1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. ranchi
  5. jharkhand corona update 102887 positives have been received so far in the state active case 5021 srn

jharkhand corona update : राज्य में अब तक 1,02,887 पॉजिटिव मिल चुके हैं, एक्टिव केस 5021

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
झारखंड में कोरोना के 1,02,887 पॉजिटिव मरीज मिले
झारखंड में कोरोना के 1,02,887 पॉजिटिव मरीज मिले
प्रभात खबर

रांची : कोरोना से पांच मरीजों की मौत हो गयी है. इनमें रांची व जमशेदपुर से दो-दो तथा पश्चिमी सिंहभूम से एक मरीज शामिल हैं. वहीं, मंगलवार को 397 नये पॉजिटिव मिले हैं. इसके साथ ही राज्य में अब तक 1,02,887 पॉजिटिव मिल चुके हैं. इनमें 96,975 की रिपोर्ट निगेटिव आ चुकी है. 891 की मौत हो चुकी है. इस समय कुल एक्टिव केस 5021 हैं.

नये पॉजिटिव मिले :

रांची से 108, बोकारो से 27, चतरा से तीन, देवघर से 19, धनबाद से 39, दुमका से दो, जमशेदपुर से 76, गढ़वा से आठ, गिरिडीह से चार, गोड्डा से 11, गुमला से 12, हजारीबाग से नौ, जामताड़ा से छह, खूंटी से 13, कोडरमा से नौ, लातेहार से एक, लोहरदगा से छह, पलामू से 12, रामगढ़ से अाठ, साहिबगंज से चार, सरायकेला से छह, सिमडेगा व प. सिंहभूम से सात-सात पॉजिटिव मिले हैं.

490 की रिपोर्ट निगेटिव :

मंगलवार को 490 लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आयी है. इनमें बोकारो से 75, चतरा छह, देवघर 22, धनबाद 82, दुमका एक, जमशेदपुर 35, गढ़वा 10, गिरिडीह 23, गोड्डा चार, गुमला छह, हजारीबाग पांच, जामताड़ा एक, खूंटी नौ, लातेहार एक, लोहरदगा व रामगढ़ 10-10, रांची 156, सरायकेला 14, सिमडेगा नौ व प. सिंहभूम से 11 लोगों की रिपोर्ट निगेटिव है.

25,813 सैंपल की हुई जांच :

राज्य में मंगलवार को 22,679 सैंपल लिये गये, जिनमें 25813 सैंपल की जांच हुई. राज्य में 1.53 प्रतिशत संक्रमित मिले हैं. राज्यभर में अबतक 3473698 सैंपल लिये गये हैं और 3461834 सैंपल की जांच हो चुकी है. इस समय बैकलॉग में 11864 सैंपल हैं.

शिक्षा मंत्री एकमो मशीन पर, दानदाता की तलाश

एमजीएम चेन्नई में भर्ती शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो की स्थिति यथावत है. फेफड़ा विशेषज्ञ डॉक्टरों के परामर्श पर लंग ट्रांसप्लांट करने पर फैसला लिया गया है. ट्रांसप्लांट के लिए चेन्नई में पंजीयन भी करा दिया गया है. ब्रेन डेड दानदाता की तलाश की जा रही है, लेकिन अभी तक कोई दानदाता सामने नहीं आया है. हालांकि अभी चार से पांच दिन पहले ही पंजीयन कराया गया है, इसलिए चिंता की बात नहीं है. डॉ अपार जिंदल ने बताया कि दक्षिण भारत में आसानी से अंग दानदाता मिल जाते हैं. ऐसे में निराश होने की जरूरत ही नहीं है.

50 सिम्टोमैटिक मरीजों को दी जायेगी यूनानी दवा

कोरोना को लेकर दुनिया भर में शोध जारी है. इसी क्रम में आइसीएमआर व आयुष मंत्रालय को झारखंड से भी कोरोना की दवा के लिए प्रस्ताव भेजा गया है. रिम्स के लिए गौरव की बात यह है कि यहां के डॉक्टरों द्वारा भेजा गया प्रस्ताव आयुष मंत्रालय ने स्वीकार कर लिया है. आयुष मंत्रालय ने सीटीवीएस के विभागाध्यक्ष डॉ अंशुल कुमार व क्रिटिकल केयर विशेषज्ञ डाॅ मो सैफ को शोध की जिम्मेदारी दी है. शोध में कोरोना के सिम्टोमैटिक (लक्षण वाले संक्रमित) संक्रमितों को एलोपैथी व यूनानी दवा एक साथ दी जायेगी. शोध के लिए 50-50 सिम्टोमैटिक संक्रमितों को लिया जायेगा. 50 संक्रमितों को सिर्फ एलोपैथिक व 50 को एलोपैथिक व यूनानी (दोनों) दवा दी जायेगी. इसके बाद एलोपैथिक दवा खाने वाले संक्रमित व एलोपैथिक के साथ यूनानी दवा खाने वालों का मूल्याकंन किया जायेगा.

आयुष मंत्रालय को प्रस्ताव भेजा गया था, जो स्वीकार हो गया है. फंड भी आवंटित कर दिया गया है. आवेदन आमंत्रित कर यूनानी के डॉक्टरों को शोध कार्य के लिए जोड़ा जायेगा. इसके बाद सिम्टोमैटिक संक्रमितों पर शोध किया जायेगा. रिजल्ट के आधार पर निर्णय होगा.

posted by : sameer oraon

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें