1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. singhbhum west
  5. jharkhand naxal news uniformed armed naxalites assaulted the employees of the company in west singhbhum threatened to keep the plant closed until the demand was met police investigating grj

Jharkhand Naxal News : हथियारबंद नक्सलियों ने कंपनी के कर्मचारियों से की मारपीट, मांगें पूरी नहीं होने तक प्लांट बंद रखने की दी धमकी, जांच कर रही पुलिस

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Jharkhand Naxal News : मामले की जांच करने पहुंची पुलिस
Jharkhand Naxal News : मामले की जांच करने पहुंची पुलिस
प्रभात खबर

Jharkhand Naxal News, किरीबुरु (शैलेश सिंह) : बड़ाजामदा स्थित श्री बालाजी इंडस्ट्रियल इंजीनियरिंग लिमिटेड स्पंज प्लांट में बीती रात वर्दीधारी हथियारबंद नक्सली कोयला यार्ड के दो-नंबर गेट क्षेत्र की दीवार फांद कर प्लांट के अंदर प्रवेश कर गये एवं प्लांट के अंदर कार्य कर रहे दर्जनभर मजदूरों एवं प्राइवेट सुरक्षा गार्ड के साथ मारपीट की. इसके बाद प्लांट के अंदर खडी़ लोडर मशीन का शीशा तोड़ मशीन को आग लगाकर जलाने का प्रयास किया. हालांकि मशीन को बड़ा नुकसान नहीं पहुंचा. इसके बाद नक्सलियों ने प्लांट को बंद करने की धमकी देते हुए और मांग पूरी करने की चेतावनी दी. पुलिस मामले की जांच कर रही है.

बताया जाता है कि प्लांट के अंदर मात्र पांच वर्दीधारी हथियारबंद नक्सली दीवार फांदकर प्रवेश किये थे एवं लगभग आधा घंटे तक रहकर प्लांट के अंदर उक्त घटनाओं को अंजाम देने के बाद चले गये. इस घटना की सूचना मिलने के बाद किरीबुरु के एसडीपीओ डॉ हीरालाल रवि के नेतृत्व में पुलिस टीम ने घटनास्थल पर पहुंचकर घायल मजदूरों व गार्ड आदि के अलावा प्रबंधन से बात की. इस घटना के बाद से कंपनी के मजदूरों, प्रबंधन एंव आसपास गांव के ग्रामीणों में भय व्याप्त है.

नक्सलियों की पिटाई से घायल मजदूर बागुन ने बताया की कमांडो ड्रेस पहने तथा हाथ में हथियार लिये लोगों ने हमारे सिर, चेहरे, पीठ व पैर आदि पर बंदूक के कूंदे से मारा, जिससे गहरी चोट लगी है. सुपरवाइजर समेत चार मजदूरों की भी बंदूक आदि से पिटाई की गयी. कंपनी के एचआर हेड अजीत श्रीवास्तव ने बताया कि रात में हथियारबंद लोगों ने प्लांट के अंदर प्रवेश कर तोड़फोड़ व आगजनी कर कर्मचारियों व गार्ड के साथ मारपीट की है.

किरीबुरु के एसडीपीओ डॉ हीरालाल रवि ने कहा कि शुरुआती जांच की गई है. प्रथम दृष्टया असामाजिक तत्वों का हाथ प्रतीत होता है क्योंकि कंपनी प्रबंधन को कोई पत्र या मांग नहीं बतायी गयी है. इस घटना में शामिल लोगों को बख्शा नहीं जायेगा.

Posted By : Guru Swarup Mishra

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें