1. home Home
  2. state
  3. jharkhand
  4. gumla
  5. rain became a disaster in gumla two dozen houses collapsed people in trouble srn

गुमला में बारिश बनी आफत, दो दर्जन घर ध्वस्त, मुसीबत में पड़े लोग

गुमला जिले में चार दिनों से बारिश हो रही है. बारिश से 30 से अधिक घर ध्वस्त हो गये. घर गिरने के बाद कई परिवार दूसरे लोगों के घरों में शरण लिये हुए हैं.

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
गुमला में बारिश बनी आफत
गुमला में बारिश बनी आफत
प्रभात खबर.

गुमला : गुमला जिले में चार दिनों से बारिश हो रही है. बारिश से 30 से अधिक घर ध्वस्त हो गये. घर गिरने के बाद कई परिवार दूसरे लोगों के घरों में शरण लिये हुए हैं. जिले की सभी छोटी-बड़ी नदियां उफान पर है.

दक्षिणी कोयल, शंख, लावा, बासा नदी का जलस्तर काफी बढ़ गया है. वहीं दूरस्थ गांव की नदियों में पुल नहीं रहने के कारण करीब 150 गांव टापू हो गये हैं. बिशुनपुर प्रखंड के बनालात बरटोली के किसान किशुन उरांव के चार मवेशी घाघरा नदी में बह गये. इसमें तीन मवेशी नहीं मिले. बिशुनपुर प्रखंड के घाघरा नदी में राशन लदा ऑटो बह गया. राशन गरीब लाभुकों के बीच बांटने वाला था. नदी में ऑटो बहने के बाद ऑटो नहीं मिला है. वहीं लगातार बारिश से लोग मुसीबत में हैं. गरीब परिवारों की जीविका पर असर पड़ा है.

नदी में पानी का जलस्तर बढ़ गया है. ग्रामीण लगातार बारिश से होने के परेशान हैं. वहीं तीन दिनों से बिजली सेवा ठप हो गयी है.

चैनपुर : बारिश से जनजीवन अस्त-व्यस्त : चैनपुर प्रखंड में लगातार बारिश ने जनजीवन अस्त व्यस्त कर दिया है. नदियों का जलस्तर बढ़ गया है. सड़कों पर पेड़ गिरे, तो किसी का घर गिर गया है. प्रखंड के बासा नदी, सफी नदी, कुंदई नदी, शंख नदी खतरे के निशान से ऊपर बह रही है.

पालकोट : बारिश से घर क्षतिग्रस्त : पालकोट प्रखंड में लगातार बारिश से मुस्लिम टोली निवासी मोहम्मद सगीर मियां का मकान क्षतिग्रस्त हो गया. सगीर मियां ने बताया मकान ध्वस्त होने से बहुत कठिनाई का सामना करना पड़ रहा है. उन्होंने प्रखंड प्रशासन से मुआवजे की मांग की.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें