bbc news

  • Jan 26 2020 11:28AM
Advertisement

अमित शाह क्या बोले अपने 'साइबर योद्धाओं' की भूमिका पर : पांच बड़ी ख़बरें

अमित शाह क्या बोले अपने 'साइबर योद्धाओं' की भूमिका पर : पांच बड़ी ख़बरें
अमित शाह
Getty Images

गृह मंत्री अमित शाह ने शनिवार को दिल्ली की एक सभा में कहा कि बीजेपी ने ऐसे चुनाव जीते हैं जिसे 'बेहद मुश्किल समझा जाता था.'

8 फ़रवरी को दिल्ली विधानसभा चुनाव से पहले जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम में एक कार्यक्रम में उन्होंने कहा कि बीजेपी को जो चुनाव मुश्किल लग रहे थे, उसमें विरोधी ख़ुश हो रहे थे और समर्थक तनाव में.

अमित शाह ने कहा, "ऐसे कई चुनाव आए जिनमें लगता था कि इस बार मामला फंसा हुआ है. लेकिन जब-जब मेरे साइबर योद्धाओं ने लड़ाई की कमान संभाली, विजय हर बार नरेंद्र मोदी और बीजेपी की हुई है."

इसके अलावा उन्होंने नागरिकता संशोधन क़ानून के ख़िलाफ़ शाहीन बाग़ में चल रहे विरोध प्रदर्शन पर भी टिप्पणी की.

उन्होंने कहा, "हम ऐसी दिल्ली चाहते हैं जो प्रदर्शन मुक्त हो, हर घर में जहां पर स्वच्छ पीने का पानी मिले, 24 घंटे बिजली उपलब्ध हो, बच्चों की अच्छी शिक्षा की सुविधा हो, झुग्गी-झोपड़ी से मुक्त हो, अनाधिकृत कॉलोनी का नामो-निशान न रहे, रेपिड ट्रांसपोर्ट सिस्टम हो, साइकल ट्रैक हो, व्यवस्था जाम से मुक्त हो और कभी शाहीन बाग़ न हो. ऐसी दिल्ली चाहते हैं."

सोशल मीडिया पर तस्वीर वायरल

सोशल मीडिया पर एक तस्वीर वायरल हो रही है जिसे जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला की तस्वीर बताया जा रहा है.

इसमें उमर नीले रंग के जैकेट में हैं और उनके चेहरे पर अधपकी दाढ़ी है. उन्होंने ऊनी टोपी लगाई हुई है और उनके ऊपर हल्की-हल्की बर्फ़ पड़ी हुई है. उन्हें इस तस्वीर में पहचानना काफ़ी मुश्किल है.

जम्मू-कश्मीर से 5 अगस्त को धारा 370 हटने के बाद से जम्मू-कश्मीर के कई बड़े नेताओं को हिरासत में रखा गया है. इनमें उमर अब्दुल्ला भी हैं.

जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्लाह
BBC
जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला

इस तस्वीर के सामने आने के बाद कुछ नेताओं ने प्रतिक्रियाएं दी हैं. पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममत बनर्जी ने ट्वीट किया है, ''मैं इस तस्वीर में उमर को पहचान नहीं सकी. मुझे दुख हो रहा है. दुर्भाग्यपूर्ण है कि ये हमारे लोकतांत्रिक देश में हो रहा है. ये कब ख़त्म होगा?''

https://twitter.com/MamataOfficial/status/1221040291383136256

जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ़्ती के ट्विटर अकाउंट पर लिखा गया है, ''उमर अब्दुल्ला की ग़ैर-क़ानूनी और लंबी हिरासत के प्रति उदासीनता दिखाने वालों के लिए ये याद करना ज़्यादा बेहतर है कि उमर अब्दुल्ला छह महीनों से अपने परिवार और क़रीबियों से दूर एकान्त करावास में रह रहे हैं. शीरीरिक रूप रंग और ट्वीट करना उनके लिए सबसे कम महत्वपूर्ण है.''

https://twitter.com/MehboobaMufti/status/1221070355571212288

महबूबा मुफ़्ती भी इस वक़्त हिरासत में हैं और उनका ट्विटर अकाउंट उनकी बेटी संभाल रही हैं.

हालांकि, इस तस्वीर के बारे में उमर अब्दुल्ला, उनके परिवार और सरकार की ओर से कोई पुष्टि नहीं की गई है.

भारत का झंडा हाथ में लेकर बच्चे
EPA

भारत में गणतंत्र दिवस का जश्न

आज भारत में 71वां गणतंत्र दिवस मनाया जाएगा. इस मौक़े पर राजपथ पर भव्य परेड निकाली जाएगी.

इस परेड में देश की बढ़ती हुई सैन्य शक्ति, बहुमूल्य सांस्कृतिक विरासत और विभिन्नता का प्रदर्शन किया जाएगा.

इस गणतंत्र दिवस पर पहली बार होगा जब प्रधानमंत्री अमर जवान ज्योति की बजाय राष्ट्रीय समर स्मारक पर शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित करेंगे.

https://twitter.com/ANI/status/1220269255247028224

साथ ही ये भी पहली बार होगा कि गणतंत्र दिवस परेड में सशस्त्र सेनाओं के तीनों अंग एक साथ "ट्राई सर्विस" फॉर्मेशन में दिखेंगे.

ब्राज़ील के राष्ट्रपति ज़येर बोलसोनारो इस बार गणतंत्र दिवस पर मुख्य अतिथि हैं.

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे
Getty Images

घुसपैठियों को निकाला जाना चाहिए: शिवसेना

शिवसेना के मुखपत्र 'सामना' के संपादकीय में कहा गया है कि बांग्लादेशी और पाकिस्तानी घुसपैठियों को भारत से निकाला जाना चाहिए. ये बात नागरिकता संशोधन क़ानून को लेकर चल रहे विवाद के बीच कही गई है.

इससे पहले महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के प्रमुख राज ठाकरे ने भी इसी तरह का बयान दिया था.

मुखपत्र में राज ठाकरे को निशाना बनाते हुए लिखा गया है कि वीडी सावरकर और बालासाहेब ठाकरे द्वारा प्रसारित विचारधारा के तौर पर हिंदुत्व का मुद्दा लेकर चलना बच्चों का खेल नहीं है. वहीं, दो झंडे होना दिमाग़ में बनी उलझन को दिखाता है.

हाल ही में राज ठाकरे ने अपनी पार्टी का झंडा बदलते हुए इसे पूरी तरह भगवा रंग में कर दिया है. इससे पहले झंडे में पांच रंग थे.

संपादकीय में ये भी कहा गया है कि शिवसेना के कांग्रेस और एनसीपी के साथ सरकार बनाने का यह मतलब नहीं है कि पार्टी ने अपनी विचारधारा छोड़ दी है. तीनों दलों की विचारधाराएं अलग हैं लेकिन उनके बीच सहमति है.

चीन के अस्पताल में मरीज
AFP

कोरोनावायरस को लेकर वैज्ञानिकों की चेतावनी

वैज्ञानिकों ने चेतावनी दी है कि चीन में कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकना असंभव हो सकता है.

वैश्विक संक्रामक रोगों के लिए लंदन आधारित एमआरसी सेंटर ने कहा कि इस वायरस का इंसान से इंसान में संक्रमण इसके पैमाने को दिखाता है. सेंटर का कहना है कि एक व्यक्ति से कम से कम दो और लोग संक्रमित हो रहे हैं.

इस वायरस के चलते चीन में 42 लोगों की जान चली गई है और 1400 लोग इससे संक्रमित पाए गए हैं.

हालांकि, वैज्ञानिकों ने इस वायरस से निपटने के लिए चीन के प्रयासों की सराहना की है लेकिन कहा है कि इस बीमारी को नियंत्रित करने के लिए इंसान से इंसान में संक्रमण 60 प्रतिशत तक हम होना ज़रूरी है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूबपर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

]]>
Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement