बुनियाद प्रशिक्षण गुणवत्तायुक्त शिक्षा में मील का पत्थर साबित होगा

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
लोहरदगा : किस्को प्रखंड में बुनियाद प्रशिक्षण के मूलतत्व एवं इसके महत्व की जानकारी दी गयी. राज्य साधन सेवी किशोर कुमार वर्मा ने कहा कि प्रशिक्षण के बाद का मूल्यांकन लिया जाना है. मूल्यांकन निष्पक्ष किया जायेगा ताकि प्रशिक्षणार्थियों की समझ कहां तक विकसित हो पायी है और कहां पर कमी है उसकी जिला और राज्य को सूचना दी जा सकेगी. प्रशिक्षण के बाद सभी प्रतिभागियों को एक-एक हैंड बुक दिया जो स्कूलों में ट्रांजक्शन करने और गुणवत्तायुक्त शिक्षा दिलाने में काफी लाभप्रद होगा. मौके पर प्रशिक्षण के उद्देश्यों को बताते हुए किशोर वर्मा ने शिक्षकों से कहा कि यह प्रशिक्षण पिछले प्रशिक्षण से भिन्न है और ये गुणवत्तायुक्त शिक्षा में मील का पत्थर साबित होगा. उन्होंने कहा कि आठ दिवसीय गैर आवासीय प्रशिक्षण का मंगलवार को अंतिम दिन है.
प्रशिक्षण में बीपीओ इंदु अग्रवाल, सीआरपी धर्मेंद्र सोनी की भूमिका महत्वपूर्ण रही. मौके पर प्रशिक्षक रंजीत उरांव, लालदेव भगत,मो असलम अंसारी, अभिषेक कुजूर सहित प्रशिक्षणार्थियों में अनुसुन्न तिर्की, दीपक रॉय, राजेश कसेरा, बिगंबर मुंडा, अजय उरांव, सुशीला कुजूर, नीलम नूतन टोप्पो, एतवा मुंडा, त्रिवेणी नागेसिया, जगमोहन महली, रेनु गुप्ता, विलचेन बाखला, रामेश्वर भगत, सिप्रियन सुरीन सहित अन्य शिक्षक मौजूद थे.
    Share Via :
    Published Date
    Comments (0)
    metype

    संबंधित खबरें

    अन्य खबरें