लीड ::7::: शिक्षक हत्याकांड के तीन आरोपी गिरफ्तार

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
दोहरे शिक्षक हत्याकांड का उदभेदनमास्टर माइंड सुकरा उरांव सहित तीन अपराधी अभी भी पुलिस गिरफ्त से दूर18 गुम 28 में प्रेस कांफ्रेंस में पुलिस अधिकारी18 गुम 30 में जानकारी देते एसपीदुर्जय पासवान, गुमलाशिक्षक प्रकाश टोप्पो व उनकी शिक्षिका बहन सरोज टोप्पो के अपहरण के बाद हत्या मामले की पुलिस ने उदभेदन कर लिया है. इस मामले में पुलिस ने तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है. इनमें कोटाम के सतीश सिंह उर्फ चोन्हे, गुमला के बलराम उरांव व कोटाम के विक्रम सिंह शामिल हैं. पुलिस ने फिरौती के 15 हजार रुपये भी बरामद किये हैं. इस हत्याकांड के अन्य तीन आरोपी अभी भी फरार हैं. इनमें अपहरण के मास्टर माइंड कोटाम निवासी सुकरा उरांव, सुनील उरांव उर्फ बिरसाई उरांव व जोकारी के अमित सिंह है. पुलिस फरार आरोपियों को पकड़ने के लिए अभियान चला रही है. एसपी भीमसेन टुटी ने सदर थाना परिसर में आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में बताया कि हत्या के बाद से पुलिस ने मामले का अनुसंधान शुरू किया. इसके लिए रांची से रोजी नामक खोजी कुत्ता मंगवाया गया. जिनके प्रयास से पुलिस दोहरे शिक्षक हत्याकांड के आरोपियों तक पहुंची और तीन लोगों को गिरफ्तार किया है. एसपी ने कहा कि इस घटना का मास्टर माइंड सुकरा अभी भी पुलिस गिरफ्त से दूर है. जिसे बहुत जल्द पकड़ लिया जायेगा. आरोपियों को पकड़ने में जिले के सभी थाना की पुलिस लगी हुई थी. यहां बता दें कि शिक्षक भाई बहन का अपहरण छह अगस्त को हुआ था. तीन लाख रुपये फिरौती लेने के बाद उसी दिन दोनों की हत्या कर दी गयी थी. लेकिन शव नौ अगस्त को मिला था.रोजी कुत्ते के सहारे पुलिस आरोपियों तक पहुंचीएसपी ने बताया कि दोहरे शिक्षक हत्याकांड के खुलासे में रांची से मंगाये गये रोजी नामक खोजी कुत्ता का योगदान है. रूकी घाटी से जब शव मिला, तो रोजी सूंघते हुए जोकारी गांव अमित सिंह के घर पहुंच गया. जहां से पुलिस ने अनुसंधान शुरू किया. इसके बाद कोटाम गांव से हत्या के तार जुड़े मिले. अनुसंधान में पता चला कि आरोपियों ने फिरौती की रकम जुआ में हार गये थे. जिन लोगों ने पैसे जीते थे. उनसे पुलिस पूछताछ की. सुराग खोजते हुए पुलिस आरोपियों तक पहुंची और पूरे मामले का खुलासा किया गया. एक सप्ताह तक पुलिस की नींद उड़ी रहीहत्या के बाद पुलिस लगातार अभियान चलाती रही. एक सप्ताह अपराधियों को पकड़ने में लगी. इस दौरान कई थाना के थाना प्रभारी रात को सो नहीं सके. क्योंकि रातभर उन्हें छापामारी अभियान में रहना पड़ा. गुमला के अनिल शर्मा, घाघरा के पंकज कुमार सिंह, बिशुनपुर के मनीलाल राणा, रायडीह के राजीव रंजन व सिसई के विद्या शंकर ने अपराधियों को पकड़ने के लिए कई रात जाग कर सुबह किया है.दोहरे शिक्षक हत्याकांड से महत्वपूर्ण बातें :: छह अगस्त को बंसरी स्कूल से अपने घर गुमला आने के क्रम में टोटो से प्रकाश टोप्पो का अपहरण हुआ.: छह अगस्त की देर रात को फिरौती की रकम लेकर गयी उसकी बहन सरोज टोप्पो को बंधक बना लिया.: सात अगस्त को रूकी घाटी से प्रकाश की बाइक व पासबुक मिला.: सात अगस्त से जिले के सभी शिक्षक आंदोलन पर उतर आये.: आठ अगस्त को अपह्रत शिक्षकों को खोजने के लिए शिक्षक रूकी घाटी गये.: आठ अगस्त से पुलिस ने छापामारी अभियान शुरू किया.: नौ अगस्त को रूकी घाटी से शिक्षक भाई-बहनों का शव मिला.: शव मिलने के बाद शिक्षक सड़क पर उतर आये, स्कूल बंद करा दी.
    Share Via :
    Published Date
    Comments (0)
    metype

    संबंधित खबरें

    अन्य खबरें