गड़ेरिया में सभा करने से रोके जाने पर पूर्व मंत्री उमाकांत ने उठाये सवाल, अनुमति न देने का कारण बताये प्रशासन

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
धनबाद: राज्य के पूर्व मंत्री उमाकांत रजक ने कहा है कि गड़ेरिया में आजसू को सभा करने की अनुमति नहीं देने का कारण प्रशासन को सार्वजनिक करना चाहिए. यहां के प्रशासनिक अधिकारी अघोषित आपातकाल लागू किये हुए हैं.
मंगलवार को यहां परिसदन में पत्रकारों से बातचीत करते हुए श्री रजक ने कहा कि केंदुआ के थाना प्रभारी एवं अनुमंडल पदाधिकारी यह कहते हुए आजसू के विधायक की सभा नहीं होने देते हैं कि वहां खून-खराबा हो सकता है. एसडीएम एवं थाना प्रभारी को बताना चाहिए कि कौन खून-खराबा कर सकता है. किस माफिया राजनीतिक के दबाव में यह कदम उठाया गया.

कहा कि आजसू सरकार का सहयोगी दल है. इस मामले को ऊपर तक ले जायेंगे. गलत व्यवहार करने वाले अधिकारियों को छोड़ेंगे नहीं. आजसू के जिलाध्यक्ष मंटू महतो ने कहा कि पार्टी इस मामले को ले कर जिला स्तर पर आंदोलन छेड़ेगी. टुंडी के विधायक राज किशोर महतो की छवि एक साफ-सुथरे जन प्रतिनिधि की है. ऐसे विधायक को सभा की अनुमति नहीं देना गलत है.
    Share Via :
    Published Date
    Comments (0)
    metype

    संबंधित खबरें

    अन्य खबरें