देवघर : विनोद हत्याकांड में नगर थाना प्रभारी सस्पेंड

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
देवघर : दवा व्यवसायी विनोद वाजपेयी हत्याकांड में नगर थाना प्रभारी इंस्पेक्टर विनोद कुमार को लापरवाही को दोषी पाकर एसपी नरेंद्र कुमार सिंह ने तत्काल निलंबित करने की अनुशंसा डीआइजी से की थी, जिसे डीआइजी ने स्वीकृति दे दी है. मधुपुर के थाना प्रभारी श्याम किशोर महतो को नगर का नया थानेदार बनाया है.
इस संबंध में एसपी द्वारा डीआइजी को संबोधित पत्र में कहा गया है कि आठ दिसंबर की शाम करीब सात बजे प्राइवेट बस स्टैंड के समीप संजय मेडिकल के मालिक विनोद की गोली मारकर हत्या कर दी गयी थी. इसके पूर्व एसडीपीओ ने नगर थाना प्रभारी को निगरानी रखने का निर्देश दिया था.
थाना प्रभारी द्वारा एसडीपीओ के निर्देश का अनुपालन नहीं किया गया, इसलिए विनोद की हत्या हो गयी. अगर थाना प्रभारी एसडीपीओ के निर्देश का पालन कर सुरक्षा मुहैया कराते तो शायद विनोद की हत्या नहीं होती. इस प्रकार थाना प्रभारी के पद पर होते हुए अपराध की रोकथाम में अभिरुचि नहीं लेना कर्तव्य के प्रति लापरवाही व अयोग्यता को दर्शाता है.
मधुपुर के थाना प्रभारी श्यामकिशोर बने नगर के नये थानेदार
विनोद वाजपेयी के बड़े भाई सुमन कुमार वाजपेयी द्वारा शिकायत मिलने के बाद एसपी ने नगर थाने के एएसआइ प्रमोद सिंह को हटाकर मारगोमुंडा थाने में तबादला कर दिया है. घटना के बाद जब एसपी नरेंद्र कुमार सिंह सदर अस्पताल पहुंचे थे, तब वहां सुमन ने एएसआइ प्रमोद पर गंभीर आरोप लगाये थे. विनोद को गोली मारकर हत्या करने वाले केशव के साथ एएसआइ प्रमोद का करीबी संबंध बताया गया था.
इतना ही नहीं यह भी कहा गया था कि जब प्रमोद जसीडीह थाने में पदस्थापित थे, तब एक साथ दोनों की बैठकी भी होती थी. यहां नगर थाने में कार्यरत होने के बाद कई बार केशव व एएसआइ प्रमोद को एक साथ देखा गया था. यह भी कहा गया था कि हाल में भी दोनों साथ-साथ दिखाई पड़े थे. सुमन की इस शिकायत को एसपी ने गंभीरता से लिया और कार्रवाई की.
Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें