लीड) प्रेम-प्रसंग में हुई मुकेश की हत्या

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
20बीएचयू-1-हत्या में प्रयोग किया गया पत्थर, 2-हिरासत में ली गयी युवती, 3-बरामद साइकिल व बोरा, 4-मुकेश की फाइल फोटो, 5-प्रेस कांफ्रेंस में खुलासा करते एसपी व अन्य, 6-सूचना पाकर थाने के बाहर जुटे ग्रामीण.फ्लैग- खुलासा-दो आरोपी समेत एक युवती ने स्वीकारा सच कातिलों ने शव को मालगाड़ी में डाल दिया पत्थर से कूच कर की थी हत्या 15 अगस्त से लापता था मुकेश नहीं मिल सका है मुकेश का शव.भदानीनगर.पतरातू प्रखंड के निम्मी गांव से 15 अगस्त से लापता मुकेश महतो की हत्या हो गयी है. यह सनसनीखेज खुलासा रामगढ़ एसपी रंजीत प्रसाद ने बुधवार को भदानीनगर ओपी में प्रेस कांफ्रेंस में किया. एसपी ने बताया कि मुकेश की हत्या प्रेम -प्रसंग में हुई है. हिरासत में लिये गये आरोपी निम्मी गांव के प्रेमचंद बेदिया व देवानंद बेदिया ने अपना जुर्म कबूल कर लिया है. 15 अगस्त को मुकेश की हत्या दोनों आरोपियों ने निम्मी गांव के समीप गला दबा कर कर दी. इसके बाद पत्थर से उसके चेहरे को कुचल दिया. शव को पास की झाड़ी में छिपा दिया था. देर शाम होने पर शव को बोरे में बंद कर साइकिल से भुरकुंडा रेलवे स्टेशन के पास लादी मैदान पहुंचे. यहां खड़ी मालगाड़ी में शव को बोरे से निकाल का रख दिया. बाद में बोरे को मतकमा चौक के पास ललकी पुल के नीचे नाले में फेंकने के बाद दोनों अपने गांव निम्मी लौट गये. पुलिस ने शव की बरामदगी के लिए आरपीएफ की भी मदद मांगी है. पुलिस ने हत्या में प्रयोग किये गये पत्थर, बोरा, साइकिल आदि को बरामद कर लिया है. प्रेस कांफ्रेंस में डीएसपी मजरूल होदा, इंस्पेक्टर गिरीश दत्त मिश्रा, ओपी प्रभारी सुधीर कुमार चौधरी, सअनि राम विनोद सिंह मौजूद थे. क्या थी हत्या की वजह : कांफ्रेंस में एसपी ने कहा कि मुकेश, प्रेमचंद व देवानंद गहरे दोस्त थे. हिरासत में ली गयी युवती प्रेमचंद की प्रेमिका है. नौ अगस्त को मुकेश ने इस युवती के साथ शारीरिक संबंध बनाया था. इससे पहले भी एक बार संबंध बना चुका था. युवती ने इसकी जानकारी अपने प्रेमी प्रेमचंद को दी. इसके बाद प्रेमचंद, देवानंद, मुकेश व युवती ने बैठक कर मामले को सुलझा लिया. पुराने गिले-शिकवे को भुला दिया गया. 15 अगस्त से पहले प्रेमचंद अपनी प्रेमिका के साथ वक्त बिताने के बाद उसे छोड़ने चिकोर गांव जा रहा था. लेकिन अंधेरा होने के कारण उसने जाने से पहले मुकेश का मोबाइल फोन मांग लिया. जब प्रेमचंद युवती को छोड़ कर वापस घर लौट रहा था, तभी मुकेश के मोबाइल पर (जो उस वक्त प्रेमचंद के पास था) पर युवती का फोन आया. प्रेमचंद ने इसे रिसीव किया. इसके बाद मुकेश के प्रति प्रेमचंद नफरत से भर गया. इसके बाद प्रेमचंद ने अपने दोस्त देवानंद के साथ मिल कर मुकेश की हत्या की साजिश रची.पिता ने जताया था प्रेमचंद व देवानंद पर शक: मुकेश के लापता होने के बाद इसके पिता नंदू बेदिया ने प्रेमचंद व देवानंद को आरोपी बनाते हुए प्राथमिकी दर्ज करायी थी. पुलिस ने इन आरोपियों व मुकेश के मोबाइल कॉल डिटेल को खंगाला. इसके बाद पुख्ता सबूत हाथ लगे. मालूम हो कि मुकेश की बरामदी के लिए ग्रामीणों ने कई बार पुलिस पर दबाव भी बनाने का काम किया था. इसके बाद पुलिस कार्रवाई में जुटी थी.
    Share Via :
    Published Date
    Comments (0)
    metype

    संबंधित खबरें

    अन्य खबरें