1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. gumla
  5. mother yearning to meet daughter in gumla

बेटी से मिलने के लिए तड़प रही मां

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
  • गरीबी के कारण मां अपनी बेटी को लाने में असमर्थ है

  • मां ने गुमला प्रशासन से बेटी को लाने की लगायी गुहार

गुमला : बच्चों से दूर रहने की तड़प सिर्फ एक मां ही जानती है. ऐसा ही एक मामला गुमला जिला के चैनपुर प्रखंड के बेंदोरा बसेरटोली गांव का है. इस गांव में एक वृद्ध मां चार सालों से अपनी बेटी से मिलने के लिए तड़प रही है. बेटी पंजाब में फंसी हुई है. फिलहाल युवती पंजाब के एक आश्रम में है. जानकारी के अनुसार, बसेरटोली गांव की कामिल देवी की बेटी सोकती कुमारी चार साल पहले घर से निकली थी. इसके बाद वह नहीं लौटी, तब से कामिल देवी अपनी बेटी को खोज रही है. पुलिस व सीडब्ल्यूसी की पहल के बाद सोकती के पंजाब में फंसे होने की जानकारी मिली है. परंतु गरीबी के कारण कामिल देवी अपनी बेटी को पंजाब जाकर लाने में असमर्थ है, इसलिए उन्होंने गुमला प्रशासन से अपनी बेटी को पंजाब के आश्रम से लाने की गुहार लगायी है. कामिल देवी ने कहा है कि कोई तो मेरी बेटी को पंजाब से ला दो, ताकि मैं उसे देख सकूं.

इस प्रकार सोकती की हुई तलाश

सोकती कुमारी की तलाश उसकी मां व भाई-बहन चार सालों से कर रहे हैं. पिता का निधन हो गया है. बेटी की तलाश में कामिल देवी ने चैनपुर थाना से संपर्क किया. बेटी को खोज निकालने की गुहार लगायी. इसके बाद पुलिस ने सोकती की खोज शुरू की. चैनपुर पुलिस ने सोकती के गायब होने की जानकारी सीडब्ल्यूसी गुमला को दी. इसके बाद सीडब्ल्यूसी व पुलिस ने संयुक्त तलाश शुरू की. पता चला कि पंजाब के एक आश्रम में चैनपुर बसेरटोली की एक युवती है, जिसका नाम सोकती है. पंजाब आश्रम से सोकती का फोटो व्हाट्सअप के माध्यम से भेजा गया. परिजन फोटो देख कर सोकती को पहचान गये.

कैसे गायब हुई, अभी भी रहस्य

सोकती कुमारी कैसे पंजाब पहुंची? अभी भी सवाल है. कोई मानव तस्कर ले गया या फिर खुद वह पंजाब चली गयी. जबतक युवती पंजाब से वापस गुमला नहीं आती है, इसका खुलासा नहीं हो सकता. परिवार के समक्ष पंजाब जाकर सोकती को लाने में गरीबी व आर्थिक समस्या बाधा बनी है. ऐसे में प्रशासन से ही पहल करने की उम्मीद है.

फुलकुमारी को ढूंढ़ नहीं सका प्रशासन

फुलकुमारी, जो कि गुमला करौंदी की थी, वह भी पंजाब में थी. प्रभात खबर ने प्रशासन को बताया था कि फुलकुमारी पंजाब में है. गुमला से अधिकारी पंजाब गये, परंतु घूम फिर कर वापस आ गये. फुलकुमारी को नहीं ला सके, क्योंकि फुलकुमारी मानसिक रोगी थी. जिस थाना में वह थी, वहां से वह निकल गयी थी. परंतु अभी प्रशासन के लिए अच्छा समय है. एक मां को उसकी बेटी से मिलाने का. अगर गुमला डीसी व एसपी इस पर त्वरित कार्रवाई करते हैं, तो पंजाब से सोकती को गुमला लाया जा सकता है.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें