1. home Hindi News
  2. state
  3. up
  4. varanasi
  5. varanasi news find lost phone through cms anti thef app rkt

Varanasi: अब मोबाइल चोरी होने पर घबराने की जरूरत नहीं, फाटफट ढूढ़ निकालेगा ये एप, जानें कैसे करेगा काम?

मोबाइल चोरी होने के बाद क़ई लोगो के साथ दिक्कत ये होती हैं कि वे इंश्योरेंस नही कराते हैं. इसके अलावा भी उन्हें ये डर भी सताता है कि उनके डेटा ,डॉक्युमेंट्स सारी चीजें फोन में सेव होती हैं, वो सभी गलत हाथों में न पड़ जाए.

By Prabhat Khabar Digital Desk, Varanasi
Updated Date
आपका फोन फाटफट ढूढ़ निकालेगा ये ए
आपका फोन फाटफट ढूढ़ निकालेगा ये ए
प्रभात खबर

Varanasi News: अब आपको अपना मोबाइल खोने या चोरी हो जाने के बाद परेशान होने की जरूरत नहीं है. न ही महिलाओं को असुरक्षित होने या कोई खतरा महसूस होने पर डरने की जरूरत है. क्योंकि CMS ANTI THEFT एक ऐसा एप्लीकेशन है जिसके माध्यम से आपके मोबाइल की करंट लोकेशन पुलिस और आपके घरवालों को मिलती रहेगी. यही नहीं मोबाइल चोरी हो जाने के बाद चोर मोबाइल को बंद नहीं कर पाएगा और लगातार उसका लोकेशन मिलता रहेगा . इस एप्लीकेशन के माध्यम से मोबाइल सेफ्टी के साथ -साथ वूमेन सेफ्टी का भी ध्यान रखा गया है.

एप बनाने में लगे एक साल

यह एक पहला ऐसा एप्लीकेशन है जो महिलाओं का करेक्ट लोकेशन बताएगा जब वह मुसीबत में होंगी. जिस बिल्डिंग में होंगी जिस जगह पर होंगी जिस एरिया में होंगी इस एप्लीकेशन के जरिए मुसीबत में सिर्फ तीन बार पावर बटन को प्रेस करने पर 100 से ज्यादा लोगों के पास इमरजेंसी कॉल और लोकेशन उनके मोबाइल पर चला जाएगा. जिससे मुसीबत में पड़ी महिला को बचाया जा सकता है. बता दें कु इस एप को फॉरेन से पढ़ाई कर के इंडिया आने पर तकरीबन 1 साल की कड़ी मेहनत के बाद बीटेक के कुछ छात्रों ने मिलकर इस एप्लीकेशन को तैयार किया है.

मोबाइल चोरी होने के बाद भी मिलता रहेगा लोकेशन

मोबाइल चोरी होने के बाद क़ई लोगो के साथ दिक्कत ये होती हैं कि वे इंश्योरेंस नही कराते हैं. इसके अलावा भी उन्हें ये डर भी सताता है कि उनके डेटा ,डॉक्युमेंट्स सारी चीजें फोन में सेव होती हैं, वो सभी गलत हाथों में न पड़ जाए. इसके लिए एफआईआर दर्ज कराने से लेकर, भागा -दौड़ी सबकुछ होता है. इस एप के माध्यम से मोबाइल चोरी होने के बावजूद भी मोबाइल मालिक तक पहुँच में रहेगा, और उसकी लोकेशन मिलती रहेगी. मोबाइल स्विच ऑफ ही नहीं होगा और इससे फायदा ये रहेगा कि 24 घण्टे के अंदर चोरी हुआ मोबाइल मिल जाएगा.

अभिषेक झा बताते हैं कि महिलाओं के सुरक्षा को लेकर भी हमारा एप बहुत महत्वपूर्ण है. जैसे ही मुसीबत में कोई महिला एप पर टच करती हैं तुरन्त एप के माध्यम से उस महिला का नाम, मोबाइल नंबर, लोकेशन उपलब्ध हो जाता है. ये ऐप हमने इस तरह से तैयार किया है कि इससे रियल टाइम लोकेशन तुरन्त पता चलता है. सबसे बेस्ट फीचर इस एप का ये है कि किसी भी हाल में ये मोबाइल को ऑफ नही होने देता है. इस एप्लिकेशन को बनाने के पीछे हमारा एक ही मकसद था कि हम वीमेन सेफ्टी के लिए कुछ काम करे.

ऐसे काम करता है ये एप

मोनिका द्विवेदी बताती है कि अब तक ऐसा कोई एप्लिकेशन नही आया था जिसमे मोबाइल लोकेशन ट्रैक किया जा सके. यह महिलाओं के लिए भी बहुत हेल्पफुल है. इसके माध्यम से वे अपनी लोकेशन अपने घरवालों समेत पुलिस स्टेशन तक शेयर कर सकती हैं. आजकल हर कोई एंड्रॉइड फोन यूज कर रहा है. इसलिए यह एप बहुत ही कारगर साबित होगा.

इस एप को बनाने वाले एमिटी यूनिवर्सिटी के बीटेक के छात्र मुहम्मद आदिल बताते हैं कि कैसे यह एप दो यूजर के मध्य काम करता है। जैसे ही आपका मोबाइल चोरी होता है तो चोर द्वारा आपका मोबाइल स्विच ऑफ करने की कोशिश की जाएगी. लेकिन फोन बार -बार रिस्टार्ट हो जाएगा, थोड़ी ही देर में फोन अपनेआप एक पासवर्ड रिसेट करेगा और लॉक हो जाएगा. इसके बाद मोबाइल के बारे में करेंट लोकेशन, टाइम, डेट सबकुछ उपलब्ध हो जाएगा.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें