1. home Hindi News
  2. national
  3. there is a possibility of becoming a low pressure area over the bay of bengal warning of another cyclone ksl

बंगाल की खाड़ी के ऊपर कम दबाव का क्षेत्र बनने के आसार, एक और चक्रवात की चेतावनी, ...जानें कब आने की है संभावना?

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
सांकेतिक तस्वीर
सांकेतिक तस्वीर
सोशल मीडिया

नयी दिल्ली : भारत के पश्चिमी तटीय राज्यों गुजरात और महाराष्ट्र के कई इलाकों में चक्रवाती तूफान 'ताउ ते' ने तबाही मचायी है. भारतीय मौसम विभाग ने अब अरब सागर और बंगाल की खाड़ी में एक और चक्रवाती तूफान की चेतावनी जारी की है.

भारत के पूर्वी इलाके के बंगाल की पूर्व-मध्य खाड़ी के ऊपर कम दबाव का क्षेत्र बनने की संभावना जतायी गयी है. वहीं, समुद्र की सतह का तापमान सामान्य से एक-दो डिग्री सेल्सियस अधिक दर्ज की गयी है. इससे चक्रवात के लिए अनुकूल परिस्थितियां बन रही है.

भारत मौसम विज्ञान विभाग ने 23 मई के आसपास बंगाल की पूर्व-मध्य खाड़ी के ऊपर कम दबाव का क्षेत्र बनने की संभावना है. इससे चक्रवात की संभावना जतायी गयी है. यहां बनने वाले चक्रवात का नाम 'यास' दिया गया है. साथ ही यह भी संभावना जतायी गयी है कि चक्रवात तूफान में तब्दील हो सकता है.

भारत मौसम विज्ञान विभाग की प्रभारी सुनीता देवी ने बताया है कि अगले सप्ताह के आसपास पूर्व-मध्य बंगाल की खाड़ी में कम दबाव का क्षेत्र बनने की संभावना है. आईएमडी स्थिति पर नजर बनाये हुए हैं. साथ ही उन्होंने निम्न दबाव प्रणाली तेज होने के भी संकेत दिये हैं.

उन्होंने कहा है कि बंगाल की खाड़ी के ऊपर भी समुद्री सतह का तापमान सामान्य से एक-दो डिग्री सेल्सियस अधिक है. यह करीब 31 डिग्री सेल्सियस है. यह सभी समुद्री और वायुमंडलीय परिस्थितियां चक्रवात के विकास के लिए अनुकूल है.

विशेषज्ञों के मुताबिक, जलवायु परिवर्तन के कारण समुद्र का तापमान बढ़ रहा है. इसका असर समुद्र में बननेवाले चक्रवातों पर भी पड़ रहा है. मौसमी परिस्थितियां भी चक्रवात बनने के लिए अनुकूल स्थिति उत्पन्न कर रही है.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें