Advertisement

crime

  • Feb 16 2019 2:29AM

रांची : नौकरी के नाम पर ठगे थे 63 लाख, बकाया वसूलने को किया अपहरण

 रांची : जगन्नाथपुर थाना क्षेत्र के बिरसा चौक से वरुण कुमार के अपहरण के आरोप में रास बिहारी शुक्ला को पुलिस ने शुक्रवार को गिरफ्तार किया़ पुलिस ने उसे गुरुवार की रात घाटो से गिरफ्तार किया था. जबकि वरुण को बरामद कर पुलिस ने उसे सुरक्षित परिजनों के हवाले कर दिया. पुलिस के अनुसार करीब आठ माह पूर्व वरुण और रास बिहारी शुक्ला ने घाटो के नौ युवकों से रेलवे और सेना में बहाली के नाम पर 63 लाख रुपये लिये थे.

लेकिन जब किसी युवक को नौकरी नहीं मिली, तब उन्हें पता चला कि वे ठगी के शिकार हो गये हैं. इसके बाद ठगी के शिकार युवक दोनों पर पैसा लौटाने का दबाव डालने लगे. जब युवकों ने रास बिहारी शुक्ला पर दबाव बनाया, तब उसने वरुण को रुपये लौटने को कहा. इसके बाद उसने वरुण को मिलने के लिए बिरसा चौक बुलाया और उसे अपने साथ घाटो ले गया.

पुलिस के अनुसार घाटो पहुंचने पर वरुण को घेर लिया गया और उससे रुपये की मांग की जाने लगी. इस पर वरुण ने अपनी पत्नी को फोन कर रुपये लेकर घाटो पहुंचने को कहा. इसके बाद पत्नी ने वरुण के अपहरण की शिकायत जगन्नाथपुर थाना में दर्ज करा दी.  पुलिस अपहृत वरुण की तलाश में घाटो पहुंची और छापेमारी कर वरुण को बरामद कर लिया. पुलिस को वरुण ने बताया कि उसने नौकरी दिलाने के एवज में राहुल वर्मा को पैसे दिये थे. राहुल ने खुद को रंजीत डॉन का भतीजा बताया था.

 

Advertisement

Comments

Advertisement