24.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

केंद्रीय ऊर्जा मंत्री ने रिम्स में विश्राम सदन का किया उदघाटन

पद्मश्री मुकुंद नायक ने केंद्रीय मंत्री के गले में ढोल डालकर उनका अभिनंदन किया. केंद्रीय मंत्री ने कहा कि मुझे इस बात की खुशी है कि हमने शुभ मुहूर्त में तय समय पर इस भवन का उदघाटन किया.

रांची. केंद्रीय ऊर्जा मंत्री मनोहर लाल खट्टर ने मंगलवार को रिम्स में नवनिर्मित पावरग्रिड विश्राम सदन का उदघाटन किया. इस दौरान उन्होंने भवन की व्यवस्था का जायजा लिया और इसकी तारीफ की. इस दौरान पद्मश्री मुकुंद नायक ने केंद्रीय मंत्री के गले में ढोल डालकर उनका अभिनंदन किया. वहीं, मनोहर लाल खट्टर ने ढोल बजाकर और जय जोहार बोलकर लोगों का अभिवादन किया. उन्होंने कहा कि मुझे इस बात की खुशी है कि हमने शुभ मुहूर्त में तय समय पर इसका उदघाटन किया. मौके पर केंद्रीय रक्षा राज्यमंत्री संजय सेठ और स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता भी थे.

2007 में बाटुल जी के पक्ष में चुनाव प्रचार किया था : खट्टर

केंद्रीय मंत्री खट्टर के स्वागत में रिम्स ऑडिटोरियम में कार्यक्रम का आयोजन किया गया था. इस मौके पर श्री खट्टर ने कहा कि साल 2007 में बेरमो विधानसभा चुनाव में बाटुल जी के पक्ष में दो महीने रुक कर चुनाव प्रचार किया था. लोकसभा चुनाव में हजारीबाग-गिरिडीह का दौरा किया. पद्म श्री अशोक भगत के बिशनपुर का भी दौरा किया था. इस मौके पर रांची महानगर भाजपा अध्यक्ष वरुण साहू, जूनियर डॉक्टर एसोसिएशन के अध्यक्ष डॉ अंकित, रिम्स अराजपत्रित कर्मचारी संघ के सुशांत साहू, रानी खलखो व नवेंदु उपाध्याय ने बुके देकर मंत्री का स्वागत किया. पावर ग्रिड के अध्यक्ष सह प्रबंधन निदेशक आरके त्यागी ने विश्राम सदन से लोगों का परिचय कराया और पावर ग्रिड की उपलब्धियों पर चर्चा की. कार्यक्रम के दौरान कांके विधायक समरी लाल, पूर्व विधायक जीतू चरण राम, पावर ग्रिड के कई वरिष्ठ अधिकारी, रिम्स निदेशक डॉ राजकुमार आदि मौजूद थे.

अब परिजनों को कॉरिडोर में नहीं रहना पड़ेगा : संजय सेठ

इस मौके पर रक्षा राज्यमंत्री संजय सेठ ने कहा कि विश्राम गृह के अभाव में मरीजों के परिजन रिम्स में बरामदा, फुटपाथ और कॉरिडोर में सोते हैं. मीडिया इस बदहाल स्थिति को दिखाता रहा है. अब परिजनों को कॉरिडोर में नहीं रहना पड़ेगा. आज से पांच साल पहले हमने एक आग्रह किया था. आज नरेंद्र मोदी की सरकार में यह सपना साकार हो रहा है. उन्होंने खट्टर से सिल्ली में आर्चरी का बड़ा एकेडमी सेंटर खोलने और इसे बढ़ावा देने की मांग की.

देश व राज्य हित में एकजुट होकर काम करेंगे : बन्ना गुप्ता

स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने कहा कि पावर ग्रिड ने राज्य को एक सौगात दी है. लोकतंत्र में वैचारिक मतभेद हो सकते हैं, लेकिन देश और राज्य हित में हम एकजुट होकर काम करेंगे.

सीएसआर के तहत कराया जायेगा संचालन

उदघाटन के बाद इस भवन को रिम्स को हैंडओवर किया जायेगा. स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने टाटा और कोल इंडिया के नाम का उल्लेख करते हुए कहा कि इस भवन का संचालन सीएसआर के तहत कराने का प्रयास किया जायेगा. आश्रय गृह के शुल्क का निर्धारण रिम्स प्रबंधन करेगा.

पांच मंजिला है भवन

यह भवन पांच मंजिला है. इसके निर्माण पर 18 करोड़ रुपये खर्च हुए हैं. इसके एक कमरे में छह से आठ बेड आसानी से लगाये जा सकते हैं. मरीज के परिजनों को सस्ती दर पर भोजन देने के लिए किचन की भी सुविधा है. ज्ञात हो कि जुलाई 2019 में विश्राम सदन की आधारशिला रखी गयी थी. विश्राम सदन का निर्माण पावर ग्रिड कॉरपोरेशन की ओर से किया गया है.

देश के आठ शहरों में है विश्राम गृह की सुविधा

एम्स नयी दिल्ली, बेंगलुरु, गुवाहाटी, बड़ौदा, दरभंगा, पटना और रांची जैसे कुल आठ शहरों में इसका शुभारंभ किया जा चुका है. वहीं, बीएचयू, झांसी, गोरखपुर आदि शहरों के अस्पतालों में इसका निर्माण प्रस्तावित है.

स्वास्थ्य मंत्री के बड़े-बड़े कटआउट्स

विश्राम सदन के उदघाटन कार्यक्रम के दौरान रिम्स परिसर में स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता के बड़े-बड़े कटआउट्स लगाये गये थे. जबकि, केंद्रीय ऊर्जा मंत्री मनोहर लाल खट्टर के कटआउट्स इसके मुकाबले छोटे थे. यह लोगों के बीच चर्चा का विषय था.

डिस्क्लेमर: यह प्रभात खबर समाचार पत्र की ऑटोमेटेड न्यूज फीड है. इसे प्रभात खबर डॉट कॉम की टीम ने संपादित नहीं किया है

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें