बंगाल में अब मचेगी जन्माष्टमी की धूम, पूरे राज्य में जुलूस निकालेगा विहिप

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

अजय विद्यार्थी

कोलकाता : पश्चिम बंगाल में रामनवमी को जागरूकता का हथियार बनाने के बाद विश्व हिंदू परिषद (विहिप) ने कृष्ण जन्माष्टमी को पूरे राज्य में धूमधाम से मनाने की घोषणा की है. जन्माष्टमी से हिंदू जागरण और जनसंपर्क अभियान तेज किया जायेगा. ब्लॉक स्तर से लेकर जिला और कोलकाता में जन्माष्टमी के अवसर पर जुलूस निकाले जायेंगे. कीर्तन का आयोजन किया जायेगा और शोभा यात्राएं निकाली जायेंगी.

उल्लेखनीय है कि जन्माष्टमी विश्व हिंदू परिषद का स्थापना दिवस भी है. इस अवसर पर पूरे राज्य में तीन दिवसीय कार्यक्रम का आयोजन किया जायेगा. इस वर्ष 24 अगस्त को जन्माष्टमी उत्सव है. विश्व हिंदू परिषद के राष्ट्रीय संयुक्त सचिव सुरेंद्र जैन ने प्रभात खबर को बताया कि जन्माष्टमी के अवसर पर प्रत्येक वर्ष पूजा व कीर्तन का आयोजन होता है. इस वर्ष और भी धूमधाम से इस उत्सव का पालन किया जायेगा.

जहां तक बंगाल की बात है, बंगाल में हर उत्सव अब जनजागरण का प्रतीक बन गया है. बंगाल में एक कहावत है ‘बारह महीने तेरह पर्व’. बंगाल में हर पर्व उत्साह और श्रद्धा से मनाया जाता है. पहले बंगाल में गणेश पूजा, रामनवमी, जगन्नाथ रथ यात्रा आदि बहुत धूमधाम से नहीं मनाया जाता था, लेकिन अब सभी त्योहार बंगाल में उतने ही धूमधाम से मनाये जाते हैं, जितना अन्य राज्यों में.

उन्होंने कहा कि बंगाल में नवजागरण शुरू हो गया है और उसे ममता बनर्जी की सरकार नहीं रोक पायेगी. विश्व हिंदू परिषद के दक्षिण बंगाल के सचिव आलोक सूर ने कहा कि पश्चिम बंगाल में 700 से 800 स्थानों पर जन्माष्टमी उत्सव का मनाया जायेगा. जगह-जगह से जुलूस निकाले जायेंगे. हर जुलूस में 1000 से 5000 लोगों के शामिल होने की संभावना है.

कोलकाता में उत्तर कोलकाता, मध्य कोलकाता, दक्षिण कोलकाता व पूर्व कोलकाता में अलग-अलग जुलूस निकाले जायेंगे. उन्होंने कहा कि जन्माष्टमी के माध्यम से विश्व हिंदू परिषद का जनसंपर्क भी बढ़ाया जायेगा.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें