28.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Trending Tags:

Advertisement

बिहार बोर्ड परीक्षा में 13 अंकों के कोड से होगी छात्रों की पहचान, जानिए कितने काम की है यूनिक आईडी

बिहार विद्यालय परीक्षा समिति की ओर से आयोजित होने वाली सभी परीक्षा में विद्यार्थियों को दिये गये यूनिक कोड से ही उनकी पहचान की जायेगी.

बिहार विद्यालय परीक्षा समिति (BSEB) की इंटर वार्षिक परीक्षा बुधवार एक फरवरी से शुरू हो जायेगी. परीक्षा में पहली बार विद्यार्थियों व शिक्षकों के सामने क्लास रूम में ही प्रश्न पत्र खोले जायेंगे. इसके साथ ही प्रश्न पत्र खुलने के बाद सभी क्लास से दो विद्यार्थी व एक शिक्षक का साइन लिया जायेगा, जबकि पूर्व में प्रश्न पत्र सेंटर सुपरिटेंडेंट के सामने खोले जाते थे. इसके साथ ही इस बार बोर्ड की ओर से विद्यार्थियों को जारी किये यूनिक आइडी कोड से ही उनकी पहचान होगी.

13 डिजिट के यूनिक कोड से होगी पहचान 

मैट्रिक व इंटर के परीक्षार्थी को दिये गये 13 डिजिट के यूनिक कोड से ही सभी परीक्षा में उनकी पहचान होगी. बिहार विद्यालय परीक्षा समिति की ओर से आयोजित होने वाली सभी परीक्षा में विद्यार्थियों को दिये गये यूनिक कोड से ही उनकी पहचान की जायेगी. यह जानकारी समिति के अध्यक्ष आनंद किशोर ने दी है. उन्होंने बताया कि इंटर परीक्षा के प्रथम पाली में 9.20 व द्वितीय पाली में 1.35 के बाद विद्यार्थियों को परीक्षा केंद्र में एंट्री नहीं दी जायेगी.

क्यों जारी किया गया कोड 

विद्यार्थियों को बिहार बोर्ड स्थायी रूप से एक 13 अंकों का यूनिक कोड दे रहा है. इस बार इंटर परीक्षा भी बिहार बोर्ड द्वारा ही लिया जा रहा है तो मैट्रिक रजिस्ट्रेशन के साथ बनने वाली यूनिक आईडी अब इंटर परीक्षा तक छात्रों के रिकॉर्ड में एकरूपता रखने के काम आएगी. इस कोड का इस्तेमाल सिर्फ परीक्षा के दौरान ही नहीं बल्कि वर्षों बाद भी इसका इस्तेमाल कर रिकार्ड निकाला जा सकेगा. इस कोड का इस्तेमाल केवल रिकार्ड में एकरूपता बनाए रखने और पहचान के लिए होगा.

परीक्षा केंद्रों पर धारा 144 

आनंद किशोर ने सभी विद्यार्थी से अनुरोध किया है कि परीक्षा सेंटर पर निर्धारित समय से आधे घंटे पहले पहुंचे. परीक्षा को लेकर सभी केंद्रों पर धारा 144 लगा दी गयी है. स्वच्छ, कदाचारमुक्त एवं कड़ाई के साथ परीक्षा के आयोजन के लिए समिति द्वारा राज्य के सभी जिला पदाधिकारी तथा पुलिस अधीक्षक को आवश्यक निर्देश दिया गया.

कदाचार करते हुए पकड़े जाने पर होंगे निष्कासित

अध्यक्ष आनंद किशोर ने बताया कि परीक्षा सेंटर पर किसी भी विद्यार्थियों को अगर चीटिंग करते हुए पकड़ा जाता है तो उन पर कानून कार्रवाई करते हुए समिति के नियमानुसार निश्चित अवधि के लिए परीक्षा से निष्कासित कर दिया जायेगा. उन्होंने इंटर परीक्षा में शामिल हो रहे सभी विद्यार्थियों व परीक्षा ड्यूटी में लगाये पदाधिकारियों को शुभकामनाएं देते हुए कदाचार मुक्त परीक्षा आयोजित कराने के लिए प्रेरित किया.

एलेक्ट्रोनिक गैजेट, स्मार्ट व डिजिटल घड़ी पहनने की नहीं होगी अनुमति

परीक्षा में शामिल होने वाले विद्यार्थियों व वीक्षक किसी भी प्रकार की एलेट्रोनिक गैजेट लेकर या पहन कर परीक्षा सेंटर कए अंदर जाने की अनुमति नहीं होगी. विद्यार्थी केवल सुई वाली घड़ी(मेकेनिकल वॉच) पहन कर परीक्षा सेंटर के अंदर जा सकते हैं. इसके साथ ही विद्यार्थियों को जूता और मोजा पहन कर भी परीक्षा सेंटर में जाने की अनुमति नहीं दी जायेगी. अपवाद स्वरूप अगर किसी विद्यार्थी को मेडिकल इश्यू होगी तो उन्हें मेडिकल सर्टिफिकेट दिखाने के बाद परीक्षा सेंटर में जाने की अनुमति दी जायेगी.

एक बेंच पर बैठेंगे दो विद्यार्थी

सभी परीक्षा केंद्र में एक क्लास में 10 अलग-अलग सेट के क्वेश्चन पत्र बटेंगे. अंग्रेजी के अल्फाबेट के अनुसार ए से जे तक के अलग-अलग प्रश्न पत्र बांटे जायेंगे. इसके साथ ही प्रत्येक क्लास में एक बेंच पर दो ही विद्यार्थियों को बैठाया जायेगा. एक बेंच पर बैठने वाले दोनों विद्यार्थियों का क्वेश्चन सेट अलग-अलग होगा.

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें