झारखंड के 50 हजार किसानों को मिला स्वॉयल हेल्थ कार्ड

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
खेलगांव स्थित हरिवंश टाना भगत स्टेडियम में आयोजित किया गया समारोह
रांची : राज्य भर में करीब 50 हजार किसानों को बुधवार को स्वॉयल हेल्थ कार्ड दिया गया. मुख्य समारोह का आयोजन राजधानी के खेलगांव स्थित हरिवंश टाना भगत स्टेडियम में हुआ. यहां मुख्यमंत्री रघुवर दास ने सांकेतिक रूप से कुछ महिला किसानों को स्वॉयल हेल्थ कार्ड का वितरण किया.
इसके अलावा कुछ महिलाओं (मिट्टी का डॉक्टर) को प्रोत्साहन का चेक दिया गया. महिलाओं को मिट्टी का डॉक्टर का परिचय पत्र भी दिया गया. स्वॉयल हेल्थ कार्ड का किट और मशीन का वितरण भी सांकेतिक रूप से किया गया. 120 मृदा परीक्षक मशीन और 120 रिएजेंट रिफिल का वितरण किया गया. इस मौके पर मिट्टी का डॉक्टर का लोगो भी जारी किया गया. 4367 ग्राम पंचायतों में 8734 मिट्टी के डॉक्टर व 3164 मिट्टी जांच लैब बनाने का लक्ष्य है. समारोह में मुख्यमंत्री ने सखी मंडल के सदस्यों के साथ जमीन पर बैठकर पारंपरिक भोजन का आनंद भी लिया.
अलग पहचान मिल रही है : कार्यक्रम के दौरान अनगड़ा की मिट्टी की डॉक्टर पंचमी देवी ने कहा कि पहले घर का काम के साथ खेती भी करती थी. अब मिट्टी की जांच कर रही हूं. इससे अलग पहचान मिली है. किसानों को जैविक खेती के लिए प्रोत्साहित किया जा रहा है.
अनगड़ा में 450 एकड़ में जैविक खेती हो रही है. ओफाज ने मिट्टी जांच प्रयोगशाला स्थापित किया है. अब तक 586 सैंपल की जांच की गयी है. इससे करीब 63 हजार रुपये प्रोत्साहन राशि मिला है. आॅर्गेनिक एक्सपो में हिस्सा लेने दिल्ली गये थे. वहां हम लोगों के स्टॉल को पहला स्थान मिला है. पार्वती देवी ने कहा कि 16 पोषक तत्व मिट्टी में होते हैं. इसमें 12 की जांच होती है. दिल्ली में लगाये गये स्टॉल में हम लोगों के कार्यों की सराहना मिली. वहां काफी कुछ सीखने का भी मौका मिला.
कृषि मंत्री नहीं हुए शामिल
कृषि मंत्री रणधीर कुमार सिंह को भी समारोह में शामिल होना था. लेकिन अंतिम समय में उनका कार्यक्रम बदल गया. वह क्षेत्र से नहीं आ सके. इस कारण समारोह में शामिल नहीं हुए.
स्टॉलों का निरीक्षण किया
मुख्यमंत्री ने कार्यक्रम में कृषि एवं संबद्ध विभागों द्वारा लगाये गये स्टॉलों का निरीक्षण किया. स्टॉल धारकों से सरकार के स्कीम की जानकारी ली. नामकुम के रामपुर क्लस्टर की सखी मंडल के सदस्यों के साथ बैठ कर उनकी बातें सुनी. सिसिलिया कच्छप ने बताया कि केवल रामपुर क्लस्टर में 8000 सखी मंडल हैं. यह कई स्थानों पर काम के लिए जाती है. आने-जाने में परेशानी होती है. सीएम ने उनको आश्वासन दिया कि एक बस दी जायेगी. इससे महिलाओं की आने-जाने की परेशानी दूर होगी. इसके लिए बैंक का सहयोग लिया जायेगा.
सीएम से किया आग्रह, घर-घर हो कृषि चर्चा
रांची. खेलगांव में आयोजित मृदा स्वास्थ्य कार्ड वितरण समारोह के दौरान मुख्यमंत्री रघुवर दास ने किसानों और महिलाओं के बीच पहुंच कर राज्य की स्थिति की जानकारी ली. इस बीच हेमावती नामक महिला से पूछा कि कहां से आयी हैं. उसने बताया कि वह रवि स्टील कमड़े से आयी है. सीएम ने महिला से राज्य के किसानों के लिए हो रहे काम के बारे में पूछा, तो हेमावती ने कहा कि जिस तरह से हम महिलाएं हर दिन घर-घर में शिव चर्चा करती हैं, उसी प्रकार झारखंड के हर घर में कृषि चर्चा होनी चाहिए. सीएम ने उसकी भावना की प्रशंसा करते हुए काफी सराहना की.
    Share Via :
    Published Date
    Comments (0)
    metype

    संबंधित खबरें

    अन्य खबरें