1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. saran
  5. youth killed by beating with rod and pointed weapon in chapra asj

छपरा में रॉड व नुकीले हथियार से मार कर युवक की हत्या, जांच में जुटी पुलिस

मृतक के बड़े भाई रोमियो कुमार सिंह ने आरोप लगाया कि हत्या में शामिल एक आरोपित ने वर्ष 2020 में उसको नेवी में बहाल कराने के नाम पर किस्तों में पांच लाख रुपये बतौर रिश्वत दिया था. 50 हजार की रकम खाता से ट्रांसफर की गयी थी, जबकि साढ़े चार लाख रुपये नकद दिया गया था.

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
प्रतिकात्मक तस्वीर
प्रतिकात्मक तस्वीर
फाइल फोटो

मांझी. थाना क्षेत्र के चेंफुल गांव में रॉड व नुकीले हथियार से हमला कर युवक की हत्या कर दी गयी. मृत अमन कुमार सिंह (18 वर्ष) दाउदपुर थाना क्षेत्र के गोबरही का रहनेवाला था. मृतक के बड़े भाई रोमियो कुमार सिंह ने आरोप लगाया कि हत्या में शामिल एक आरोपित ने वर्ष 2020 में उसको नेवी में बहाल कराने के नाम पर किस्तों में पांच लाख रुपये बतौर रिश्वत दिया था. 50 हजार की रकम खाता से ट्रांसफर की गयी थी, जबकि साढ़े चार लाख रुपये नकद दिया गया था.

हत्या में चार पुरुष व दो महिलाएं शामिल

नौकरी नहीं लगा पाने के बाद उससे पैसा वापस करने का दबाव डाला जा रहा था. गुरुवार की देर रात रुपये वापस करने का झांसा देकर अमन को बुलाया गया तथा घटना को अंजाम दिया गया. उसने आरोप लगाया कि हत्या में चार पुरुष व दो महिलाएं शामिल हैं. इस घटना के बाद आरोपित केस को डायवर्ट करने के लिए प्रेम प्रसंग का एंगल देने में लगे हैं. घटना के बाद मृतक की विधवा मां व दादा का रो-रो-कर बुरा हाल है. ग्रामीणों ने बताया कि वर्ष 2009 में मृत अमन के पिता की रसूलपुर में गोली मारकर हत्या कर दी गयी थी. अमन और उसके बड़े भाई रोमियो में से अबतक किसी की शादी नहीं हुई है.

गांव में हत्या के बाद कई तरह की अफवाह

हत्या के बाद दोनों गांवों में कई तरह की चर्चा हो रही है. चेंफुल गांव में लोग प्रेम प्रसंग में हत्या की चर्चा कर रहे हैं. लोगों का कहना है कि दोनों परिवारों के बीच मधुर रिश्ता था. घटना के दिन अमन के साथ मारपीट हुई थी. इस दौरान उसके साथ आये दो दोस्त अपनी जान बचाकर भाग निकले. मारपीट की घटना में आरोपित पक्ष के भी प्रमोद सिंह और बादल सिंह घायल हो गये. दोनों का इलाज मांझी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में कराया गया.

सदर अस्पताल रेफर

वहां से घायल बादल सिंह को डॉक्टरों ने बेहतर इलाज के लिए सदर अस्पताल रेफर कर दिया है. इस मामले में देर शाम तक प्राथमिकी दर्ज नहीं हो सकी थी. पुलिस दो पुरुष व दो महिलाओं को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है. इसमें एक युवती भी शामिल है, जिसके तिलकोत्सव की तैयारी चल रही थी. हालांकि पुलिस हिरासत में लेने की बात से इन्कार कर रही है.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें