1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. dhanbad
  5. kovid 19 hospital arrangement to be changed in 15 days comprehensive improvement in these facilities prt

15 दिनों में बदलेगी कोविड-19 अस्पताल की व्यवस्था, इन सुविधाओं में व्यापक सुधार

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
15 दिनों में बदलेगी कोविड-19 अस्पताल की व्यवस्था
15 दिनों में बदलेगी कोविड-19 अस्पताल की व्यवस्था
Prabhat Khabar

धनबाद : कोविड-19 (सेंट्रल) अस्पताल को बेहतर बनाया जायेगा. आधारभूत संरचना सहित अन्य सुविधाओं में व्यापक सुधार होगा. इस कार्य में जिला प्रशासन बीसीसीएल प्रबंधन का सहयोग करेगा. अस्पताल के शौचालय दुरुस्त होंगे. संपूर्ण परिसर की साफ-सफाई, शुद्ध पेयजल की आपूर्ति, सैनिटाइजेशन की व्यवस्था की जाएगी. इसके साथ ही कुछ सिविल वर्क कराकर इसे बेहतर बनाया जायेगा.

यह निर्णय मंगलवार को उपायुक्त-सह-अध्यक्ष जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकार उमा शंकर सिंह व बीसीसीएल के निदेशक (कार्मिक) मल्लिकार्जुन राव के बीच कोविड-19 अस्पताल में इलाज की समीक्षा को लेकर हुई बैठक में लिया गया. उपायुक्त ने कहा कि जिला प्रशासन और बीसीसीएल आपसी सहयोग से वैश्विक महामारी के विरुद्ध जारी जंग में बेहतर भूमिका निभा सकते हैं. जिला प्रशासन लोगों के स्वास्थ्य की चिंता को लेकर गंभीर है. एक पखवारा में 700 बेड के अस्पताल तैयार कर लिये गये हैं. प्रशासन ने गंभीर मरीजों के लिए 15 दिनों में पीएमसीएच में 30 बेड का आइसीयू तैयार किया है.

कौन-कौन थे मौजूद : बैठक में वरीय पुलिस अधीक्षक असीम विक्रांत मिंज, उप विकास आयुक्त दशरथ चंद्र दास, अपर समाहर्ता श्याम नारायण राम, अनुमंडल दंडाधिकारी सुरेंद्र कुमार, सिविल सर्जन डॉ गोपाल दास, नितिन कुमार, संजय कुमार सहित कई अधिकारी उपस्थित थे.

  • जिला प्रशासन व बीसीसीएल का गतिरोध समाप्त, आधारभूत संरचनाएं होंगी दुरुस्त

  • अगले तीन दिनों तक कोई मरीज नहीं होगा भर्ती : डीसी

  • आपदा से निबटने में कंपनी करेगी सहयोग : डीपी

एमपीएल के सहयोग से बन रहा 300 बेड का नया अस्पताल : डीसी ने कहा कि मैथन पावर लिमिटेड के सहयोग से 300 बेड का एक और अस्पताल तैयार किया जा रहा है. इसी कड़ी में कोविड-19 अस्पताल में व्यवस्था को बेहतर बनाने के लिए प्रशासन ने बीसीसीएल का साथ देने तथा जिला प्रशासन एवं बीसीसीएल के मानव बल को एक सूत्र में बांधने का निर्णय लिया है. कोविड-19 अस्पताल में अगले तीन दिनों तक कोई नया मरीज नहीं भेजा जायेगा. गंभीर मरीजों का पीएमसीएच के आइसीयू में इलाज कराया जायेगा. स्वस्थ हुए अन्य मरीजों को डिस्चार्ज कर कार्य शुरू कर 15 दिनों में इस अस्पताल को बेहतर बना दिया जायेगा.

लापरवाही बर्दाश्त नहीं होगी : निदेशक कार्मिक : बीसीसीएल के निदेशक (कार्मिक) मल्लिकार्जुन राव ने कहा कि आपदा की घड़ी में बीसीसीएल हमेशा जिला प्रशासन के साथ रहेगा. बीसीसीएल किसी भी परिस्थिति से समझौता नहीं करेगा. अस्पताल के मेडिकल इन्फ्रास्ट्रक्चर को बेहतर बनाने की दिशा में हर कारगर कदम उठायेगा. उन्होंने कोविड-19 अस्पताल में भर्ती होने वाले मरीजों की जांच के लिए सीआइएसएफ को तैनात करने का भी प्रस्ताव दिया.

सुधार के लिए संयुक्त टीम गठित : धनबाद. उपायुक्त के निर्देश पर कोविड-19 अस्पताल में मेडिकल इंफ्रास्ट्रक्चर सहित मूलभूत सुविधाओं का विस्तार करने के लिए मंगलवार को जिला प्रशासन एवं बीसीसीएल पदाधिकारियों की आठ सदस्यीय टीम का गठन किया गया. टीम में अनुमंडल दंडाधिकारी सुरेंद्र कुमार, एचओडी सिविल बीसीसीएल डीएन मोहंती, महाप्रबंधक (प्रशासन) एसके सिंह, सीनियर मैनेजर (वित्त) राजेश कुमार सिंह, सीएमओ बीसीसीएल डॉ के दासगुप्ता, नोडल पदाधिकारी आइडीएसपी सेल डॉ राजकुमार सिंह, टीम लीडर डीएमएफटी नितिन कुमार एवं प्रोजेक्ट मैनेजर डीएमएफटी टीम शुभम सिंघल सदस्य बनाये गये. टीम 16 सितंबर को कोविड-19 अस्पताल का भौतिक निरीक्षण कर वहां मूलभूत सुविधाओं के लिए विस्तृत कार्य योजना पर रिपोर्ट तैयार कर उपायुक्त को उपलब्ध करायेगी.

लापरवाही मामले में डॉक्टरों पर कार्रवाई तय : कोविड अस्पताल में मरीजों के उपचार में लापरवाही के मामले में कुछ डॉक्टरों पर गाज गिरनी तय है. बीसीसीएल प्रबंधन ने ऐसे डाॅक्टरों को चिह्नित करने की कवायद तेज कर दी है. सूत्रों के अनुसार बीसीसीएल के निदेशक (कार्मिक) एम राव ने मंगलवार को सेंट्रल (कोविड) अस्पताल के अधीक्षक सहित कई डॉक्टरों के साथ बैठक कर मामले पर चर्चा की. पूछा कि क्यों नहीं गंभीर रूप से बीमार कोविड मरीजों को वेंटिलेटर लगाया गया. इलाज में लापरवाही के लिए कौन जिम्मेदार है. कुछ डॉक्टरों ने एक-दूसरे को ही दोषी बताया. कुछ देर के लिए माहौल गर्म भी कहा गया. डॉक्टरों ने कहा कि वेंटिलेटर तो नया आया, लेकिन उसे लगाने के लिए जगह नहीं है. जो जगह उपलब्ध है उसमें छह से ज्यादा वेंटिलेटर नहीं लगाया जा सकता. ऑक्सीजन के लिए पाइपलाइन भी नहीं लगायी गयी है. कहा कि पारा मेडिकल कर्मी भी बात नहीं सुनते.

निलंबन व तबादला तय : सूत्रों के अनुसार बीसीसीएल प्रबंधन ने कोविड अस्पताल में तैनात कुछ डॉक्टरों पर कार्रवाई करने की तैयारी कर ली है. ऐसे डॉक्टरों को एक-दो दिन में निलंबित या तबादला किया जा सकता है. संबंधित डॉक्टरों का पक्ष भी लिया जा रहा है.

डीसी के पत्र से माहौल गर्म : सनद हो कि रविवार को उपायुक्त उमा शंकर सिंह ने बीसीसीएल के सीएमडी को पत्र भेज कर कोविड अस्पताल में बरती जा रही लापरवाही पर विरोध जताया था. कहा था कि बीसीसीएल प्रबंधन ऐसे चिकित्सकों पर कार्रवाई करे, नहीं तो सात दिनों के बाद जिला प्रशासन की तरफ से प्राथमिकी दर्ज करायी जायेगी. इसके बाद बीसीसीएल प्रबंधन व चिकित्सक रेस हो गये हैं. चिकित्सकों का एक वर्ग चाहता है कि कोई दमनात्मक कार्रवाई नहीं हो.

Post by : Pritish Sahay

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें