1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. deogarh
  5. cyber crime news 10 accused including cyber criminal krishna arrested from deoghar and dumka car with 28 mobiles recovered smj

Cyber Crime News : साइबर क्रिमिनल कृष्णा समेत 10 आरोपी देवघर और दुमका से गिरफ्तार, 28 मोबाइल समेत कार बरामद

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
10 साइबर क्रिमिनल की गिरफ्तारी संबंधी जानकारी देते देवघर एसपी अश्विनी कुमार सिन्हा व अन्य.
10 साइबर क्रिमिनल की गिरफ्तारी संबंधी जानकारी देते देवघर एसपी अश्विनी कुमार सिन्हा व अन्य.
प्रभात खबर.

Cyber Crime News, Jharkhand News, Deoghar News, देवघर : झारखंड के देवघर साइबर थाना की पुलिस साइबर क्रिमिनल के खिलाफ लगातार अभियान चला रही है. इस क्रम में 3 थाना क्षेत्रों में छापेमारी कर 10 साइबर क्रिमिनल को गिरफ्तार किया है. साथ ही 28 मोबाइल, 40 सिम कार्ड, 8 पासबुक समेत एक कार बरामद किया गया. इस बात की पुष्टि एसपी अश्विनी कुमार सिन्हा ने की.

एसपी श्री सिन्हा ने बताया कि गुप्त सूचना मिली थी कि जिले के विभिन्न थाना क्षेत्रों में एक बार फिर से साइबर क्रिमिनल सक्रिय हो गये हैं. इसके बाद साइबर डीएसपी नेहा बाला, मुख्यालय डीएसपी मंगल सिंह जामुदा एवं साइबर इंस्पेक्टर संगीता कुमारी की अगुवाई में साइबर टीम का गठन किया. टीम ने मारगोमुंडा के द्वारपहाड़ी, खागा थाना क्षेत्र के रघुनाथपुर तथा दुमका जिले के मसलिया थाना अंतर्गत बेदियाचक गांव में छापेमारी की तथा कुल 10 साइबर क्रिमिनल को धर दबोचा.

किस-किस की हुई गिरफ्तारी

गिरफ्तार साइबर क्रिमिनल में मारगोमुंडा थाना क्षेत्र के द्वारपहाड़ी निवासी कृष्णा मंडल, अर्जुन मंडल, करण कुमार मंडल, अरुण मंडल, गुड्डू मंडल, खाना थाना क्षेत्र के रघुनाथपुर निवासी कयूम अंसारी तथा दुमका जिला अंतर्गत मसलिया थाना क्षेत्र के बेदियाचक निवासी सईम अंसारी, सरफुद्दीन अंसारी, सफीक अंसारी एवं रफीक अंसारी शामिल हैं. इनलोगों में आरोपी कृष्णा मंडल पूर्व में भी साइबर अपराध के आरोप में महाराष्ट्र पुलिस द्वारा गिरफ्तार होकर जेल जा चुका है.

कैसे करते हैं ठगी

एसपी श्री सिन्हा ने बताया कि ये सभी साइबर क्रिमिनल मोबाइल की सहायता से लोगों को फोन कर बैंक का ग्राहक अधिकारी बताकर एटीएम बंद होने का झांसा देते हैं. इसके बाद उसके मोबाइल पर ओटीपी भेजकर उसके खाते से ठगी करते हैं. इतना ही नहीं ये लोग KYC अपडेट करने के नाम पर भी ग्राहकों को OTP भेजकर उससे ठगी करते हैं. एसपी ने यह भी बताया कि ये लोग विभिन्न इलेक्ट्रॉनिक एप की साइट पर जाकर उसकी साइट से छेड़छाड़ कर ग्राहक सेवा अधिकारी के नंबर की जगह अपना नंबर डाल देते हैं, जिससे कोई भी यूजर जब ग्राहक सेवा अधिकारी से बात करने के क्रम में अपना डिटेल्स उनसे साझा करते हैं, तो वे बड़ी आसानी से ठगी के शिकार बन जाते हैं.

इतना ही नहीं, अब CSP संचालक के मिलीभगत से भी साइबर अपराध को बखूबी अंजाम दे रहे हैं. एसपी ने बताया कि एक आरोपी कृष्णा मंडल का आपराधिक इतिहास है. अन्य सभी लोगों के खिलाफ साइबर थाना में साइबर ठगी की प्राथमिकी दर्ज कर जेल भेजने की तैयारी की जा रही है. प्रेस कांफ्रेंस में साइबर डीएसपी नेहा बाला, मुख्यालय डीएसपी मंगल सिंह जामुदा, साइबर इंस्पेक्टर संगीता कुमारी आदि मौजूद थे.

Posted By : Samir Ranjan.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें