1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. jpsc result kaushik of koderma chetan of kedla and babita of bundu got success know about them smj

JPSC Result: कोडरमा के कौशिक, केदला के चेतन और बुंडू की बबिता को मिली सफलता, इनके बारे में जानें

झारखंड लोक सेवा आयोग ने 7वीं से 10वीं सिविल सेवा में कोडरमा, हजारीबाग और रांची जिले के युवाओं ने भी बेहतर प्रदर्शन किया है. कोडरमा के कौशिक अप्पू, हजारीबाग के चेतन कुमार शर्मा और बुंडू की बबीता कुमारी सफल हुई है.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Jharkhand news: कोडरमा के छोटकीबागी निवासी कौशिक अप्पू के सफल होने पर मिठाई खिलाती मां और परिजन.
Jharkhand news: कोडरमा के छोटकीबागी निवासी कौशिक अप्पू के सफल होने पर मिठाई खिलाती मां और परिजन.
प्रभात खबर.

JPSC Result 2021: झारखंड लोक सेवा आयोग की सातवीं से दसवीं सिविल सेवा परीक्षा का परिणाम आ गया है. कोडरमा के कौशिक अप्पू ने 98वीं रैंक, चेतन कुमार शर्मा ने 106वीं रैंक और बबीता कुमारी पारिवारिक जीवन में रहकर झारखंड शिक्षा सेवा के अधिकारी बनी है.

कोडरमा के कौशिक को मिली सफलता

कोडरमा जिला मुख्यालय स्थित सहाना रोड छोटकीबागी निवासी पंकज कुमार बनर्जी के पुत्र कौशिक अप्पू को 98वीं रैंक प्राप्त हुई है. कौशिक को सामाजिक सुरक्षा जैसे महत्वपूर्ण विभाग मिला है. कौशिक अप्पू के पिता सेवानिवृत्त आर्मी हैं, जबकी उनकी मां अनुराधा चक्रवर्ती राजकीय प्राथमिक विद्यालय हरि सभा, कोडरमा में टीचर है. कौशिक की दो बड़ी बहनें है. कौशिक ने इस सफलता का श्रेय माता-पिता ,चाचा-चाची समेत पूरे परिवार को दिया है. उन्होंने मैट्रिक तक कि शिक्षा संत क्लेयर्स, 12वीं की शिक्षा गुरु गोविंद सिंह पब्लिक स्कूल, बोकारो और स्नातक तथा बीएड की शिक्षा जेजे कॉलेज से किया. वर्तमान में मॉडर्न पब्लिक स्कूल, झुमरीतिलैया में बतौर सहायक शिक्षक कार्य करते हुए यूपीएससी की तैयारी की.

Jharkhand news: इंडियन रेलवे में कार्यरत केदला के चेतन कुमार शर्मा को जेपीएससी में मिली सफलता.
Jharkhand news: इंडियन रेलवे में कार्यरत केदला के चेतन कुमार शर्मा को जेपीएससी में मिली सफलता.
प्रभात खबर.

केदला के चेतना शर्मा ने 106वीं रैंक लाकर क्षेत्र का नाम किया रोशन

हजारीबाग जिला अंतर्गत केदला नौ नंबर मैन चौक निवासी गंदोरी शर्मा के घर खुशियों की बहार लेकर आयी है. उनका बड़े पुत्र चेतन कुमार शर्मा ने 106वीं रैंक लाकर कोयलांचल का नाम रोशन किया है. परिणाम आने के बाद से शर्मा परिवार के घर बधाई देने वालों की तांता लगी हुई है. चेतन कुमार शर्मा ने मैट्रिक की पढ़ाई केएन हाई स्कूल, इचाक से की थी. स्नातक की पढ़ाई संत जेवियर कॉलेज, हजारीबाग से किया. चेतन कुमार शर्मा का झारखंड नियोजनालय सेवा में चयन हुआ है. इससे पूर्व भी चेतन का जेपीएससी में चयन हुआ था, पर कई खामियों के कारण इसका मामला झारखंड हाईकोर्ट में विचाराधीन है.

इंडियन रेलवे में काम करते हुए जेपीएससी में पायी सफलता

चेतन शर्मा पिछले 11 साल से इंडियन रेलवे में कार्यरत हैं. इन दिनों बैंगलुरु में कार्यरत हैं. पिता केदला नगर में श्रृंगार एवं मिठाई के दुकान चलाते हैं. चेतन के पिता गंदोरी शर्मा ने कहा कि गरीबी को बहुत करीब से देखा है. इसके बावजूद अपने बच्चों का उच्च शिक्षा देने में कई कमी नहीं की. कड़ी मेहनत का परिणाम आज देखने को मिला है. पुत्र ने अपनी काबिलियत के बल पर क्षेत्र का नाम रोशन किया है. वहीं, चेतन कुमार शर्मा ने कहा कि माता-पिता के आशीर्वाद ने हमें इस मुकाम तक पहुंचाने का काम किया. जब तक मां व पिता के आपके सर पर हाथ नहीं हो तो, आप अपनी कामयाबी तक नहीं पहुंच सकते है. उन्होंने में अपने माता व पिता इस मुकाम तक पहुंचने का श्रेय दिया है.

Jharkhand news: रांची के बुंडू निवासी बबिता कुमारी झारखंड शिक्षा सेवा वर्ग में चयनित.
Jharkhand news: रांची के बुंडू निवासी बबिता कुमारी झारखंड शिक्षा सेवा वर्ग में चयनित.
प्रभात खबर.

बुंडू की बबीता बनेगी झारखंड शिक्षा सेवा अधिकारी

इधर, रांची जिला अंतर्गत बुंडू प्रखंड अंतर्गत सुटीलोंग गांव निवासी बबिता कुमारी जेपीएससी की परीक्षा में उत्तीर्ण होकर झारखंड शिक्षा सेवा के लिए चयनित हो गई है. इनके पिता राजेंद्र सिंह मुंडा सेवानिवृत्त शिक्षक हैं. इनके पति डॉ राकेश कुमार एमजीएम हॉस्पिटल, जमशेदपुर में कार्यरत हैं. बबीता कुमारी की प्रारंभिक शिक्षा डीएवी स्कूल, लोहरदगा में हुई. इसके बाद इंदिरा गांधी आवासीय विद्यालय, हजारीबाग से मैट्रिक की परीक्षा पास की. डीएवी श्यामली से इंटर और संत जेवियर इंटर कॉलेज, रांची से ग्रेजुएशन की है.

शिक्षक की बेटी शिक्षा सेवा में हुई चयनित

बबीता कुमारी का चयन झारखंड प्रशासनिक शिक्षा सेवा के रूप में किया गया है. पारिवारिक जीवन में रहकर दाे वर्षीय बच्चे के साथ रहते हुए पढ़ाई कर इस मुकाम को हासिल किया. जनजाति मुंडा समाज से जुड़े साधारण परिवार से शिक्षक की बेटी से शिक्षा सेवा में चयनित होने से गांव में खुशी का माहौल बना हुआ है. उन्होंने अपने संदेश में कहा है कि लड़का-लड़की में कोई अंतर नहीं है. लड़की को भी अपनी जिंदगी के लिए मेहनत कर लक्ष्य हासिल करनी चाहिए.

रिपोर्ट : कोडरमा से गौतम राणा, हजारीबाग के केदला से वकील चौहान और बुंडू से आनंद राम महतो.

Prabhat Khabar App :

देश-दुनिया, बॉलीवुड न्यूज, बिजनेस अपडेट, मोबाइल, गैजेट, क्रिकेट की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

googleplayiosstore
Follow us on Social Media
  • Facebookicon
  • Twitter
  • Instgram
  • youtube

संबंधित खबरें

Share Via :
Published Date

अन्य खबरें