1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. ranchi
  5. jharkhand coronavirus update only ranchi 575 percent of the total active cases of jharkhand know why the risk of infection has increased srn

Jharkhand Coronavirus Update : झारखंड के कुल कोरोना एक्टिव केस का 57.5 फीसदी सिर्फ रांची में ही, जानें किस वजह से बढ़ा है संक्रमण का खतरा

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
New Coronavirus Mutant Strain
New Coronavirus Mutant Strain
File Photo

Jharkhand News, Coronavirus Update In Jharkhand, Coronavirus Latest News In Jharkhand रांची : देश के कुछ राज्यों में कोरोना वायरस ने दोबारा पैर फैलाना शुरू कर दिया है. एक्टिव केस के बढ़ते ग्राफ ने इन राज्यों के सरकारों की चिंता बढ़ा दी है. इसे देखते हुए झारखंड सरकार ने भी कोरोना की जांच दर को बढ़ाने का निर्देश दिया है. झारखंड सरकार की चिंता बढ़ना लाजिमी भी है. 24 फरवरी की सुबह तक राज्य में कुल 447 एक्टिव केस दर्ज किये गये थे. इनमें से 257 एक्टिव केस (57.5 फीसदी) सिर्फ रांची जिले में हैं.

वहीं, पूर्वी सिंहभूम में कुल एक्टिव केस 60 है, जो कुल एक्टिव केस का 13.5 प्रतिशत है. इधर, कुल एक्टिव केस का 5.6 फीसदी लोहरदगा में, 5.2 फीसदी गुमला में और 4.1 फीसदी देवघर में हैं. जानकारों को कहना है कि हवाई और रेल मार्ग से यात्रा कर सैकड़ों लोग रांची होते हुए राज्य के अन्य जिलों में जाते हैं. रांची में पहले से ही एक्टिव केस की संख्या अन्य जिलों के मुकाबले अधिक है. वहीं, अन्य राज्यों से लोग रांची आ रहे हैं. ऐसे में जरा सी लापरवाही एक्टिव केस की संख्या बढ़ा सकती है. लोगों को सख्ती से कोरोना की गाइडलाइन का पालन करना चाहिए.

रांची की पॉजिटिविटी रेट 6.75 फीसदी

राज्य में कोरोना के नये संक्रमितों की संख्या में कमी आने से पॉजिटिविटी रेट कम हुई है, लेकिन रांची जिले में प्रतिदिन नये संक्रमिताें के मिलने से यहां पॉजिटिविटी रेट कम नहीं हो रही है. यहां अब भी स्वस्थ होनेवालों की तुलना में नये मिलनेवाले संक्रमितों की संख्या अधिक है. जिला प्रशासन की ओर से उपलब्ध कराये गये आंकड़ों के मुताबिक रांची जिले में पॉजिटिविटी रेट अब भी 6.75 फीसदी ही है.

यह तस्वीर रांची समाहरणालय स्थित उप परिवहन आयुक्त के कार्यालय का है. यहां सीएनजी ऑटो का परमिट लेने के लिए भीड़ लगी रहती है. अधिकतर लोग मास्क भी नहीं पहने रहते हैं. ऐसी ही लापरवाही कई जगह देखने को मिल जायेगी. इस तरह हम एक बार फिर महामारी को आमंत्रण दे देंगे. इस पर नियत्रंण जरूरी है.

रांची जिला में कोरोना की जांच निजी जांच लैब से भी हाेती है. अन्य जिला के लोग रांची में अाकर जांच कराते हैं, जिससे रांची का आंकड़ा बढ़ता है. गाइडलाइन का पालन कर ही संक्रमण की दर कम की जा सकती है.

- डॉ वीबी प्रसाद, सिविल सर्जन, रांची

Posted By : Sameer Oraon

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें