Advertisement

other state

  • Sep 21 2019 3:35PM
Advertisement

दक्षिणी कश्मीर के पुलमामा जिले से जैश-ए-मोहम्मद के दो आतंकी गिरफ्तार, पूछताछ जारी

दक्षिणी कश्मीर के पुलमामा जिले से जैश-ए-मोहम्मद के दो आतंकी गिरफ्तार, पूछताछ जारी
photo courtesy: social media

श्रीनगर: दक्षिणी कश्मीर के पुलवामा जिले में पुलिस ने छापेमारी की और जैश-ए-मोहम्मद के दो सक्रिय सदस्यों को गिरफ्तार कर लिया. दरअसल इससे पहले कठुआ में गिरफ्तार किए गए तीन आतंकवादियों से पूछताछ के बाद हासिल की गई जानकारियों के बाद ये गिरफ्तारियां हुई हैं.अधिकारियों ने शनिवार को यह जानकारी दी.

अधिकारियों ने बताया कि गिरफ्तार किए गए जैश-ए-मोहम्मद के सदस्यों में संबंधित ट्रक का मालिक भी शामिल है. पिछले बृहस्पतिवार को पंजाब से कश्मीर आ रहे इस ट्रक में आतंकी सवार थे और ट्रक एके-श्रेणी के राइफल मिले थे.


जैश-ए-मोहम्मद के समर्थक हैं आतंकी

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया, ‘हमने पुलवामा से जैश-ए-मोहम्मद के आतंकियों के दो समर्थकों को गिरफ्तार किया है. इसमें ट्रक मालिक सुहेल अहमद लाटू और बशीर अहमद लोन शामिल है'. उन्होंने बताया कि दोनों को रिमांड पर भेज दिया गया है. उन दोनों से जेईएम मॉड्यूल और उसकी गतिविधियों को बारे में पूछताछ की जा रही है. अधिकारी ने बताया कि इस संबंध में और भी गिरफ्तारियां हो सकती है.


भारी मात्रा में हथियार बरामद हुआ था

अधिकारियों ने बताया कि पिछले बृहस्पतिवार को जम्मू-कश्मीर राजमार्ग पर कार्डबोर्ड से भरे ट्रक को रोक कर उसकी तलाशी ली गई और ट्रक में यात्रा कर रहे तीन आतंकवादियों को गिरफ्तार किया गया था. इन लोगों के पास से एके -56 राइफलें, दो एके -47 राइफलें, छह मैगजीन और 180 राउंड गोलियों के साथ ही 11,000 रुपये नकद बरामद किए गए थे. पुलिस ने विशिष्ट सूचनाओं के आधार पर लखनपुर में एक ट्रक (जेके 13 ई-2000) को उस समय पकड़ा जब वह पंजाब से कश्मीर घाटी जा रहा था.

 

कश्मीर घाटी से संबंधित हैं सभी आतंकी

उन्होंने कहा कि सभी आतंकवादी कश्मीर घाटी के हैं. ट्रक गुलशनबाद, पुलवामा के सुहेल अहमद लाटू का है और जावेद अहमद डार नामक व्यक्ति उसे चला रहा था. पुलिस ने तीनों की पहचान पुलवामा के राजपोरा में रहनेवाले उबैद-उल-इस्लाम और सबील अहमद बाबा के रूप में की है.

वहीं जहांगीर अहमद पारे बडगाम के चरार-ए-शरीफ का रहने वाला है. उन्होंने कहा कि तीनों पंजाब से कश्मीर घाटी में शांति भंग करने के लिए अवैध रूप से हथियार और गोला-बारूद ला रहे थे.


 

Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement