जमीन लूटने के लिए आदिवासियों को टारगेट कर रही है सरकार : कांग्रेस

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
रांची : पूर्व शिक्षा मंत्री गीताश्री उरांव ने कहा कि राज्य में आदिवासियों और मूलवासियों के साथ लगातार अन्याय हो रहा है. आदिवासियों को अपमानित करने वाले अधिकारियों को सरकार संरक्षण दे रही है. भाजपा पदाधिकारी भी आदिवासियों के साथ दुर्व्यवहार कर रहे हैं.
इसी कड़ी में लातेहार के डीटीओ फिलबियूस बारला के साथ मारपीट की गयी है. अधिकारियों में भाजपा कार्यकर्ताओं का खौफ साफ देखा जा सकता है. राज्य में आदिवासियों को टारगेट कर उनकी जमीन लूटने की योजना बनायी जा रही है. इसी वजह से फर्जी कंपनी भारत प्रतिभा संस्थान को एक रुपये में 62 एकड़ जमीन दे दी गयी.
श्रीमती उरांव ने कहा कि पिछले दिनों गुमला जिला के भरनों में हुई वाहन दुर्घटना में 13 लोगों की मौत ने सरकार की संवेदनहीनता की पोल खोल दी है. भाजपा के केंद्रीय मंत्री सुदर्शन भगत घटना स्थल के पास से गुजरे, लेकिन रुक कर घटना की जानकारी तक लेना जरूरी नहीं समझा.
उपायुक्त ने समुचित मुआवजा का आश्वासन देकर मृतकों के परिजनों को केवल 50 हजार रुपये का मुआवजा दिया. उन्होंने कहा कि भाषायी शिक्षकों की कमी के कारण राज्य की जनजातीय भाषाओं का विकास नहीं हो रहा है. सरकार आरएसएस की गाइड लाइन पर चलते हुए लगातार जनजातीय भाषाओं के साथ भेद-भाव कर रही है. वंचितों का अधिकार छीन रही है. पूरे सिस्टम पर बिचौलिये हावी हैं. धान क्रय केंद्र का लाभ किसानों को नहीं मिल रहा है. मौके पर सूर्यकांत शुक्ला, लाल किशोर नाथ शाहदेव, राजेश ठाकुर मौजूद थे.
    Share Via :
    Published Date
    Comments (0)
    metype

    संबंधित खबरें

    अन्य खबरें