24.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

गर्मी की छुट्टियों में पटना के स्कूलों और संस्थानों में समर कैंप, कई एक्टिविटीज से रूबरू होंगे बच्चे

गर्मी की छुट्टी का इंतजार बच्चों से लेकर बड़े तक को होती है. शहर के सरकारी स्कूलों में ग्रीष्मावकाश शुरू हो चुका है, जबकि निजी स्कूलों में अगले महीने से समर वेकेशन होगा. इस लंबी छुट्टी का बेहतर इस्तेमाल करने के लिए हर कोई कुछ न कुछ प्लान करता है. कई टूर पर जाता है, तो कोई समर कैंप से जुड़ता है. शहर में कई स्कूल, सरकारी व निजी संस्थाएं हैं, जो ग्रीष्मावकाश में समर कैंप का आयोजन करते हैं, ताकि बच्चे गर्मी की छुट्टी में नये हुनर को सीख सकें और अपनी पर्सनालिटी को निखार सकें. आज हम ऐसे ही संस्थाओं और स्कूलों के बारे में बता रहे हैं, जहां बच्चे समर वेकेशन में जुड़ कर हुनरमंद बन सकते हैं.

Summer Camp: गर्मी की छुट्टियों में समर कैंप बच्चों की स्किल डेवलप करने के लिए काफी फायदेमंद होता है. यही वजह है कि अब धीरे-धीरे समर कैंप का ट्रेंड बढ़ता जा रहा है. समर कैंप बच्चों और किशोरों के लिए सीखने और मनोरंजन करने का एक आदर्श मंच है. प्रतिभागियों के लिए महत्वपूर्ण जीवन कौशल का निर्माण करने के उद्देश्य से आउटडोर गेम्स, खेल, संगीत, कला और शैक्षिक कार्यक्रमों जैसी गतिविधियों को शामिल किया जाता है. शहर में मई और जून के महीने में समर कैंप का आयोजन किया जायेगा. इनमें किलकारी, श्रीकृष्ण विज्ञान केंद्र, उपेंद्र महारथी शिल्प अनुसंधान संस्थान, दादीजी मंदिर, नृत्यांगन हॉबी सेंटर, किड्स जोन, टेंडर हार्ट समेत सरकारी स्कूल और अन्य प्राइवेट संस्थान हैं.

छुट्टियों का करें बेहतर उपयोग, विकसित होगी नयी सोच

गर्मी की छुट्टियों में यदि अभिभावकों का कहीं का टूर प्लान नहीं बना हो, तो बच्चे को समर कैंप से जोड़ना बेहतर होता है. यह कहना है उपेंद्र महारथी की प्रशिक्षक विभा लाल का. वे कहती हैं, समर कैंप में जाने वाले बच्चे स्मार्ट फोन, आइपैड जैसे गैजेट से दूर रहते हैं. कैंप में आये अन्य बच्चों से उनकी मित्रता होती है. एक नयी सोच आ जाती है, जिससे आत्मविश्वास बढ़ता है. बच्चे खेल-कूद आदि में हिस्सा लेते हैं, तो उनका व्यायाम भी होता है. रोजमर्रा के जीवन में समय का प्रयोग कैसे करना है व ग्रुप में कैसा व्यवहार करना है, यह पता चलता है. हमेशा पढ़ते रहने और गैजेट से जुड़े रहने वाले बच्चों को थोड़ा ब्रेक मिलता है. समर कैंप में दिमाग क्रिएटिव होता है, जो घर के वातावरण में रहकर नहीं हो सकता.  

शहर की ये संस्थाएं आयोजित करेंगी समर कैंप


1. किलकारी बाल भवन, पांच मई से जुड़ सकेंगे बच्चे, सीखने को मिलेगा बहुत कुछ

शहर में मौजूद किलकारी अपने समर कैंप ‘चक धूम-धूम’ के लिए बच्चों में काफी लोकप्रिय है. समर कैंप में यहां बच्चों को 50 प्रकार की एक्टिविटी से जुड़ने का मौका मिलेगा, जिससे वे अपने हुनर को निखार सकेंगे. एक महीने तक चलने वाले कैंप में विभिन्न विधाओं के लिए अलग-अलग राज्यों से प्रशिक्षक बुलाये जाते हैं. इससे जुड़ने के लिए बच्चे अभी से अपना रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं. कैंप में 800 से ज्यादा बच्चे इसका हिस्सा बनते हैं, जहां उन्हें नृत्य : मणिपुरी शास्त्रीय नृत्य, फ्रीस्टाइल (हुल्ला हुफ्स), संगीत, नाटक, फोटोग्राफी, मधुबनी आर्ट, ग्राफिक्स आर्ट, वेस्ट मैटेरियल डेकोरेशन, मूर्तिकला, सैंड आर्ट के अलावा ताइक्वांडो, कराटे, बैडमिंटन, बॉल बैडमिंटन, कबड्डी, शतरंज और स्केटिंग आदि का प्रशिक्षण दिया जाता है.

2. श्री कृष्ण विज्ञान केंद्र, 20 दिनों के लिए आयोजित होगा समर कैंप, दिया जायेगा प्रशिक्षण

बच्चे को अगर साइंस में दिलचस्पी है, तो उन्हें आप विज्ञान केंद्र में आयोजित होने वाले समर कैंप से जोड़ सकते हैं. इस बार यह समर कैंप 15 मई के बाद शुरू होगा. साइंस सेंटर की टीम की ओर से जल्द इसे लेकर एक मीटिंग की जायेगी, जिसमें इसकी रूपरेखा तैयार होगी. यहां बच्चों को साइंस से जुड़ी विभिन्न एक्टिविटीज से जुड़ने का मौका मिलेगा. जिसमें आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस विद रोबोटिक्स, माइक्रोस्कोप वर्ल्ड और जॉय ऑफ टॉय, एयरोमॉडलिंग, शिप मॉडलिंग, रोबोटिक्स, साइंटिफिक टॉय मेकिंग, बेसिक इलेक्ट्रॉनिक आदि का प्रशिक्षण दिया जायेगा. समर कैंप में यहां हर साल 100-150 बच्चे भाग लेते हैं.

3. दादीजी मंदिर, आठ दिनों के लिए होगा कैंप, रंगमंच व नृत्य की दी जायेगी ट्रेनिंग

बैंक रोड स्थित दादीजी मंदिर में हर साल समर कैंप का आयोजन किया जाता है. इसमें कक्षा 2 से लेकर 12वीं कक्षा के बच्चों को शामिल किया जाता है. 12वीं के बच्चों को रंगमंच, नृत्य अन्य विधाओं से जुड़ा प्रशिक्षण दिया जाता है. वहीं छोटे बच्चों के लिए आर्ट एंड क्राफ्ट, ड्राइंग, पेंटिंग ,गीत और संगीत जैसे विधाओं का प्रशिक्षण मिलता है. आठ दिनों तक चलने वाले इस कैंप में बच्चों के खाने-पीने की सारी व्यवस्था होती है. कैंप जुड़े सदस्य ने बताया कि इसकी शुरुआत मई के आखिरी हफ्ते में होगी.

4. उपेंद्र महारथी शिल्प अनुसंधान संस्थान, हस्तशिल्प व कई अन्य विद्याओं से जुड़ने का मिलेगा मौका

उपेंद्र महारथी शिल्प अनुसंधान संस्थान में समर कैंप का आयोजन पिछले कई साल से होता आ रहा है. इस बार जून में एक हफ्ते के लिए समर कैंप का आयोजन किया जायेगा. बता दें कि यहां आयोजित होने वाले समर कैंप में बच्चों को हस्तशिल्प की विभिन्न शैलियों से जुड़ने का मौका मिलेगा. यहां स्कूली बच्चों को पेपर मेसी, टेराकोटा, टिकुली कला, मधुबनी पेंटिंग, सिक्की कला, जूट-ज्वेलरी एवं समकालीन कलाओं की ट्रेनिंग दी जाती है. हालांकि इस बार कैंप में क्या कुछ खास होगा, इसके लिए जल्द निर्णय लिया जायेगा. यहां हस्तशिल्प की विभिन्न विद्याओं की जानकारी अनुभवी कलाकार देते हैं.

5. नृत्यांगना हॉबी सेंटर, दस दिनों के कैंप में डांस, योग व अन्य एक्टिविटी होगी

नृत्यांगना हॉबी सेंटर में इस वर्ष दस दिनों का समर कैंप आयोजित किया जायेगा. जिसकी शुरुआत 15 मई से होगी. इसमें कुल 50 बच्चों को शामिल किया जाता है. इस दौरान बच्चों को डांस, योग, स्वीमिंग, आर्ट एंड क्राफ्ट, स्केचिंग, पेंटिंग आदि का प्रशिक्षण दिया जाता है.

6. तरुमित्र, जैविक खेती व पर्यावरणीय गतिविधियों से जुड़ेंगे बच्चे

तरुमित्र में मई-जून के महीने में विभिन्न स्कूलों द्वारा रेसिडेंसियल और तीन दिवसीय समर कैंप का आयोजन किया जायेगा. इसमें स्कूली बच्चों को पर्यावरण से जोड़ने के लिए सीड बम बनाना सिखाया जायेगा. साथ ही जैविक खेती और यहां मौजूद पेड़ पौधों के महत्व के बारे में बताया जायेगा. हमारी गतिविधियां पर्यावरण को किस प्रकार प्रभावित करती हैं, इसके बारे में बच्चों को रूबरू कराया जायेगा.

गर्मी की छुट्टियों में अपने बच्चों का निखारें खेल प्रतिभा

बच्चों को हर साल गर्मी की छुट्टियों का इंतजार रहता है. खासकर खेल में रुचि लेने वाले बच्चे ज्यादा उत्साहित रहते हैं. खेल संघ और एकेडमी की ओर से गर्मी की छुट्टियों में स्पेशल कैंप का आयोजन किया जाता है. पटना में भी कई खेल संघों और एकेडमी ने समर कैंप की योजना बनायी है. आइए जानते हैं इन योजनाओं के बारे में.

1. चेस : बिहार चेस एसोसिएशन के सचिव धर्मेंद्र कुमार ने बताया कि पाटलिपुत्र स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स स्थित चेस एकेडमी में समर कैंप का आयोजन किया जाएगा. बच्चों के प्रशिक्षण के लिए कैंप में ट्रेनर की विशेष व्यवस्था की जायेगी.

2. टेबल टेनिस : टेबल टेनिस के कोच सोमनाथ राय ने बताया कि अशोक राजपथ स्थित यंग मेंस इंस्टिट्यूट में 25 से 30 अप्रैल तक समर कैंप लगेगा. विशेष सत्र में बच्चों को टेबल टेनिस के गुर सिखाये जायेंगे. उन्होंने बताया कि इसमें 25-30 खिलाड़ी हिस्सा लेंगे

3. कराटे : कराटे संघ से जुड़े समता राही ने बताया कि स्कूलों में गर्मी की छुट्टी होने पर बच्चों के लिए कराटे में विशेष ट्रेनिंग की व्यवस्था की जायेगी. वहीं, ली मार्शल आर्ट के कोच अविनाश कुमार ने बताया कि समर कैंप में छोटे-छोटे बच्चों को ट्रेनिंग दी जायेगी.

4. पैरा खिलाड़ियों के लिए 15 दिनों का लगेगा कैंप
राजेंद्र नगर स्थित फिजिकल कॉलेज में पैरा खिलाड़ियों के लिए समर कैंप का आयोजन किया जायेगा. पैरा रग्बी के कोच संदीप कुमार ने बताया कि पांच मई से 15 दिनों का समर कैंप लगाया जायेगा. इसमें जिमनास्टिक, फुटबॉल, बैगो सहित कई खेलों की ट्रेनिंग दी जायेगी.

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें