1. home Home
  2. state
  3. jharkhand
  4. ranchi
  5. bjp mp from ranchi sanjay seth wrote a letter to cm hemant soren regarding the arbitrariness of private schools during the corona period gave this suggestion regarding fee hike grj

कोरोना काल में निजी स्कूलों की मनमानी को लेकर रांची सांसद संजय सेठ ने सीएम हेमंत सोरेन को लिखा पत्र, फीस वृद्धि को लेकर दिया ये सुझाव

रांची में निजी स्कूलों द्वारा पूरा शुल्क लेने व शुल्क में बढ़ोतरी किए जाने को लेकर रांची के सांसद संजय सेठ ने झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को पत्र लिखा है. पत्र में सांसद ने कहा है कि कोरोना संक्रमण काल में हर किसी की जीवनचर्या प्रभावित हुई है. बहुत बड़ी संख्या में ऐसे परिवार हैं, जो आर्थिक रूप से कमजोर हुए हैं. कई परिवारों के समक्ष तो रोजी-रोटी का संकट आ खड़ा हुआ है. ऐसे में सांसद ने सीएम से हस्तक्षेप का आग्रह किया है और निजी स्कूलों को कड़े निर्देश देने की अपील की है. श्री सेठ ने विश्वास जताया है कि इस महत्वपूर्ण मुद्दे पर जनहित में मुख्यमंत्री आवश्यक कदम उठाएंगे.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
रांची के सांसद संजय सेठ
रांची के सांसद संजय सेठ
सोशल मीडिया

Jharkhand News, रांची न्यूज : रांची में निजी स्कूलों द्वारा पूरा शुल्क लेने व शुल्क में बढ़ोतरी किए जाने को लेकर रांची के सांसद संजय सेठ ने झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को पत्र लिखा है. पत्र में सांसद ने कहा है कि कोरोना संक्रमण काल में हर किसी की जीवनचर्या प्रभावित हुई है. बहुत बड़ी संख्या में ऐसे परिवार हैं, जो आर्थिक रूप से कमजोर हुए हैं. कई परिवारों के समक्ष तो रोजी-रोटी का संकट आ खड़ा हुआ है. ऐसे में सांसद ने सीएम से हस्तक्षेप का आग्रह किया है और निजी स्कूलों को कड़े निर्देश देने की अपील की है. श्री सेठ ने विश्वास जताया है कि इस महत्वपूर्ण मुद्दे पर जनहित में मुख्यमंत्री आवश्यक कदम उठाएंगे.

रांची के सांसद संजय सेठ ने पत्र में कहा है कि वर्तमान समय में प्रतिदिन बड़ी संख्या में ऐसे अभिभावक उनके पास आते हैं, जो निजी स्कूलों के द्वारा बढ़ाए गए शुल्क व अन्य मामलों को लेकर काफी परेशान हैं. बीते साल 2020 में जब से कोरोना का संक्रमण काल आया है, स्कूल बंद हैं. बच्चों की ऑनलाइन क्लासेस हो रही है. क्लास ऑनलाइन होने के बावजूद बच्चों से पूरी फीस ली जा रही है. वार्षिक शुल्क के साथ अन्य भी कई प्रकार के शुल्क लिए जा रहे हैं. इतना ही नहीं ऐसे समय में कई स्कूलों ने तो अपना शुल्क भी बढ़ा दिया है.

श्री सेठ ने कहा कि यह ऐसा दौर है, जब हर व्यक्ति, हर परिवार बुरी तरह से हैरान परेशान है. आर्थिक रूप से कमजोर हुआ है. इस विषम परिस्थिति में निजी स्कूलों के द्वारा किया जा रहा यह कार्य बेहद दुखद और चिंतनीय है. रांची सहित पूरे झारखंड के बच्चों और अभिभावकों के हित को देखते हुए उन्होंने सीएम से हस्तक्षेप करने का आग्रह किया है. ऐसे सभी निजी विद्यालयों को कड़े निर्देश देने की आवश्यकता है ताकि विद्यालय बच्चों और अभिभावकों का आर्थिक शोषण नहीं कर सकें. आपसी समन्वय के साथ ऐसी व्यवस्था बनाई जाए जिससे बच्चों की शिक्षा भी जारी रहे और विद्यालय संचालन भी सुचारू रूप से हो सके. इस दिशा में विद्यालय प्रबन्धन, प्रशासनिक अधिकारियों, जनप्रतिनिधियों व अभिभावकों की एक समन्वय समिति बनाकर भी इस समस्या का समाधान निकाला जा सकता है.

Posted By : Guru Swarup Mishra

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें