रांची :नयी टेट नियमावली का विरोध शुरू

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

रांची : झारखंड शिक्षक पात्रता परीक्षा नियमावली (2019) का विरोध शुरू हो गया है. टेट परीक्षा की तैयारी कर रहे विद्यार्थियों ने इसमें संशोधन की मांग को लेकर आंदोलन शुरू कर दिया है.

विद्यार्थियों का कहना है कि नियमावली के किये गये प्रावधान के कारण काफी संख्या में विद्यार्थी परीक्षा में शामिल होने से वंचित हो जायेंगे. इससे विद्यार्थियों में काफी आक्रोश है. विद्यार्थियों ने इसके विरोध में मंगलवार को कैंडल मार्च निकाला. विद्यार्थियों ने बताया कि नियमावली में काफी त्रुटि है. मैट्रिक में अंग्रेजी में पास करना अनिवार्य नहीं है, इसके बाद भी मैट्रिक में अंग्रेजी पास होना अनिवार्य कर दिया गया है.

मैट्रिक व इंटर में क्षेत्रीय व जनजातीय व क्षेत्रीय भाषा में पास होना अनिवार्य किया गया है. जबकि मैट्रिक व इंटर में विद्यार्थियों ने लिए जनजातीय व क्षेत्रीय भाषा पढ़ना अनिवार्य नहीं है. विद्यार्थियों का कहना कि नयी नियमावली में कक्षा एक से पांच की शिक्षक पात्रता परीक्षा के लिए बीएड पास विद्यार्थियों को शामिल होने की अनुमति दी गयी है.

जबकि पूर्व के नियमावली में बीएड सफल अभ्यर्थियों को इसकी अनुमति नहीं दी गयी थी. कक्षा एक से पांच के लिए केवल प्राथमिक शिक्षक प्रशिक्षण परीक्षा सफल अभ्यर्थी को ही पात्रता परीक्षा में बैठने की अनुमति दी गयी थी. विद्यार्थियों का कहना है कि बीएड सफल अभ्यर्थियों को कक्षा एक से पांच की पात्रता परीक्षा में शामिल होने की अनुमति देने से वे भी कक्षा पांच तक के लिए शिक्षक बन सकेंगे.

इससे काफी संख्या में प्राथमिक शिक्षक प्रशिक्षण परीक्षा में सफल अभ्यर्थी शिक्षक बनने से वंचित हो जायेंगे. विद्यार्थियों ने मंगलवार को कचहरी चौक से कैंडल मार्च निकाला. मार्च राजभवन हाेते हुए मोरहाबादी जाकर समाप्त हुई. कैंडल मार्च में काफी संख्या में विद्यार्थी शामिल हुए. विद्यार्थियों का कहना है कि अगर नियमावली में संशोधन नहीं किया गया, तो आने वाले दिनों में आंदोलन को और तेज किया जायेगा.

    Share Via :
    Published Date
    Comments (0)
    metype

    संबंधित खबरें

    अन्य खबरें