1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. ranchi
  5. the situation improved without putting burden on the people finance minister dr rameshwar oraon said on completion of one year of government srn

लोगों पर बोझ डाले बिना स्थिति बेहतर की, सरकार के एक वर्ष पूरे होने पर बोले वित्त मंत्री डॉ रामेश्वर उरांव

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
डॉ रामेश्वर उरांव ने सरकार के एक वर्ष का कार्यकाल पूरा होने पर सरकार के उपलब्धियों पर प्रकाश डाला
डॉ रामेश्वर उरांव ने सरकार के एक वर्ष का कार्यकाल पूरा होने पर सरकार के उपलब्धियों पर प्रकाश डाला
prabhat khabar

jharkhand news, jharkhand government achievements रांची : वित्त सह खाद्य आपूर्ति मंत्री डॉ रामेश्वर उरांव ने सरकार के एक वर्ष का कार्यकाल पूरा होने पर सरकार की उपलब्धियों के बारे में बताया. कहा कि विपरीत परस्थितियों के बावजूद हर व्यक्ति को भोजन, कपड़ा और रोजगार उपलब्ध कराने का प्रयास किया गया. कोरोना संक्रमण काल में राजस्व संग्रहण प्रभावित हुआ. लॉकडाउन में उत्पाद, वैट और जीएसटी से प्राप्त होनेवाली राशि में कमी आयी.

राज्य सरकार ने प्रोफेशनल टैक्स में वृद्धि, कोरोना सेस जैसे उपाय लगा कर बिना आम लोगों पर बोझ डाले राजस्व की हालत बेहतर की. इन करों से राज्य के राजस्व में करीब 530 करोड़ रुपये की वृद्धि संभावित है. अपने आवास पर मीडिया से बात करते हुए डॉ उरांव ने कहा कि दुनिया भर के लोग यह देख कर आश्चर्यचकित रह गये कि कोई सरकार प्रवासी मजदूरों को वापस लाने के लिए हवाई जहाज भेज सकती है.

प्रवासी श्रमिकों के लिए मुख्यमंत्री दीदी किचन की व्यवस्था की गयी. नेशनल हाइवे और थानों में दाल-भात केंद्र खोले गये. उन्होंने कहा कि गठबंधन सरकार के एक वर्ष पूरा होने पर 29 दिसंबर को होनेवाले मुख्य समारोह में किसानों को 50 हजार रुपये तक की कर्ज माफी का लाभ देने की शुरुआत की जायेगी. इसी दिन 15 लाख परिवारों को हरा राशन कार्ड उपलब्ध कराने के साथ जनवितरण प्रणाली की दुकानों के माध्यमों से गरीबों को धोती, साड़ी और लुंगी देने की योजना भी शुरू की जायेगी.

डॉ उरांव ने पार्टी कोटे से सरकार में शामिल अन्य मंत्रियों के कार्यों की चर्चा करते हुए कहा कि कोरोना संक्रमण काल में स्वास्थ्य विभाग ने शानदार काम किया. कोरोना मरीजों के लिए टेस्ट, आइसोलेशन वार्ड और सभी तरह की मेडिकल सुविधाएं उपलब्ध करायी. कोरोना संक्रमण का असर चरम पर रहते हुए भी कहीं बेड की कमी नहीं हुई. ग्रामीण विकास विभाग ने प्रवासी श्रमिकों और गांव में रहनेवाले मजदूरों को मनरेगा और दूसरी योजनाओं के माध्यम से गांव-पंचायत में ही रोजगार मुहैया कराया.

कृषि विभाग ने किसानों को बीज और खाद की उपलब्धता सुनिश्चित करायी. राज्य गठन के बाद यह पहला मौका है, जब मॉनसून के महीने में बीज और खाद को लेकर कोई अफरा-तफरी नहीं हुई. प्रेस कांफ्रेंस में पार्टी प्रवक्ता आलोक कुमार दूबे, लाल किशोर नाथ शाहदेव व डॉ राजेश गुप्ता छोटू भी मौजूद थे.

Posted By : Sameer Oraon

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें