1. home Home
  2. state
  3. up
  4. allahabad
  5. district magistrate inspected the community health center in prayagraj sht

Prayagraj News: सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र का निरीक्षण करने पहुंचे DM, गड़बड़ी मिलने पर लगाई फटकार

जिलाधिकारी संजय कुमार खत्री गुरुवार को सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र कोटवा का औचक निरीक्षण करने पहुंचे. यहां दवाओं के स्टॉक और वितरण रजिस्टर में गड़बड़ी मिलने पर फार्मासिस्ट को डीएम ने जमकर फटकार लगाई.

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
जिलाधिकारी संजय कुमार खत्री
जिलाधिकारी संजय कुमार खत्री
प्रभात खबर

Prayagraj News: जिलाधिकारी संजय कुमार खत्री गुरुवार को सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र कोटवा का औचक निरीक्षण करने पहुंचे. डीएम ने दवाओं के स्टॉक और वितरण रजिस्टर में गड़बड़ी मिलने पर फार्मासिस्ट को जमकर फटकार लगाई. जिलाधिकारी ने रिकार्ड सही न मिलने पर वहां के फार्मासिस्ट को प्रतिकूल प्रविष्टि देने का निर्देश दिया.

प्रभारी चिकित्साधिकारी से  तलब किया स्पष्टीकरण

औचक निरीक्षण पर निकले जिलाधिकारी ने कोटवा सीएससी पहुंच कर साफ-सफाई तथा रिकार्डों का बारीकी से निरीक्षण किया. इस दौरान दवाओं के स्टॉक और वितरण रजिस्टर में गड़बड़ी मिलने समेत रख-रखाव ठीक से न होने पर नाराजगी व्यक्त की. साथ ही प्रभारी चिकित्साधिकारी डाॅ अमृत लाल से स्पष्टीकरण तलब किया है.

दो शिफ्टों में ड्यूटी लगाने के निर्देश

जिलाधिकारी ने मुख्य चिकित्साधिकारी को कोटवा सीएससी में डाॅक्टरोें को दो शिफ्ट में ड्यूटी लगाने के निर्देश दिए. इस दौरान उन्होंने दवा लेने पहुंचे मरीजों से भी इलाज की सुविधाओं और दवा की उपलब्धता के बारे में जानकारी ली. इसके बाद चल रहे टीकाकरण का भी निरीक्षण किया. निरीक्षण के दौरान उन्होंने कहा कि टीकाकरण में कोई भी लापरवाही कतई बर्दाश्त नहीं की जाएगी.

डीएम का काफिला लेकर भटके सीएससी अधीक्षक

जिलाधिकारी संजय कुमार खत्री गुरुवार को सीएससी अधीक्षक के रास्ता भटक जाने के बाद जिलाधिकारी झूंसी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र नहीं पहुंच सके. जिस पर जिलाधिकारी ने सीएससी अधीक्षक पर नाराजगी जताते हुए सीधे कोटवा सीएससी का निरीक्षण करने पहुंच गए. जहां उन्हें तमाम खामियां मिली.

झूंसी सामुदायिक केंद्र जाने का मार्ग है बेहद खराब

जिलाधिकारी जिस रास्ते झूंसी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचना था. वह मार्ग बेहद खराब है. मार्ग में जगह-जगह गड्ढे हैं. इसके अलावा जोशी सामुदायिक केंद्र में जिलाधिकारी के आगमन को लेकर कोई सूचना नहीं थी. न ही किसी को जिलाधिकारी के वहां पहुंचने की सूचना दी गई थी. ऐसे में सवाल खड़ा होता है कि क्या सीएससी अधीक्षक रास्ता भटक गए थे या वह जानबूझकर जिलाधिकारी को झूंसी सामुदायिक लेकर नहीं गए.

रिपोर्ट- एस के इलाहाबादी

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें