1. home Home
  2. business
  3. it refund income tax department has urged taxpayers to respond online quickly processing of pending refunds will start soon vwt

इनकम टैक्स ने करदाताओं को ऑनलाइन जवाब देने का दिया निर्देश, जल्द ही बैंक खातों में डाला जाएगा पेंडिंग रिफंड

इनकम टैक्स की ओर से जारी बयान के अनुसार, पिछले सप्ताह टैक्स रिफंड के रूप में 15,269 करोड़ रुपये जारी किये गये हैं.

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
करदाताओं के जवाब के बाद शुरू होगी प्रक्रिया.
करदाताओं के जवाब के बाद शुरू होगी प्रक्रिया.
फोटो : ट्विटर.

IT Refund News : इनकम टैक्स विभाग ने आकलन वर्ष 2020-21 के लिए लंबित रिफंड का तेजी से निपटान के लिए टैक्सपेयर्स को जल्द से जल्द जवाब भेजने का निर्देश दिया है. विभाग की ओर से रविवार को जारी आधिकारिक बयान में कहा गया है कि आकलन वर्ष 2020-21 के लिए फाइल किए गए इनकम टैक्स रिटर्न में टैक्स रिफंड के दावों में से अब तक करीब 93 फीसदी का निपटारा कर दिया गया है.

इनकम टैक्स की ओर से जारी बयान के अनुसार, पिछले सप्ताह टैक्स रिफंड के रूप में 15,269 करोड़ रुपये जारी किये गये हैं. इसे जल्द ही टैक्सपेयर्स के अकाउंट्स में भेजा जाएगा. बयान में कहा गया है कि आकलन वर्ष 2020-21 के लंबित रिफंड के समाधान के लिए विभाग टैक्सपेयर्स से संपर्क करने की प्रक्रिया में है, जहां नोटिस का मामला है और टैक्सपेयर्स से जवाब की जरूरत है.

इनकम टैक्स विभाग ने कहा है कि ये वे मामले हैं, जहां इनकम टैक्स एक्ट की धारा 245 के तहत समायोजन, गलत समायोजन और बैंक अकाउंट्स के मिलान की समस्या के कारण कर रिफंड नहीं हो पाया है. विभाग ने टैक्सपेयर्स से जल्द से जल्द ऑनलाइन जवाब देने का निर्देश दिया है, ताकि आकलन वर्ष 2020-21 के लिए आईटीआर का प्रोसेसिंग तेजी से हो सके.

इनकम टैक्स विभाग ने यह भी कहा कि उसने आकलन वर्ष 2021-22 के लिए आईटीआर 1 और 4 का प्रोसेसिंग और रिफंड शुरू किया है. अगर कोई टैक्स रिफंड का मामला है, तो उसे टैक्सपेयर्स के बैंक अकाउंट में डाल दिया जाएगा. बयान के अनुसार, वित्त वर्ष 2021-22 के लिए इनकम टैक्स विभाग ने 23 अगस्त तक 51,531 करोड़ रुपये रिफंड जारी किए हैं.

विभाग ने कहा कि जारी किए गए रिफंड में 21,70,134 मामलों में 14,835 करोड़ रुपये का इनकम टैक्स रिफंड और 1,28,870 मामलों में 36,696 करोड़ रुपये का कंपनी कर रिफंड शामिल हैं. पिछले वित्त वर्ष 2020-21 में 2.62 लाख करोड़ रुपये 2.37 करोड़ से अधिक टैक्सपेयर्स को लौटाए गए थे. यह वित्त वर्ष 2019-20 के मुकाबले 42 फीसदी अधिक है.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें