1. home Hindi News
  2. state
  3. up
  4. ballia
  5. kareli murder case police sent five accused to jail raids in search of others

करेली हत्याकांड : पुलिस ने पांच आरोपितों को भेजा जेल, अन्‍य की तलाश में छापेमारी

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
लीड जोड़---करेली हत्याकांड : पुलिस ने पांच आरोपितों को भेजा जेल, अन्‍य की तलाश में छापेमारी
लीड जोड़---करेली हत्याकांड : पुलिस ने पांच आरोपितों को भेजा जेल, अन्‍य की तलाश में छापेमारी

प्रयागराज : करेली के बख्शी मोढ़ा में रविवार सुबह तबलीगी जमात के लोगों द्वारा कोरोना वायरस फैलाने की बात कहने पर लोटन निषाद की गोली मारकर हत्या की वारदात के बाद से वहां पुलिस बल तैनात है. फरार आरोपितों की तलाश में पुलिस और क्राइम ब्रांच की तीन टीम लगातार छापेमारी कर रही हैं. अब तक पांच नामजद समेत 10 लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है. पांच आरोपितों को पुलिस ने मजिस्ट्रेट के समक्ष पेश करने के बाद नैनी जेल भेज दिया.10 लोगों को नामजद और कई अज्ञात पर केस दर्ज थामृतक लोटन निषाद के भाई बिरजू ने लोटन की हत्या में पूर्व प्रधान नौशाद समेत 10 लोगों को नामजद और 6-7 अज्ञात पर केस दर्ज कराया था. पुलिस ने छापेमारी कर पांच नामजद आरोपितों समेत दस लोगों को पकड़ लिया था. एक हथियार भी बरामद होने की सूचना है.

एसपी सिटी बृजेश श्रीवास्तव ने बताया कि नामजद पांच आरोपितों मोहम्मद सोना, सादिक, नौशाद, फरहान, सेबू को पुलिस ने कोर्ट में पेश किया जहां से उन्हें जेल भेज दिया गया.लोटन के घर के बाहर पुलिस और पीएसी का पहराघटना के बाद से ही लोटन के घर के बाहर पुलिस और पीएसी का पहरा है. पुलिस ने बिरजू की लाइसेंसी बंदूक भी जब्त की है. एसपी सिटी का कहना है कि बिरजू ने भी बचाव में फायरिंग की थी. पीड़ित परिवार के घर में करेलाबाग के पूर्व पार्षद नंदलाल निषाद नंदा ने खाना और राशन पहुंचाया. गांव के ही गोपाल निषाद ने वहां तेज धूप में तैनात पुलिस कर्मियों को पानी पिलाते रहे. लोटन के घर में दिन भर पत्नी सविता समेत परिवार की महिलाओं का विलाप गूंजता रहा.

लोटन के शव का रविवार शाम ही पोस्टमार्टम के बाद बख्शी मोढ़ा में अंतिम संस्कार करा दिया गया था. पत्नी को 20 लाख रुपये मिले सहायतानिषाद समाज में इस घटना से आक्रोश है. नाविक संघ के जिलाध्यक्ष पप्पू लाल निषाद और उपाध्यक्ष अशोक निषाद ने कहा है कि शासन से लोटन निषाद की पत्नी सविता को 20 लाख रुपये मुआवजा मिलना चाहिए. उन्होंंने लॉकडाउन में नाव संचालन बंद होने से भुखमरी की कगार पर पहुंचे नाविकों के परिवार को भी प्रशासन से राशन और अन्य जरूरी वस्तुएं पहुंचाया जाना चाहिए. पूर्व विधायक पूजा पाल बोलीं, निष्पक्ष हो जांचपूर्व विधायक पूजा पाल ने इस मामले में कहा है कि साजिशन उनके पति राजू पाल की हत्या की गवाह रुखसाना और उसके पति सादिक को परिवार समेत नामजद कराया गया है. ऐसे में जरूरी है कि पुलिस हत्याकांड की गहराई से निष्पक्षता के साथ तहकीकात करे ताकि कोई निर्दोष हत्या के आरोप में नहीं फंसने पाए.

    Share Via :
    Published Date
    Comments (0)
    metype

    संबंधित खबरें

    अन्य खबरें