10 साल में पानी का एक बूंद नहीं मिला, पर बिल आया 30700 का

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

रांची : हरमू हाउसिंग कॉलोनी निवासी पारसनाथ सिन्हा ने पानी का कनेक्शन 10 वर्ष पहले लिया. लेकिन इन 10 वर्षों में एक बूंद पानी भी उन्हें नहीं मिली. ऊपर से रांची नगर निगम ने उन्हें 20,673 रुपये का पानी का बिल भेज दिया. मजे की बात यह है कि नगर निगम ने उनके घर में पानी का मीटर तक नहीं लगवाया है. अब श्री सिन्हा परेशान हैं. नगर अायुक्त से कहा पर कोई सुनवाई नहीं हुई. हार कर मंगलवार को वह पेय जल एवं स्वच्छता मंत्री रामचंद्र सहिस के जनता दरबार में पहुंचे.

आजसू पार्टी के हरमू हाउसिंग कॉलोनी स्थित कार्यालय में राज्य के जल संसाधन, पेयजल एवं स्वच्छता मंत्री रामचंद्र सहिस ने जनता दरबार लगाया गया था. वे श्री सिन्हा की बातों को सुनकर खुद हैरत में पड़ गये. नगर आयुक्त से उन्होंने उसी समय बात करने का प्रयास किया, पर फोन न लगने की वजह से बात नहीं हो पायी. मंत्री ने श्री सिन्हा से कहा कि उन्हें न्याय जरूर मिलेगा. वह नगर विकास मंत्री से भी बात करेंगे.
सबसे ज्यादा शिकायतें पानी की समस्या से जुड़ी : मंत्री द्वारा पहली बार लगाये गये इस जनता दरबार में राज्य के विभिन्न इलाकों से आये फरियादियों की सबसे बड़ी शिकायत पानी को लेकर थी. पेयजल की उपलब्धता सुनिश्चित करने, जल मीनार का निर्माण कराने, चेक डैम बनाने, चापाकल लगाने ,तालाब जीर्णोद्धार कराने, डीप बोरिंग कराने, रोजगार देने, नामांकन कराने, सिंचाई व्यवस्था कराने, लंबे समय से काम कर रहे दैनिक कर्मियों को नियमित करने, पाइपलाइन से जलापूर्ति करने, जलापूर्ति पाइप लाइन का विस्तार करने जैसी समस्याएं लेकर लोग आये थे.
किसने, क्या समस्या रखी : जनता दरबार में जामताड़ा जिले के उमल बनी पंचायत के अमला चातर गांव के दीपक महतो पीने की पानी की समस्या, बुंडू से आये शशिकांत प्रमाणिक ने नियुक्ति संबंधी समस्या रखी.
हिनू के रहनेवाले नितिन राज ने पाइप लाइन का विस्तार करने, नावाडीह प्रखंड के आहरडीह गांव से आए मोहन महतो ने चापाकल लगाने,अनगड़ा हेसला बेड़ा गांव के महेंद्र महतो डीप बोरिंग कराने, बालूमाथ के हेमना गांव के सकेंद्र महतो ने खर्चा हारा तालाब का जीर्णोद्धार कराने, पहाड़ी टोला कुम्हार टोली के जगदीश वर्मा ने पाइपलाइन से अनियमित जलापूर्ति की समस्या रखी. मौके पर आजसू पार्टी के केंद्रीय प्रवक्ता डॉ देवशरण भगत भी उपस्थित थे.
पहली बार मंत्री रामचंद्र सहिस ने लगाया जनता दरबार
बड़ी संख्या में पानी की समस्या लेकर पहुंची थी जनता
जल को बनाया नहीं पर बचाया जा सकता है : मंत्री
मंत्री रामचंद्र सहिस ने कहा कि जो समस्याएं व शिकायतें हमारे समक्ष आयीं, उनका समाधान और निदान किया जायेगा. प्रत्येक मंगलवार को जनता दरबार लगाये जाने की बात उन्होंने कही. उन्होंने कहा कि जल बनाया नहीं जा सकता है. जल बचाया जा सकता है.
वर्षा जल को ज्यादा से ज्यादा संरक्षित करने की आवश्यकता है. हमारा प्रयास रहेगा की शुद्ध पेयजल एवं स्वच्छ परिवेश लोगों को दें और लोगों का भी यह दायित्व व जिम्मेदारी है कि जो सरकार की योजना है, उसमें उनकी सकारात्मक भागीदारी हो. उन्होंने कहा कि दिन प्रतिदिन भूगर्भीय जल का दोहन व शोषण हो रहा है और उस हिसाब से रिचार्ज नहीं हो रहा है. सरकार गंभीर है.
Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें