1. home Home
  2. state
  3. west bengal
  4. tmc mp abhishek banerjee to appear before ed on 6 september in coal scam related case abk

कोयला घोटाले में ED के सामने पेश होंगे अभिषेक बनर्जी, BJP नेताओं को दिया 5 मिनट का चैलेंज

प्रवर्तन निदेशालय ने कोयला तस्करी मामले में अभिषेक बनर्जी को दिल्ली ऑफिस में उपस्थित होने के आदेश दिए थे. प्रवर्तन निदेशालय के नोटिस पर अभिषेक बनर्जी दिल्ली रवाना हुए. इसके पहले उन्होंने रविवार को केंद्र की मोदी सरकार पर कई आरोप लगाए.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
अभिषेक बनर्जी, टीएमसी महासचिव
अभिषेक बनर्जी, टीएमसी महासचिव
फाइल फोटो

टीएमसी सांसद अभिषेक बनर्जी कोयला घोटाला मामले में सोमवार को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के ऑफिस में हाजिर होंगे. इस दौरान उनसे कोयला घोटाले को लेकर सवालों का जवाब पूछा जाएगा. इसके पहले प्रवर्तन निदेशालय ने कोयला तस्करी मामले में अभिषेक बनर्जी को दिल्ली ऑफिस में उपस्थित होने के आदेश दिए थे. प्रवर्तन निदेशालय के नोटिस पर अभिषेक बनर्जी दिल्ली रवाना हुए. इसके पहले उन्होंने रविवार को केंद्र की मोदी सरकार पर कई आरोप लगाए.

मैं बीजेपी के नेताओं को पांच मिनट अपने साथ बैठने का आग्रह करता हूं. अगर मैं उनकी सच्चाई उजागर ना कर दूं तो राजनीति में दोबारा कभी नहीं आऊंगा. ईडी और सीबीआई उस समय आंखों पर पट्टी बांध लेती है, जब कुछ लोग कैमरे पर रिश्वत लेते दिखाई देते हैं.
अभिषेक बनर्जी, टीएमसी महासचिव

दिल्ली रवाना होने से पहले तृणमूल कांग्रेस महासचिव और सांसद अभिषेक बनर्जी ने कोलकाता एयरपोर्ट पर पत्रकारों से बातचीत की. उन्होंने कोयला घोटाले में प्रवर्तन निदेशालय के भेजे गए नोटिस को राजनीति से प्रेरित करार दिया. अभिषेक बनर्जी ने कहा कि केंद्र सरकार एजेंसी का गलत इस्तेमाल कर रही है. इसके जरिए केंद्र की मोदी सरकार बदले की कार्रवाई कर रही है.

अभिषेक बनर्जी से पहले एक सितंबर को उनकी पत्नी रुजिरा बनर्जी को भी तलब किया गया था. रुजिरा बनर्जी ने कोरोना संकट का हवाला देकर दिल्ली कार्यालय में उपस्थित होने से असमर्थता जताई थी. कोयला घोटाले में पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी के मंत्री मलय घटक को 14 सितंबर को तलब किया गया है. दूसरी तरफ पश्चिम बंगाल के दो सीनियर आईपीएस अधिकारी श्याम सिंह और ज्ञानवंत सिंह को भी 8 और 9 सितंबर को उपस्थित होने का समन भेजा गया है.

सीबीआई ने नवंबर 2020 में कोयला घोटाले को लेकर प्राथमिकी दर्ज की थी. इसके बाद ईडी ने प्राथमिकी के आधार पर मनी लॉन्ड्रिंग से जुड़ा मामला दर्ज किया था. सीबीआई की प्राथमिकी में आसनसोल और इसके करीब बसे कुनुस्तोरिया और कजोरा इलाकों में ईस्टर्न कोल फील्ड्स लिमिटेड की खदानों से संबंधित करोड़ों रुपए के कोयला चोरी घोटाले का आरोप लगाया गया है.

यहां जिक्र कर दें कि पश्चिम बंगाल में हुए कोयला घोटाले से जुड़े मामले में अनूप माझी उर्फ लाला मुख्य आरोपी है. ईडी ने पहले दावा किया था अभिषेक बनर्जी कोयला घोटाले से कमाई गई रकम में लाभ ले चुके हैं. प्रवर्तन निदेशालय ने मामले में अनूप माझी की करीब 165 करोड़ रुपए की संपत्ति भी कुर्क भी की है. दूसरी तरफ अभिषेक बनर्जी ने आरोपों से इंकार किया है.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें