1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. corona outbreak jharkhand does not seem to have a break on corona infection number of infected reaches triple digits in 13 districts

Corona Outbreak : झारखंड में कोरोना संक्रमितों की संख्या 4,225 पहुंची, अब तक 36 की मौत

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
झारखंड में नहीं लग रहा कोरोना संक्रमण पर ब्रेक
झारखंड में नहीं लग रहा कोरोना संक्रमण पर ब्रेक
प्रतीकात्मक तस्वीर.

रांची : राज्य में कोरोना संक्रमितों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है. अब तक कुल कोरोना संक्रमितों की संख्या 4,225 पहुंच गयी है. वहीं, कोरोना से मरने वालों की संख्या 36 पहुंच गयी है.अब लगभग 200 मामले आने लगे हैं. स्थिति यह हो गयी है कि राज्य के 13 जिलों में संक्रमितों की संख्या तिहाई अंक तक पहुंच गयी है. वहीं तीन जिले ऐसे हैं, जाे इसकी दहलीज पर खड़े हैं. 13 जिलाें में पूर्वी सिंहभूम, रांची, सिमडेगा, धनबाद, कोडरमा, हजारीबाग, रामगढ़, गढ़वा, गुमला, गिरिडीह, चतरा, सरायकेला व लोहरदगा शामिल हैं. वहीं पश्चिम सिंहभूम, पलामू व बोकारो जिले तिहाई अंक के करीब हैं.

राज्य में सबसे खराब स्थित पूर्वी सिंहभूम की है, जहां अभी तक कोरोना संक्रमितों की संख्या 681 पहुंच चुकी है. इसमें एक्टिव केस 372 है. दूसरे स्थान पर रांची है, जहां 435 कोरोना संक्रमित मिले हैं, जिसमें एक्टिव केस 224 है. वहीं तीसरे स्थान पर सिमडेगा है, जहां अभी तक 368 संक्रमित मिले हैं, जिसमें एक्टिव केस 11 ही है.

पांच जिलाें का आंकड़ा 50 से नीचे : कोरोना संक्रमितों की बढ़ती संख्या के बीच राहत भरी खबर यह है कि राज्य के पांच जिलाें में संक्रमितों की कुल संख्या 50 से कम है. ये पांच जिले दुमका, गोड्डा, जामताड़ा, खूंटी व साहेबगंज हैं. दुमका मेें अभी तक 18, गोड्डा मेें 23, जामताड़ा में 33, खूंटी में 35 व साहेबगंज में 43 संक्रमित मिले हैं. इन जिलों में भी नियमित जांच हो रही है, लेकिन रिपोर्ट निगेटिव मिल रही है या एक्का-दुक्का ही संक्रमित मिल रहे हैं

13 जिलों में संक्रमितों की संख्या तिहाई अंक में पहुंच गयी है

जिलावार संक्रमित

जिला संक्रमित

पू. सिंहभूम 681

रांची 435

सिमडेगा 368

धनबाद 295

कोडरमा 282

हजारीबाग 296

रामगढ़ 192

गढ़वा 150

गुमला 130

गिरिडीह 127

चतरा 120

सरायकेला 104

लोहरदगा 104

क्या कहते हैं एक्सपर्ट

यह समय सही में गंभीर है. इसमें अपने खुद को बचा कर रखना होगा. सरकार की गाइडलाइन का पालन करना होगा. बचाव ही एकमात्र दवा या उपाय है.

डॉ ब्रजेश मिश्रा, फेफड़ा रोग विशेषज्ञ

.

सरकार की गाइडलाइन का सख्ती से पालन करना होगा. मुझे लगता है कि कम्युनिटी ट्रांसमिशन मेें प्रवेश कर गये हैं. दिल्ली व महाराष्ट्र मेें शुरुआत में ऐसा ही हुआ था. इसे गंभीरता से लेने की जरूरत है.

डॉ प्रदीप भट्टाचार्य, क्रिटिकल केयर विशेषज्ञ

समय से नहीं मिल रही जांच रिपोर्ट डरे-सहमे हैं लोग : कोराेना संक्रमितों की संख्या तेजी से बढ़ रही है. दूसरी ओर जांच रिपोर्ट समय पर नहीं मिल रही है. इस कारण वे डरे सहमे हैं कि पॉजिटिव हैं या निगेटिव. संबंधित लोग रिपोर्ट लेने के लिए सदर अस्पताल आ रहे हैं. उन्हें बताया जा रहा है कि अभी उनकी रिपोर्ट नहीं आयी है. सोमवार को तीन दिन बाद तीन पोस्टमैन जब अपनी रिपोर्ट लेने पहुंचे, तो नहीं मिल पायी. न्यू मधुकम चूना भट्ठा की रहनेवाली सुनीता सिन्हा ने बताया कि वह 10 दिन पहले पुणे से आयी थी. उन्होंने सदर अस्पताल में जांच के लिए सैंपल दिया था, लेकिन एक सप्ताह बाद भी रिपोर्ट नहीं मिली है.

सख्ती: विद्यानगर इंद्रपुरी, महुआ टोली बना माइक्रो जोन : कोरोना के मरीज की जहां भी पुष्टि हो रही है, उस स्थान को जिला प्रशासन द्वारा सील कर माइक्रो कंटेनमेंट जोन बनाया जा रहा है, ताकि आसपास के लोग संक्रमण से बच सकें. जिला प्रशासन द्वारा मरीज के घर के बाहर पोस्टर चिपकाया जा रहा है, ताकि आम जनता एवं आसपास के लोगों को जानकारी मिल सके और वह वहां प्रवेश न करें.

यहां बने हैं माइक्रो कंटेनमेंट जोन : मंगलवार को हेहल के विद्यानगर, इंद्रपुरी, महुआ टोली में कोरोना पाॅजिटिव मरीज मिलने के बाद माइक्रो कंटेनमेंट जोन बनाकर घर को सील किया गया है एवं पोस्टर चिपकाया गया है.

डोरंडा अर्बन अस्पताल को कोविड सेंटर बनाने पर आक्रोश : रिसालदार बाबा मजार के पास स्थित अर्बन अस्पताल को कोविड सेंटर बनाये जाने पर स्थानीय लोगों ने विराेध किया है. लोगों का कहना है कि यहां कई मरीजों को लाकर रख दिया गया है, जिससे भय व्याप्त है. अस्पताल से सटकर अल्पसंख्यक छात्रावास, जैप वन के आवासीय परिसर, रिसालदार कॉलोनी है. मुहल्ले के लोग घरों से निकलना बंद कर दिये हैं. वहीं यहां 22 कोरोना पॉजिटिव का इलाज चल रहा है. जबकि तीन नर्स, एक डॉक्टर व चार पारा मेडिकल स्टाफ को तैनात किया गया है. एक दिन पहले यहां भर्ती लोगों ने शाम को चाय-बिस्किट की मांग करते हुए विरोध किया था.

निधन : जीइएल चर्च के कब्रिस्तान में कोरोना पीड़ित का शव दफनाया : रांची. जीइएल चर्च के कब्रिस्तान में मंगलवार शाम कोरोना संक्रमित व्यक्ति के शव को दफनाया गया. 52 वर्षीय यह व्यक्ति पटना में एक बैंक में नौकरी करता था. वहां 12 जुलाई को मौत हो गयी थी. परिवार रांची में रहता है, इसलिए उसका शव रांची लाया गया. रिम्स में जांच हुई, जिसमें कोरोना की पुष्टि हुई. उसके बाद शव को रिम्स से सीधे कब्रिस्तान लाया गया था. इधर, जीइएल चर्च के पदाधिकारियों ने आपात बैठक की, जिसमें निर्णय लिया गया कि चर्च ऐसे शवों को अपने कब्रिस्तान में दफनाने की अनुमति देगा. इस बैठक में बिशप जॉनसन लकड़ा, सुजया कुजूर, अटल खेस, अनुज मुंडू, पूनम कुजूर, प्रदीप कुजूर शामिल थे.

रिम्स : काेविड आइसीयू में नौ कोरोना संक्रमिताें की स्थिति गंभीर : रांची. रिम्स के कोविड-19 अस्पताल के आइसीयू मेें भर्ती नौ संक्रमितों की स्थिति गंभीर है, जिसमें एक वेेंटिलेटर पर है. वहीं आठ संक्रमितों को कृत्रिम रूप से ऑक्सीजन दिया जा रहा है. डॉक्टरों को आइसीयू में भर्ती सभी नौ कोरोना संक्रमितों को लेकर चिंता बढ़ गयी है, क्योंकि कभी भी उनकी स्थिति गंभीर हो सकती है. कोविड आइसीयू के इंचार्ज डॉ प्रदीप भट्टाचार्य ने बताया कि कोरोना के साथ-साथ अन्य गंभीर बीमारी हाेने के कारण उनको आइसीयू में भर्ती कराना पड़ा है. वार्ड में भर्ती संक्रमित गंभीर होने पर आइसीयू में शिफ्ट किये जा रहे हैं.

राजधानी में कोने-काेने से मिल रहे संक्रमित टूटा रिकाॅर्ड, 59 नये संक्रमित मिले : राजधानी में अब कोने-कोने से कोरोना संक्रमित मिल रहे हैं. जांच की संख्या बढ़ रही है, तो संक्रमिताें की संख्या भी बढ़ रही है. मंगलवार काे रांची में अबतक का सारा रिकाॅर्ड टूट गया. जिला प्रशासन ने 59 नये कोरोना संक्रमितों के मिलने की पुष्टि की है. कोकर व बरियातू क्षेत्र से सबसे अधिक आठ-आठ कोरोना संक्रमित मिले हैं.

खेलगांव स्टेडियम के पीछे से चार व कांके रोड से चार संक्रमित मिले हैं. पिस्का माेड़ से तीन, चुटिया से तीन, डाॅक्टर्स कॉलोनी से दो, झारखंड एसटीएफ से दो, कचहरी से एक, लालपुर से एक, रातू रोड से एक, धुर्वा से एक, अरगोड़ा से एक, डोरंडा से एक, टाटिसिलवे से एक, मोरहाबादी से एक, लोअर बाजार से एक कोरोना संक्रमित मिला है.

इसके अलावा सीएमपीडीआइ से दो, लालजी हीरजी रोड से तीन, ग्रामीण क्षेत्र रातू से एक व निजी अस्पताल में भर्ती गया के रहने वाले दो संक्रमितों की पुष्टि हुई है. वहीं जानकारी के अनुसार एक सेवानिवृत आइएएस भी कोरोना संक्रमित पाये गये हैं. उनको रिम्स के डॉक्टरों की देखरेख में होम आइसोलेशन पर रखा गया है. वहीं नये संक्रमितों को लक्षण के आधार पर रिसालदार बाबा के मजार के सामने कोविड अस्पताल व रिम्स में भर्ती कराया जा रहा है. इधर, रांची से सात संक्रमितों को स्वस्थ होने पर अस्पताल से छुट्टी दे दी गयी है.

सिल्ली में छह नये कोरोना संक्रमित मिले : सिल्ली में छह नये कोरोना संक्रमित मिले हैं. मंगलवार की शाम बीडीअो उदय कुमार ने इसकी पुष्टि की. संक्रमितों में पांच मातृछाया अस्पताल से मिले हैं. वहीं एक अन्य दोबाड़ू गांव का रहने वाला है. मातृछाया के पांचों संक्रमित पिछले दिनों एक कोरोना पॉजिटिव युवती के संपर्क में आये थे. संपर्क में आये 17 लोगों का सैंपल लिया गया था. वहीं दोबाड़ू में मिला संक्रमित मुंह में छाला का इलाज कराने के लिए रांची गया था. वहां उसका सैंपल लिया गया, तो वह पॉजिटिव निकला. इस मरीज की ट्रेवल हिस्ट्री नहीं मिली है.

चेतनबारी में नेवी का जवान कोरोना पॉजिटिव : चेतनबारी गांव का रहने वाला एक व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव मिला है. सीओ शिव शंकर पांडेय ने इसकी पुष्टि की है. उसकी पत्नी को होम कोरेंटिन कर दिया गया है. संक्रमित व्यक्ति नेवी का जवान है. वह 11 जुलाई को गोवा से कोच्चि गया था. वहां से वह घर लाैटा है. रांची एयरपोर्ट पर उसका सैंपल जांच के लिए लिया गया था

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें