1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. rohatas
  5. animal feed crisis in subdivision area

अनुमंडल क्षेत्र में पशुचारे का संकट

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
अनुमंडल क्षेत्र में पशुचारे का संकट
अनुमंडल क्षेत्र में पशुचारे का संकट

बिक्रमगंज (कार्यालय). कोरोना के कारण हुए लॉकडाउन का सीधा असर पशुओं के चारे की आपूर्ति पर पड़ रहा है. अनुमंडल मुख्यालय समेत विभिन्न प्रखंडों में पशुचारा नहीं पहुंच रहा है, जिसके कारण पशुपालकों के समक्ष परेशानी खड़ी हो गयी है. ऐसे में पशुओं को जिंदा रख पाना एक गंभीर समस्या हो गयी है. ग्रामीण इलाके में पशुपालक किसी तरह घास आदि खिलाकर पशुओं को जिंदा रखे हुए हैं. यदि 14 अप्रैल के बाद लॉकडाउन नहीं समाप्त होता, तो पशुओं को भुखमरी से बचा पाना मुश्किल हो सकता है. पशुपालक बताते हैं कि बाहर से पशुचारा और मवेशियों को खिलाये जानेवाले दाना, चोकर आदि पोषक आहार की आपूर्ति नहीं हो पा रही है. कई स्थानों पर ट्रकों को पशुचारा लाने के नाम रोका भी गया है. सरकार स्थानीय प्रशासन को पशुचारे की गाड़ियों को नहीं रोकने की हिदायत भी दी है. बावजूद इसके पशुचारा का ट्रक न के बराबर आ रहे हैं. स्थानीय दुकानदार बताते हैं कि इस इलाके में पशुचारा राजधानी पटना, उत्तरप्रदेश बनारस व पश्चिम बंगाल से आता है. स्थानीय शहर व आसपास के बाजारों में चलनेवाले खटाल इस समस्या से सबसे अधिक जूझना पड़ रहा है. ये पशुपालक पशुओं को जिंदा रख पाने में अपने को असमर्थ बता रहे हैं. किसी प्रकार खेतों से घास काट कर पशुओं को पोषक आहार के रूप में दिये जाने का प्रयास किया जा रहा है, लेकिन वह भी ना काफी है. खेतों के घास भी अब समाप्त होने लगा है. पशुओं को दिया जाने वाला पोषक आहार बंद ट्रकों के बंद हो जाने के कारण पशुओं को दिये जाने वाला पोषक आहार की आपूर्ति बंद हो गयी है, जिसका प्रभाव पशुओं के स्वास्थ्य व दुग्ध के उत्पादन पर पड़ रहा है. दुग्ध का उत्पादन आधा से भी कम हो गया है. अगर लॉकडाउन लंबा चला, तो दुग्ध का उत्पादन पर भी संकट उत्पन्न हो सकता है. कालाबाजारी है जारी पहले से जमा स्टॉक भी दुकानदार ज्यादा कीमत पर दे रहे हैं.

कालाबाजारी रोकने का स्थानीय प्रशासन का दावा पूरी तरह से फ्लॉप है. सूचना के बाद भी दुकानदारों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है. पशुचारा व दुग्ध उत्पादन के संकट के बीच पशुपालक पशुओं को औने-पौने दामों पर बेचने के लिए विवश हैं. बोले अधिकारी पशुचारा आवश्यक वस्तुओं में शामिल है. पशु दाना व पशुचारा की ढुलाई पर रोक नहीं लगायी गयी है. अगर कोई पदाधिकारी पशुचारा को लाने ले जाने में रोकता है, तो सीधे संपर्क करें. विजयंत कुमार, एसडीएम बिक्रमगंज लॉकडाउन को लेकर लोग हुए गंभीर गली-मोहल्ले को बांस-बल्ले लगाकर किया सील फोटो-2 कैप्सन- गांव के मुख्य गली पर लगायी गयी सूचना. नासरीगंज (रोहतास). देश भर में कोरोना वायरस के फैलने की गंभीर स्थिति व बिहार में दिल्ली के निजामुद्दी जमात से भाग कर आये लोगों की गांव में आने की आशंका से लोग लॉकडाउन के प्रति गंभीर हो गये हैं. प्रखंड क्षेत्र के कई गांवों में लोग बांस बल्ला लगा कर बाहरी आदमी के गांव में प्रवेश पर रोक लगा दी है. नगर के वार्ड 07 के संगम बिगहा में नगरवासियों ने खुद बांस-बल्ले लगाकर सड़क पर आवागमन को ठप कर लॉकडाउन का आदेश का पालन सख्ती से कर रहे हैं. साथ ही लोगों से लॉकडाउन को पालन करने के लिए प्रेरित भी कर रहे हैं. इतना ही नहीं दूसरे प्रदेश से शहर में लौट रहे लोगों पर नगरवासियों का कड़ा पहरा है. उन्हें अपने मुहल्ले में आने से पहले सीधे अस्पताल जाने व मेडिकल चेकअप कराने की नसीहत दे रहे हैं. वहीं, जरूरी काम से बाहर जानेवाले व्यक्तियों को भी पुनः गांव लौटने पर उसे गांव के बाहर ही हाथ व पांव साबुन से धोने और सैनिटाइजर का प्रयोग करने के बाद ही गली व मुहल्ले में प्रवेश की इजाजत दी जा रही है. इस तरह कई गांवों के लोग भी खुद जागरूक होते दिखाई दे रहे हैं. मुहल्ले में आने-जानेवाले इसे बखूबी पालन भी कर रहे हैं. नगर के वार्ड सात के वार्ड पार्षद कृष्ण कुमार उर्फ किशी कुमार, रवींद्र ओझा, सुकेश कुमार, धीरज कुमार, संतोष कुमार कई नगरवासी इसको लेकर सक्रिय हैं. कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव के लिए एटीएम में नहीं है कोई व्यवस्था नासरीगंज (रोहतास). कोरोना वायरस संक्रमण के बचाव के लिए शहर में लगी एटीएम में कोई व्यवस्था नहीं दिख रही है.

शहर के पोस्टल रोड में स्थित एसबीआइ एटीएम के बाहर मास्क लगाये एक गार्ड को छोड़कर शहर में अन्य जगहों पर लगी कई एटीएम के सामने कोई गार्ड तक नजर नहीं आये. एटीएम में पैसे की निकासी करने आनेवाले उपभोक्ताओं के लिए न तो कोई सैनिटाइजर की व्यवस्था है और न ही जिस कमरे में एटीएम लगी है, उसको सैनिटाइज करने के संबंध में कोई बतानेवाला है. यूं तो बैंकों के अधिकारियों द्वारा कोरोना वायरस से लड़ने के लिए बैंक में अपनी एटीएम केंद्रों पर सुदृढ़ व्यवस्था करने का दावा शुरुआती दौर से ही किया जाता रहा है, लेकिन स्थल पर जांच के दौरान एटीएम केंद्र कुछ और ही बयां कर रहा है. एटीएम केंद्रों से पैसे की निकासी के लिए उपभोक्ताओं की कभी लंबी-लंबी लगनेवाली लाइन अब कहीं नहीं दिखाई देती. एटीएम से राशि निकासी के लिए जो इक्का-दुक्का लोग जाते हैं. न कोई रैली निकली और न ही शोभायात्रा दीप जलाकर लोगों ने की कोरोना को भगाने की कामना फोटो-3 कैप्सन- दीप जलाते छोटे-छोटे बच्चे. नासरीगंज (रोहतास). चैत्र नवरात्र के नौवें दिन मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्रीराम का जन्मोत्सव रामनवमी के रूप में मनाया गया. कोरोना वायरस के लॉकडाउन के चलते अधिकांश लोगों ने घरों में ही पूजा की. कई जगह बंद मंदिरों में आठ से दस फुट की दूरी पर खड़े रहकर श्रद्धालुओं ने मां के दर्शन किये. मंदिरों में न तो आरती का आयोजन हो सका और न ही रामनवमी की शोभायात्रा ही निकल सकी. प्रखंड में पहली बार सड़कों पर रामनवमी के दिन जय श्रीराम के नारे नहीं सुनाई दिये. कोरोना वायरस के संक्रमण को लेकर लगे लॉकडाउन का पालन करने के लिए इस बार रामनवमी पर प्रति वर्ष की तरह राम भक्त सड़कों पर गाजे-बाजे के साथ नहीं निकले. इस वर्ष तो राम मंदिर निर्माण की तिथि तक घोषित हो चुकी थी, उत्साह चरम पर था, लेकिन इसको विराम देते हुए शहर के प्रमुख मंदिरों में भी रामनवमी पूजा के लिए सिर्फ पुजारी ही मंदिर के अंदर गये. बजरंग दल व श्री रामनवमी शक्ति शोभायात्रा समिति से जुड़े हजारों कार्यकर्ता एक-दूसरे को मोबाइल के माध्यम से राम नवमी पर्व पर बधाई दी. इस अवसर पर श्रद्धालुओं के द्वारा संध्या बेला में घरों के बाहर दीप जलाये गये. किसी ने 11 तो किसी ने सात व नौ दीपक जलाकर रामनवमी पर्व मनाया. सभी लोगों ने दीप जलाकर इस कोरोना वायरस जैसी महामारी को जल्द-से-जल्द भगाने का कामना भी किया.

बेवजह सड़कों पर घूमने पर शर्मिंदा कर रही पुलिस फोटो-4 कैप्सन- तख्ती लगाकर फोटो खिंचवाती पुलिस. नासरीगंज (रोहतास). नासरीगंज पुलिस लॉकडाउन में बेवजह सड़कों पर घूमनेवाले लोगों के हाथों में 'मैं देश व समाज का दुश्मन हूं, मैं घर पर नहीं रहूंगा' लिखी तख्ती के साथ उनकी तस्वीरें खिंचवा रही है. शहर में लॉकडाउन का पालन करने से लोग कोताही बरत रहे लोगों पर पुलिस सख्ती करना शुरू कर दी है. लोगों को दंडित करने के साथ-साथ जुर्माना भी वसूल रही है. शुक्रवार को इटिम्हा, अमियावर व भरकोल गांव के पास मुख्य पथ पर बेवजह घूमनेवालों से जुर्माना वसूल दंडित भी किया. अंचलाधिकारी श्याम सुंदर राय व थानाध्यक्ष राजेश कुमार ने सभी नौ मोटरसाइकिल चालकों से हेलमेट, इंश्योरेंस व ड्राइविंग लाइसेंस के लिए कुल 12 हजार रुपये की वसूली की. वहीं कुछ लोग के हाथों में \"मैं देश व समाज का दुश्मन हूं, मैं घर पर नहीं रहूंगा लिखी तख्ती के साथ तस्वीरें खिंचवाई, तो कुछ लोगों को मेढ़क भी बनाकर सड़क पर चलाया. उन सभी लोगों को कड़ी हिदायत देते हुए आगे से बिना वजह से घर से न निकलने की हिदायत दी गयी. पदनाम का हो रहा दुरुपयोग संझौली (रोहतास). देश दुनिया में फैले जान लेवा कोरोना वायरस से बचाव के लिए सरकार द्वारा लगाया गया लॉकडाउन में कुछ लोग पुलिस प्रशासन की आंखों में धूल झोंकते हुए अपने वाहनों पर गलत पदनाम लिखकर सड़क व गांव की गलियों में घूमते देखे जा रहे हैं.

कोई अपने वाहन पर पुलिस, तो कोई हेल्थ वर्कर, सामाजिक कार्यकर्ता, पत्रकार तो कोई जनप्रतिनिधि लिखकर चल रहा है. सूत्रों की मानें, तो कुछ ऐसे लोग हैं, जो कुछ टीवी चैनल व समाचार पत्र का लोगो इलेक्ट्रॉनिक माइक में लगाकर अधिकारियों जनप्रतिनिधियों को झांसा देकर लॉकडाउन तोड़ने का काम कर रहे हैं. मां सिद्धिदात्री पूजन के साथ चैत नवरात्र पर्व संपन्न फोटो-5 कैप्सन- घर पर हवन कुंड बनाकर हवन करते लोग. बिक्रमगंज (कार्यालय). मां दुर्गा के नौवें रूप मां सिद्धिदात्री के हवन पूजन साथ चैत नवरात्रि संपन्न हो गया, जिसमें भक्तों ने श्रद्धा पूर्वक वैदिक उच्चारण व शंखनाद के साथ पूजन की. पूजन को लेकर बहुत से भक्तों ने कन्या पूजन कर कन्याओं को मिष्ठान भोजन खिलाया. इस आस्था के महापर्व में लोगों ने विश्वव्यापी महामारी कोरोना संक्रमण से मुक्ति की कामना भी की. चैत रामनवमी पर्व में भगवान श्रीराम की याद में लोगों ने अपने घरों पर दीप जलाकर हलुआ, खीर, मालपुआ, केला, नारियल, पंचमेवा का भोग लगाया. पंडित दीपू मिश्रा ने बताया कि गुरुवार को प्रातः काल तीन बजकर 40 मिनट व चैत महानवमी पूजा समापन शुक्रवार तीन अप्रैल को प्रातः 2:43 मिनट पर हुआ. इस मुहूर्त में पूजन करने वाले भक्तों के जीवन में सुख समृद्धि आयेगी. मछली पकड़ने को लेकर हुआ विवाद संझौली (रोहतास). अंचल क्षेत्र के सुसडी से अमैठी गांव को आपस में जोड़नेवाली सड़क के बगल में सुसडी गांव के समीप आहार में मछली पकड़ने को लेकर दो पक्षों में मारपीट हो गयी.

स्थानीय लोगों की सूचना पर पहुंची पुलिस ने लोगों को खदेड़ कर मामला शांत कराया. पुलिस के अनुसार एक ही आहार पर सोसाइटी के दो सदस्यों द्वारा अपने-अपने मालिका हक को लेकर विवाद गहरा गया है. मत्स्य सोसाइटी सचिव द्वारा अंचल के छह आहरों को छह सोसाइटी सदस्यों के नाम निलाम किया गया है. जिला मत्स्य पदाधिकारी को सौंपने के बाद सचिव द्वारा पुनः उसी आहार को अन्य छह लोगों को मछली पकड़ने की अनुमति देना विवाद का कारण बन गया है. जबकि अन्य 35 आहर पर मछली पकड़ने का कोई विवाद नहीं है. जिला मत्स्य पदाधिकारी सतेंद्र राम ने बताया कि मछली पकड़ने पर हुई विवाद की जांच की जायेगी. राहत कोषांग में मिला रहा सहयोग काराकाट (रोहतास). प्रखंड मुख्यालय में कोरोना वायरस के संक्रमण को लेकर लॉकडाउन के बाद गरीबों, मजदूरों व बाहर से आकर फंसे हुए लोगों खाने के राशन की कमी को देखते हुए काराकाट बीडीओ प्रशांत कुमार ने राहत कोषांग का गठन किया है. राहत कोषांग में सभी को स्वेच्छा से जो भी मदद देनी हो देने का आह्वान किया गया है. राहत कोषांग के गठन के बाद गोड़ारी बाजार में कैंप लगाया गया है, जहां लोगों द्वारा सहायता की जा रही है. बताया गया कि गोड़ारी दुर्गा पूजा कमेटी के अध्यक्ष विशाल भारती, कोषाध्यक्ष के पहल से व्यापारी, जनप्रतिनिधि, सामाजिक कार्यकर्ताओं ने सहायता प्रदान की है. गोड़ारी के मुखिया अभिभावक मुन्ना भारती ने खाद्य सामग्री प्रदान किया. ग्राम पंचायत मोथा, गम्हरियां, संतोष कुमार सब्जी दुकान गोड़ारी, बेरोजगार युवक प्रमोद कुमार पासवान, ललन प्रसाद सोनी, हाजी ड्रेसेस, श्री गणपति ज्वेलर्स, अनिल व दिलीप सोनी, कामेश्वर आलू दुकान, गोपाल प्रसाद डीलर, मुन्ना किराना स्टोर, संजय तिवारी, रोहतास मेडिकल, आलोक तिवारी, ओम कुमार, छोटू कुमार ने खाद्य सामग्री व नकद राशि का सहयोग किया है.

सहायता कोषांग के शिविर में शिक्षक संजय कुमार, अनिल पासवान, अर्जुन गुप्ता, हयात करीम सर, गोड़ारी पूजा समिति के अध्यक्ष विशाल भारती, कोषाध्यक्ष प्रशांत कुमार, संजय कुमार द्वारा सहायता कोषांग में मदद की जा रही है. युवकों ने गांव को किया सैनिटाइज बिक्रमगंज (कार्यालय). प्रखंड क्षेत्र की मोरौना पंचायत के विभिन्न गांवों को युवकों ने सैनिटाइज किया. युवा सम्राट राजू पांडेय ने बताया कि सरकार व पंचायत के तरफ से गांव को सैनिटाइज करने की कोई व्यवस्था नहीं होने पर स्वयं के खर्च से पंचायत के मोरौना, इंदार्थ खुर्द के गलियों व नालियों में ब्लीचिंग पाउडर का छिड़काव किया गया. मौके पर विशाल कुमार, सोनू गुप्ता, योगी आदित्यनाथ, विक्की प्रजापति, दीपक आदि थे. सिविल में पुलिस कर रही गांवों का दौरा काराकाट (रोहतास). कोरोना वायरस से संक्रमण को लेकर पुलिस गांवों में सिविल में दौरा शुरू कर दी है. बताया जाता है कि कुछ असामाजिक तत्व प्रशासन व जनप्रतिनिधियों की बातों को अनसुना कर लॉकडाउन को तोड़ने का प्रयास कर रहे हैं. इसकी सूचना पर पुलिस गांव में सिविल ड्रेस में दौरा करना शुरू कर दी है.

आइपीएस शौर्य सुमन ने बताया कि सूचना मिल रही है कि कुछ लोग लॉकडाउन का उल्लंघन करने पर उतारू हैं. उन्हें सबक सिखाया जायेगा. उन पर कानूनी कार्रवाई करते हुए जेल भी भेजा जायेगा. बीडीओ प्रशांत कुमार ने बताया कि कुछ लोग सड़कों पर निकल कर मटरगस्ती कर रहे हैं. वैसे तत्वों को साफ तौर पर चेतावनी दे दी गयी है कि पकड़े जाने पर कड़ी कार्रवाई होगी. अब भी सावधानी बरतें, घरों में रहे सुरक्षित रहे. क्षेत्र के बुढ़वल, पडरियां, अमौरा, किरही, नावाडीह, चौगाई, हरिहरपुर, सकला बाजार, मंगरा, थुमिया, दुआरी, चिकसील, मुंजी में सिविल फोर्स में पुलिस ने मार्च किया. माले ने गरीबों के बीच वितरित किया अनाज नासरीगंज (रोहतास). भाकपा (माले) लिबरेशन के तत्वावधान में प्रखंड क्षेत्र के मौना गांव के गरीब-असहाय परिवारों के बीच अनाज का वितरण किया. प्रखंड अध्यक्ष नंदकिशोर पासवान व कैसर निहाल के नेतृत्व में पिकअप पर खाद्य सामग्री लादकर उक्त गांव में दलितों, महादलितों व अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों के बीच वितरित किया गया. नेताओं ने कहा कि संकट की इस घड़ी में पूरा देश एक जुट हैं. उनके भोजन की व्यवस्था हर स्तर पर की जा रही है. मौके पर सैयद शेरजहां, चुन्ने खां, मुश्तकीम आदि थे.

    Share Via :
    Published Date
    Comments (0)
    metype

    संबंधित खबरें

    अन्य खबरें