1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. patna
  5. balu khanan in bihar price of sand doubled in 11 days after the closure of mining people upset due to the increase in the cost of building rdy

बिहार में खनन बंद होने के 11 दिन में दोगुनी हुई बालू की कीमत, भवन बनाने में लागत बढ़ने से लोग परेशान

सुप्रीम कोर्ट के निर्देश और एनजीटी के गाइडलाइन के अनुसार सितंबर तक बालू खनन बंद रहेगा. नये जिला सर्वेक्षण रिपोर्ट (डीएसआर) के आधार पर सभी नदी घाटों की नये सिरे से बंदोबस्ती होने के बाद नये बंदोबस्तधारी अब बालू का खनन शुरू करेंगे.

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
बिहार में खनन बंद
बिहार में खनन बंद
प्रभात खबर.

पटना. राज्य में खनन बंद होने के करीब 11 दिन में बालू की कीमत में करीब दो गुनी बढ़ोतरी हो गयी है. इसका सीधा असर भवन निर्माण सेक्टर पर पड़ा है. खासकर निजी भवनों के निर्माण की लागत बढ़ने से लोग परेशान हैं. यह स्थिति बालू खनन फिर से शुरू नहीं होने तक बनी रहने की संभावना है. दूसरी तरफ खान एवं भूतत्व विभाग ने राज्य में 16 करोड़ सीएफटी बालू के भंडारण का दावा किया है और इसे खपत के अनुसार दिसंबर 2022 तक के लिए पर्याप्त बताया है. फिलहाल सुप्रीम कोर्ट के निर्देश और एनजीटी के गाइडलाइन के अनुसार सितंबर तक बालू खनन बंद रहेगा. नये जिला सर्वेक्षण रिपोर्ट (डीएसआर) के आधार पर सभी नदी घाटों की नये सिरे से बंदोबस्ती होने के बाद नये बंदोबस्तधारी अब बालू का खनन शुरू करेंगे.

भवन बनाने में लागत बढ़ने से लोग परेशान

डीएसआर बन चुका है और पर्यावरणीय मंजूरी भी मिल चुकी है. इसके आधार पर जिला प्रशासन के माध्यम से नदी घाटों की बंदोबस्ती होगी. सूत्रों के अनुसार बालू का खनन बंद होने से पहले ही सरकारी विभागों को निर्माण कार्यों के लिए बालू का भंडारण करने के लिए कहा गया था. ऐसे में सरकारी विभागों के पास पर्याप्त मात्रा में बालू उपलब्ध है. वहीं निजी भवन बनाने वाले निर्माण में जरूरत के अनुसार बालू खरीदकर उसका उपयोग करते हैं. उनके पास अधिक बालू रखने की जगह उपलब्ध नहीं होने से वे बड़ी मात्रा में बालू का स्टॉक नहीं करते. ऐसे में उन्हें बालू के बढ़े दामों की वजह से परेशानी का अधिक सामना करना पड़ता है.

मान्यता प्राप्त 200 खुदरा बिक्रेता बेच रहे बालू

खान एवं भूतत्व विभाग के सूत्रों का कहना है कि राज्य में करीब दो सौ खुदरा बिक्रेता (के लाइसेंसधारी) हैं. इन सभी ने बालू खनन बंद हाेने से पहले ही पर्याप्त मात्रा में बालू का भंडारण कर लिया था. सभी मिलाकर करीब 16 करोड़ सीएफटी बालू उपलब्ध है. इनके माध्यम से इ-चालान कटवाकर बालू की बिक्री हो रही है. पिछले साल जुलाई 2021 में भी बालू की कीमत में अचानक तीन से चार गुना बढ़ोतरी की बात सामने आयी थी. इसे देखते हुये सरकार के निर्देश पर चार जिलों के डीएम ने अपने-अपने जिले में बालू की कीमत तय कर दी थी. इसके अनुसार पटना जिला में जिलास्तरीय समिति ने 4528 रुपये प्रति 100 घन फीट का दर निर्धारित किया था. इसमें 300 रुपये लोडिंग चार्ज, लाइसेंसधारियों का पांच फीसदी कमीशन शामिल था.

Prabhat Khabar App: देश-दुनिया, बॉलीवुड न्यूज, बिजनेस अपडेट, क्रिकेट की ताजा खबरे पढे यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए प्रभात खबर ऐप.

FOLLOW US ON SOCIAL MEDIA
Facebook
Twitter
Instagram
YOUTUBE

Prabhat Khabar App :

देश-दुनिया, बॉलीवुड न्यूज, बिजनेस अपडेट, मोबाइल, गैजेट, क्रिकेट की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

googleplayiosstore
Follow us on Social Media
  • Facebookicon
  • Twitter
  • Instgram
  • youtube

संबंधित खबरें

Share Via :
Published Date

अन्य खबरें