Advertisement

calcutta

  • Aug 23 2019 2:10AM
Advertisement

अरसलान व उसके मामा को जमानत

अरसलान व उसके मामा को जमानत

 कोलकाता : महानगर के शेक्सपीयर सरणी इलाके में जगुआर कार से दो बांग्लादेशी नागरिकों की मौत के मामले में पुलिस के हाथों गिरफ्तार राघीव परवेज को गुरुवार को बैंकशाल कोर्ट में पेश किया गया. दोनों पक्षों की सुनवाई के बाद कोर्ट ने राघीव को तीन सितंबर तक पुलिस हिरासत में भेजने का निर्देश दिया. 

 
पुलिस ने इस मामले में गिरफ्तार अरसलान परवेज के खिलाफ 304ए (गैरइरादतन हत्या) की धारा को हटाने के लिए अदालत में आवेदन किया. इसके साथ ही मामले की साजिश में जुड़े होने के आरोप में आइपीसी की धारा 201 (अपराध के साक्ष्य को मिटाना या अपराधी को बचाने के लिए झूठी जानकारी देना) के तहत उसपर मामला दर्ज करने का आवेदन किया. 
 
वहीं, दुर्घटना के बाद राघीव को महानगर छोड़कर विदेश भागने में मदद करने के आरोप में आइपीसी की धारा 201 व 212 (अपराधी को प्रश्रय देना) के तहत गिरफ्तार उसके मामा मोहम्मद हामजा के अलावा पहले गिरफ्तार हुए राघीव के छोटे भाई अरसलान परवेज को अदालत ने सशर्त जमानत पर रिहा कर दिया. दोनों को पांच-पांच हजार रुपये के मुचलके के अलावा अपने पासपोर्ट पुलिस के पास रखने की शर्त पर कोर्ट ने जमानत पर रिहा कर दिया. 
 
दुर्घटना के िदन अकेला नहीं था राघीव  
इधर, इस मामले की जांच में पुलिस को पता चला कि दुर्घटना के दिन राघीव कार में अकेला नहीं था. उसकी कार में उसका एक दोस्त भी मौजूद था, जो सॉल्टलेक में रहता है. 
 
पुलिस को जांच में पता चला कि राघीव वारदात की रात को घर से 11 से 11.30 बजे के बीच अंग्रेजी माध्यम एक स्कूल के प्रिंसिपल के बेटे व अपने दोस्त की बर्थडे पार्टी में शामिल होने के लिए घर से निकला था. वहां से लौटने के दौरान पार्टी में शामिल एक दोस्त को पार्क सर्कस के पास ड्राॅप करने के लिए उसे अपनी कार में बिठाया था. 
 
दुर्घटना के बाद हड़बड़ी में कार से उतरकर राघीव का दोस्त बेकबागान की तरफ फुटपाथ से भागा, जबकि राघीव राज्य चुनाव आयोग के दफ्तर के रास्ते मल्लिक बाजार की तरफ भाग गया. वहां से मामा के साथ मिलकर एक दिन महानगर में छिपने के बाद वह दुबई फरार हो गया था. 
 
पुलिस राघीव के इस दोस्त को इस मामले में गवाह बनाने की तैयारी कर रही है, जो पुलिस की जांच में पुख्ता सबूत के तौर पर रहेगी. कोलकाता पुलिस के संयुक्त आयुक्त (अपराध) मुरलीधर शर्मा ने बताया कि इस मामले में कई अनसुलझे सवालों का जवाब जानना अब भी बाकी है. उनकी जांच जारी है. जल्द उन सवालों से भी पर्दा उठेगा.
 
अंगरेजी माध्यम के एक स्कूल के प्रिंसिपल के बेटे के जन्मदिन की पार्टी से लौट रहा था आरोपी
दुर्घटना की रात कार में बैठा था राघीव का एक दोस्त, मामले में गवाह बनाने की तैयारी में पुलिस  
जमानत पर रिहा अरसलान परवेज व उसके मामा को पुलिस के पास जमा रखना होगा अपना पासपोर्ट
 
Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement