1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. jdu candidate rajiv lochan against rjd candidate anant singh from mokama in bihar vidhan sabha election 2020 cm nitish kumar atal bihari vajpayee connection upl

Bihar Election News 2020: हॉट सीट मोकामा से RJD के अनंत सिंह को टक्कर देंगे CM नीतीश के खास, पूर्व पीएम वाजपेयी से जुड़ा कनेक्शन

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
राजद के अनंत सिंह का मुकाबला जदयू के राजीव लोचन से होगा
राजद के अनंत सिंह का मुकाबला जदयू के राजीव लोचन से होगा
FIle

Anant singh News: पटना जिले की सबसे हॉट सीट मोकामा विधानसभा क्षेत्र में राजद के अनंत सिंह का मुकाबला जदयू के राजीव लोचन से होगा. राजीव को सीएम नीतीश का खास माना जाता है जिनका पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी से भी नाता जुड़ा है. मोकामा विधानसभा क्षेत्र से जदयू ने उम्मीदवार के नये चेहरे के रूप में इस बार राजीव लोचन का चयन किया है.

2015 में जदयू के नीरज कुमार के खिलाफ बतौर निर्दलीय चुनाव लड़कर अनंत कुमार सिंह ने जीत हासिल की थी. वहीं अनंत कुमार सिंह मोकामा से 2005 और 2010 के विधानसभा चुनावों में बतौर जदयू उम्मीदवार जीत हासिल कर विधानसभा पहुंचे थे.

चुनाव आयोग के आंकड़ों के अनुसार 2005 के विधानसभा चुनाव में मोकामा से अनंत कुमार सिंह ने बतौर जदयू उम्मीदवार चुनाव लड़कर 35877 वोट हासिल किया. उन्होंने सीधे मुकाबले में लोजपा के उम्मीदवार नलिनी रंजन शर्मा को हराया था. नलिनी रंजन शर्मा को 33042 वोट मिले थे. वहीं, 2010 के विधानसभा चुनाव में बतौर जदयू उम्मीदवार अनंत कुमार सिंह का मुकाबला सोनम देवी से था.

अनंत कुमार सिंह को 51564 वोट मिले जबकि सोनम देवी को 42610 वोट हासिल हुए. वहीं 2015 के विधानसभा चुनाव में अनंत कुमार सिंह को जदयू से टिकट नहीं मिला. उन्होंने बतौर निर्दलीय उम्मीदवार चुनाव लड़कर जदयू के नीरज कुमार को हराया. उस बार अनंत कुमार सिंह को 54005 वोट मिले जबकि नीरज कुमार को 35657 वोट हासिल हुआ था.

कौन हैं राजीव लोचन

सूत्रों के अनुसार राजीव लोचन नारायण सिंह उर्फ अशोक नारायण मोकामा के शंकरवार टोला निवासी हैं. इनके पिता वेंकटेश नारायण सिंह उर्फ बीनो बाबू का पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के साथ करीबी संबंध रहा था. वाजपेयी ने मोकामा आने पर बीनो बाबू के यहां विश्राम भी किया था.

जब 1989 में नीतीश कुमार बाढ़ संसदीय क्षेत्र से चुनाव लड़ने उतरे, तब भी वेंकटेश नारायण सिंह ने उनकी जीत सुनिश्चित करने के लिए हर बार चुनाव में साथ दिया. यही कारण रहा कि नीतीश कुमार मुख्यमंत्री बनने के बाद मोकामा आने पर वेंकटेश बाबू से मुलाकात करते थे. राजीव लोचन पिछले चार दशक से भाजपा से जुड़े हुए हैं. उन्होंने भाजपा के किसान मोर्चा में राज्य स्तर पर कई अहम पदों पर जिम्मेदारी निभायी है.

Posted By: Utpal Kant

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें