1. home Home
  2. tech and auto
  3. alert joker malware is back on google play store delete these 8 android apps from your phone now to prevent data leak check list and get detail here rjv

ALERT: अपने फोन से तुरंत डिलीट कर दीजिए ये 8 मोबाइल ऐप्स, Joker मैलवेयर चुरा लेगा सारा डेटा

गूगल प्ले-स्टोर (google play store) पर मौजूद कुछ ऐप्स के साथ जोकर मैलवेयर लौट आया है. जोकर असल में एक मैलवेयर (हानिकारक कम्प्यूटर सॉफ्टवेयर) है, जिसकी एंट्री साल 2019 में हुई थी. इसके बाद 2020 में भी जोकर गूगल प्ले-स्टोर पर आया था और 11 मोबाइल ऐप्स (mobile apps) को अपना शिकार बनाया था. प्ले स्टोर पर अब फिर से जोकर मैलवेयर की वापसी हो गई है.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
joker malware alert
joker malware alert
fb (symbolic)

Joker Malware Alert : गूगल प्ले-स्टोर पर मौजूद कुछ ऐप्स के साथ जोकर मैलवेयर लौट आया है. जोकर असल में एक मैलवेयर (हानिकारक कम्प्यूटर सॉफ्टवेयर) है, जिसकी एंट्री साल 2019 में हुई थी. इसके बाद 2020 में भी जोकर गूगल प्ले-स्टोर पर आया था और 11 मोबाइल ऐप्स को अपना शिकार बनाया था. प्ले स्टोर पर अब फिर से जोकर मैलवेयर की वापसी हो गई है.

Quick Heal सिक्योरिटी लैब ने इसकी जानकारी दी है. क्विक हील ने आठ ऐसे मोबाइल ऐप्स का पता लगाया है जो गूगल प्ले स्टोर पर मौजूद हैं और उनमें यह Joker मैलवेयर मौजूद है. ये ऐप्स आपके लिए खतरनाक हैं. ऐसे में आप इन्हें जल्द से जल्द अपने फोन से डिलीट कर दें. इनके नाम जान लीजिए-

Joker मैलवेयर से प्रभावित ऐप्स की लिस्ट में Free CamScanner, Auxiliary Message, Fast Magic SMS, Super SMS, Go Messages, Element Scanner, Travel Wallpapers और Super Message का नाम शामिल है. अगर आपके फोन में इन 8 ऐप्स में से काेई भी है, तो इसे तुरंत डिलीट कर दें.

जोकर मैलवेयर ने इस बार उन कैटेगरी के एेप को शिकार बनाया है, जिन्हें पिछले साल बैन कर दिया गया था. वैसे तो गूगल ने इन ऐप्स को प्लेस्टोर से हटा दिया है लेकिन यूजर्स को सतर्क रहना बेहद जरूरी है. पिछले साल सिक्योरिटी एजेंसी चेक प्वाइंट ने जोकर ड्रॉपर (Joker Dropper) और प्रीमियम डायलर (Premium Dialer) स्पाइवेयर का पता लगाया था. वहीं, इस बार क्विक हील सिक्योरिटी लैब ने इसकी जानकारी दी है.

साइबर सिक्योरिटी रिसर्चर्स के अनुसार, Joker मैलवेयर स्मार्टफोन में मौजूद यूजर्स का डेटा चुराता है. इसमें SMS, कॉन्टैक्ट लिस्ट, डिवाइस की जानकारी, ओटीपी आदि शामिल है. ऐसे में यूजर्स को इस तरह के ऐप्स का इस्तेमाल करने से बचने की सलाह दी जाती है. गूगल ने उन ऐप्स को प्ले स्टोर से हटा दिया है, जिनमें इस मैलवेयर के होने की संभावना थी. लेकिन अगर किसी यूजर के फोन में इनमें से कोई ऐप मौजूद है, तो उसे डिलीट करने पर ही इससे छुटकारा पाया जा सकता है.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें