Advertisement

bollywood

  • Nov 8 2019 10:33PM
Advertisement

एक दूसरे के व्यक्तित्व पर सवाल उठाने की बजाय अच्छी फिल्में बनाना अधिक जरूरी : शाहरुख खान

एक दूसरे के व्यक्तित्व पर सवाल उठाने की बजाय अच्छी फिल्में बनाना अधिक जरूरी : शाहरुख खान

- 25वें अंतर्राष्ट्रीय कोलकाता फिल्मोत्सव का उद्घाटन 

कोलकाता : फिल्मस्टार शाहरुख खान का कहना है कि एक दूसरे के व्यक्तित्व पर सवाल उठाने की बजाय बेहतर फिल्म बनाना अधिक जरूरी है. कोलकाता अंतर्राष्ट्रीय फिल्म फेस्टिवल के 25वें संस्करण के उद्घाटन समारोह के लिए नेताजी इंडोर स्टेडियम पहुंचे शाहरुख खान ने अपने विशिष्ट अंदाज में मौजूद दर्शकों को लुभाते हुए फिल्मोत्सव का उद्घाटन किया. 

 

बांग्ला सिनेमा की तारीफ करते हुए शाहरुख का कहना था कि श्रेष्ठ फिल्में बंगाल से ही आयी हैं. यह शानदार निर्देशक, कथाकार, साहित्यकार, संगीतकार की धरती है. जरूरत ऐसी ही कहानियों को कहने की है जो हमें एकसाथ जोड़ती हैं. एक दूसरे के व्यक्तित्व पर सवाल उठाने की बजाय जरूरत बेहतर सिनेमा के निर्माण की है. 

 

अपने चिरपरिचित अंदाज में कोलकाता इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल (केआइएफएफ) की तारीफ करते हुए शाहरुख ने अपनी फिल्म के डायलॉग को नया रूप देते हुए कहा, ‘अम्मीजान कहती थी कि कोई फिल्म फेस्टिवल छोटा या बड़ा नहीं होता, लेकिन केआइएफएफ से सुंदर और प्यारा और कुछ नहीं होता.’ 

 

फिल्मकार महेश भट्ट का कहना था कि हम सभी खतरनाक वक्त में रह रहे हैं. विश्व में कनेक्टिविटी तो सबसे अधिक है लेकिन हम बंटे हुए हैं. पूरा विश्व अलग-थलग हो रहा है. यह फिल्मकारों का दायित्व है कि वह बेहतर फिल्में बनाकर स्थिति को संभालें. नेताओं से अधिक यह फिल्मकारों की जिम्मेदारी है. फिल्मकारों को पुराने समय के ‘मामा’ की तरह होना चाहिए जो कहानियों का खजाना रखते थे. 

 

कार्यक्रम में पहुंचे बीसीसीआइ अध्यक्ष सौरव गांगुली ने कहा कि आज ही के दिन बांग्ला सिनेमा के सौ वर्ष पूरे हुए हैं. सत्यजीत रे, ऋत्विक घटक, मृणाल सेन जैसे बांग्ला फिल्मकारों के लिए ही भारतीय सिनेमा आज अपने मुकाम पर खड़ा है. 

 

समारोह में पहुंची राखी गुलजार ने अपना वक्तव्य बांग्ला में रखा. इस दौरान शाहरुख खान को अपने साथ लिए वह खड़ी रहीं. शाहरुख को बाजीगर कहते हुए उन्होंने बांग्ला की कुछ लाइनें भी उनसे पढ़वाई जिसमें कहा गया था कि बांग्ला की मिट्टी को वह अपने माथे से लगाते हैं. 

 

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि सभी को सकारात्मक रवैये से ही काम करना चाहिए. उन्होंने बताया कि फिल्मोत्सव के समापन समारोह में शबाना आजमी भी पहुंचेंगी. बांग्ला संस्कृति के साथ और करीब से जुड़ाव के लिए उन्होंने शाहरुख खान, महेश भट्ट व अन्य को दुर्गा पूजा के दौरान बंगाल आने का न्यौता दिया.

Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement