1. home Hindi News
  2. career
  3. cbse board 10th 12th result 2020 dates cbse board results 2020 class 10th and 12th live updates mhrd cbse board results last process syllabus change cbse class icse board results in india neet exam date jee exam date latest updates

CBSE Board 10th 12th Result 2020 Dates: क्या 15 जुलाई को नहीं आएगा सीबीएसई बोर्ड का रिजल्ट, जाने पूरी सच्चाई

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
सोशल मीडिया पर एक फर्जी नोटिस वायरल हो रहा है, जिसमें ये कहा गया है कि कक्षा 12 का परिणाम 11 जुलाई को जारी किया जाएगा
सोशल मीडिया पर एक फर्जी नोटिस वायरल हो रहा है, जिसमें ये कहा गया है कि कक्षा 12 का परिणाम 11 जुलाई को जारी किया जाएगा

CBSE Board 10th 12th Result 2020 Dates: केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड कक्षा 10 और 12 का परिणाम 15 जुलाई तक जारी करेगा, हालांकि, अंतिम तिथि अभी तय नहीं है. एक फर्जी नोटिस सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है, जिसमें ये कहा गया है कि कक्षा 12 का परिणाम 11 जुलाई को जारी किया जाएगा, और 13 जुलाई को कक्षा 10 के परिणाम को सीबीएसई द्वारा फर्जी करार दिया गया है.

बोर्ड ने छात्रों, शिक्षकों और अन्य हितधारकों को ऐसे किसी भी नोटिस पर विश्वास नहीं करने की सलाह दी है. परिणाम की अधिसूचना आधिकारिक वेबसाइट- cbse.nic.in पर उपलब्ध होगी.

सीबीएसई के अधिकारियों ने ऐसे किसी भी सर्कुलर को जारी करने से इनकार किया है. छात्रों और अभिभावकों को यह भी सलाह दी जाती है कि बोर्ड जल्द से जल्द परिणाम जारी करने के इरादे से अभी तक किसी भी तारीख की घोषणा नहीं की है. अधिकारियों ने सभी को सीबीएसई की आधिकारिक वेबसाइट cbse.nic.in पर एक चेक रखने के लिए कहा है. एक बार पुष्टि होने के बाद, तारीखों की घोषणा cbse.nic.in पर की जाएगी.

कृपया ध्यान दें, उपलब्ध जानकारी के अनुसार, सीबीएसई 15 जुलाई तक परिणाम जारी करेगा. जबकि यह संभव है कि परिणाम पहले जारी किए जा सकते हैं, इन तारीखों की पुष्टि अभी तक नहीं की गई है. एक बार प्राप्त होने पर परिणामों के अपडेट इस पृष्ठ पर सूचित किए जाएंगे.

इधर केन्द्रीय मानव संसाधन मंत्री रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ ने बृहस्पतिवार को कहा कि सीबीएसई के पाठ्यक्रम से कुछ टॉपिक्स हटाये जाने को लेकर मनगढ़ंत टिप्पणियां कर गलत विमर्श का प्रसार किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि इन टिप्पणियों के साथ समस्या यह है कि वे गलत विमर्श को फैलाने के लिए चुनिंदा विषयों को जोड़कर सनसनीखेज बना रहे हैं.

पोखरियाल ने बताया, 'राष्ट्रवाद, स्थानीय सरकार, संघवाद आदि तीन-चार टॉपिक्स को छोड़े जाने का गलत मतलब निकाल कर मनगढंत विमर्श बनाना आसान है, विभिन्न विषयों को व्यापक तौर पर देखा जाए तो दिखाई देगा कि सभी विषयों में कुछ चीजों को छोड़ा गया है.'

मंत्री का यह बयान कोरोना वायरस संक्रमण के कारण पैदा हुए हालात के चलते सीबीएसई के सिलेबस को कम करने संबंधी विवाद के बीच आया है. विपक्ष का आरोप है कि एक खास तरह की विचारधारा को आगे बढ़ाने के लिए भारत के लोकतंत्र और बहुलतावाद संबंधी पाठों को हटाया जा रहा है. निशंक ने इस संबंध में कई ट्वीट किए.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें