1. home Home
  2. state
  3. bihar
  4. patna
  5. innocent killed in children fight aman missing for 24 hours dead body was thrown into the sound after killing rdy

Bihar News: बच्चों की लड़ाई में मासूम की ले ली जान, 24 घंटे से लापता अमन, हत्या कर नाद में फेक दिया गया था शव

Bihar News अमन के पिता नसिवन ने गांव के ही मथुरा रविदास व उसकी पत्नी सुमित्रा देवी पर हत्या का आरोप लगाते हुए केस दर्ज कराया है. पुलिस ने आरोपित पति-पत्नी को गिरफ्तार कर लिया है.

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
बच्चों की लड़ाई में मासूम की ले ली जान
बच्चों की लड़ाई में मासूम की ले ली जान
प्रतीकात्मक तस्वीर.

Bihar Crime News: पटना के नौबतपुर थाना क्षेत्र के रुस्तमगंज गांव में घर से 24 घंटे से लापता मासूम की हत्या के बाद उसके हाथ-पैर रस्सी से बांधकर घर से कुछ दूर स्थित बसवारी के पास नाद में फेक दिया. सोमवार को मासूम का शव मिलते ही पूरे गांव में सनसनी फैल गयी. आरोप है कि एक माह पहले बच्चे में लड़ाई हुई थी और उसी का बदला लिया गया है. अमन कुमार तीन वर्ष रुस्तमगंज निवासी नसिवन रविदास का पुत्र था. अमन तीन भाइयों में सबसे छोटा था और आंगनबाड़ी में पढ़ाई करता था.

वारदात की सूचना पर पहुंची पुलिस ने मामले की छानबीन की और शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया. मृतक के पिता नसिवन रविदास नगर निगम में मजदूरी करते है. अमन के पिता नसिवन ने गांव के ही मथुरा रविदास व उसकी पत्नी सुमित्रा देवी पर हत्या का आरोप लगाते हुए केस दर्ज कराया है. पुलिस ने आरोपित पति-पत्नी को गिरफ्तार कर लिया है.

आरोपित पड़ोसी का बेटा ले गया था घर से खेलने के लिए

अमन को रविवार को गांव के ही मथुरा रविदास का पुत्र बोतल उर्फ सूर्या खेलने के लिए ले गया था. उसके बाद अमन लापता था. परिजनों ने अमन को खोजने का प्रयास किया, लेकिन नहीं मिला. इसके बाद परिजनों ने रविवार की रात नौबतपुर थाने में अमन के लापता होने की सूचना दी थी. नौबतपुर थाने की पुलिस भी बच्चे की खोज में निकल पड़ी. लेकिन अमन नहीं मिला. इसी बीच सोमवार की सुबह सूचना मिली की गांव में ही बंसवारी के पास स्थित जानवरों को चारा खिलाने वाले नाद में अमन का शव हाथ-पैर बांधकर फेका गया है.

इसी गांव के दंपती को पुलिस ने किया गिरफ्तार

अमन की मां रूनती देवी अपने लापता लाल के लौटने की आस लगाये दरवाजे पर ही टकटकी लगाये बैठी थी. लेकिन जैसे अमन की लाश मिलने की मनहूस खबर मिली मां बेसुध हो गयी. होश में आने पर बार-बार एक ही रट लगाये थी की कोई मेरे लाल को ले आओ. अमन के पिता भी बदहवास हो गये. अमन के भाई शेखर और रहीस का रो-रोकर बुरा हाल था. बदहवास परिवार की हालत देख कर ग्रामीणों की जुबान पर बस एक ही सवाल था कि आखिर मासूम का क्या कसूर था. इधर घटना के बाद अमन के घर सहित पूरे गांव मे मातमी सन्नाटा पसर गया.

Posted by: Radheshyam Kushwaha

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें