1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. patna
  5. the criminals looted the bank by mortgaging managers cashiers and customers

मैनेजर, कैशियर व ग्राहकों को बंधक बनाकर अपराधियों ने लूटा बैंक

By Radheshyam Kushwaha
Updated Date
बैंक लूट मामले की जांच करती पुलिस टीम
बैंक लूट मामले की जांच करती पुलिस टीम
Prabhat Khabar Digital Desk

मुजफ्फरपुर. बिहार के मुजफ्फरपुर जिले के पारू के लालूछपरा में अपराधियों ने मंगलवार को तीन मिनट के अंदर में ही मैनेजर, कैशियर, चपरासी व 25 ग्राहकों को बंधक बनाकर एसबीआई को लूट लिया. पूरी घटना सीसीटीवी में कैद हो गई है. सीसीटीवी फुटेज में कैद तस्वीर में 12: 50 में अपराधी बैंक में दाखिल होते व 12: 53 में निकलते दिख रहे हैं. अपराधी गये रुपये (2 लाख 53 हजार 760) को सफेद रंग के झोला में रखकर फरार हो गये. उनकी उम्र 20 से 25 साल के बीच की थी. वे आपस में आम बोल- चाल की भाषा में बातचीत कर रहे थे. कैशियर नवीन कुमार ने बताया कि पहले एक अपराधी पिस्टल सटा दिया. फिर उसका व मैनेजर का मोबाइल छीन गाली- गलौज करते हुए पैसे मांगने लगा. उसने पैसा नहीं होने की बात कही तो उसके साथ मारपीट शुरू कर दी.

अपराधियों ने काउंटर से कैश को लेकर अपने साथी को दे दिया. फिर वोल्ट में जाकर उसमें रखे 38 हजार रुपये भी लूट कर सफेद रंग के झोला में रख लिया. शोर मचाने या फोन करने पर गोली मारने की धमकी दे रहे थे. फुटेज में दिख रहे दो बदमाशों ने एक ब्लू रंग का कैप और संतरे व ब्लू रंग का शर्ट पहने हुआ है. दूसरा बदमाश सफेद रंग का शर्ट पहने हुआ है, उसने अपने मुंह पर काले रंग का मस्क लगाये हुए है. दो दिनों से नहीं आया कैश, नहीं तो जाती जाती बड़ी लूट बैंक के अधिकारी ने बताया कि बीते दो दिनों से बैंक में कैश की किल्लत थी. मंगलवार दोपहर बाद करेंसी चेस्ट से पैसा आना था. इससे पहले ही अपराधियों ने बैंक में लूट कर दी. बैंक की लिमिट पांच लाख रुपये थे. अगर पैसा रहता तो अपराधी बड़ी लूट की वारदात को अंजाम दे सकते थे.

अपराधियों के हाथ में पिस्टल देख हो गये बेहोश

लूटपाट के दौरान अपराधी लगातार पिस्टल लहरा रहे थे. बैंक में घटना के समय अधिकांश महिला ग्राहक ही थी. पिस्टल को देखकर कई महिलाएं बेहोश हो गयी. बदमाश किसी ग्राहक से लूटपाट नहीं किये. सीसीटीवी में कैद अपराधियों का सुराग जुटाने के लिए देर शाम पहुंची सर्विलांस टीम ने बैंक व मनिकपुर जाने वाली रास्ते में कई जगहों पर टावर डंप किया . इस दौरान एक दर्जन संदिग्ध नंबर मिले है. पुलिस टावर लोकेशन के आधार पर अपराधियों को ट्रेस करने में जुटी हुई है. फरवरी में मोतीपुर व सरैया में दो बैंक लूट अपराधियों ने मोतीपुर में बैंक ऑफ इंडिया से 17 फरवरी को 12 लाख 88 हजार रुपये व 18 फरवरी को सरैया में उत्कर्ष स्मॉल बैंक से 8 लाख चार हजार रुपये लूट लिये थे. पुलिस ने घटना के तीन दिन बाद ही उत्कर्ष स्मॉल बैंक लूटकांड का खुलासा करते हुए चार अपराधियों को गिरफ्तार कर जेल भेजा था. लूट के तीन लाख से अधिक रुपये भी बरामद किये गये थे. वहीं, मोतीपुर बैंक ऑफ इंडिया लूटकांड का पुलिस अभी तक खुलासा नहीं कर पायी है.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें