिस ने एक नामजद अभियुक्त महेश महतो को पकड़ा है. हालांकि महेश निशा की मौत का सूचक भी है और दिन भर पुलिस के साथ रह कर सहयोग भी किया. शुक्रवार को एएसपी विनय तिवारी ने आसपास के लोगों से पूछताछ की तथा उस कमरे का भी मुआयना किया, जिसमें निशा की मौत हुई थी. एएसपी ने जांच के बाद सब साफ होने की बात कही.
 
Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement