1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. darbhanga
  5. sanskrit university panchang is important for those who believe in indian culture vivah mundan upanayana muhurat date rdy

भारतीय संस्कृति में विश्वास रखने वालों के लिए विवि पंचांग महत्वपूर्ण, जानें विवाह व मुंडन के शुभ मुर्हूत

विश्वविद्यालय के ज्योतिष पूरे वर्ष इसके निर्माण में लगे रहते हैं. उनके अथक परिश्रम से ही यह कार्य पूरा हो पाता है. कहा कि भारतीय संस्कृति में विश्वास रखने वालों के लिए यह पंचांग महत्वपूर्ण है.

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
 विश्वविद्यालय पंचांग का लोकार्पण करते कुलपति, प्रतिकुलपति व अन्य.
विश्वविद्यालय पंचांग का लोकार्पण करते कुलपति, प्रतिकुलपति व अन्य.
प्रभात खबर

दरभंगा. कामेश्वर सिंह दरभंगा संस्कृत विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. शशिनाथ झा ने शुक्रवार को विश्वविद्यालय पंचांग का लोकार्पण किया. मौके पर कुलपति ने कहा कि वर्ष 1974 से विवि द्वारा प्रकाशित हो रहे पंचांग की विश्वसनीयता एवं ख्याति अंतरराष्ट्रीय स्तर पर है. विश्वविद्यालय के ज्योतिष पूरे वर्ष इसके निर्माण में लगे रहते हैं. उनके अथक परिश्रम से ही यह कार्य पूरा हो पाता है. कहा कि भारतीय संस्कृति में विश्वास रखने वालों के लिए यह पंचांग महत्वपूर्ण है. इसके आधार पर हम अपना दैनिक कार्य एवं संस्कारों का संपादन करते हैं. कहा कि इसकी सबसे बड़ी विशेषता है कि प्रकाशन से पूर्व पंडितों की सभा होती है. आपस में विचार-विमर्श के पश्चात ही इसे अंतिम रूप दिया जाता है.

15 मार्च से 14 अप्रैल तक कामाख्या में कुम्भ योग

कुलपति ने समय से प्रकाशन पर प्रसन्नता व्यक्त की और कहा कि तीन दिनों के अंदर आम लोगों के लिए बाजार में इसे उपलब्ध करा दिया जायेगा. लोकार्पण कार्यक्रम में प्रतिकुलपति डॉ सिद्धार्थ शंकर सिंह, वित्तीय परामर्शी कैलाश राम, अध्यक्ष छात्र कल्याण डॉ सुरेश्वर झा, कुलानुशासक प्रो. श्रीपति त्रिपाठी, कुलसचिव डॉ सत्येंद्र नारायण सिंह, प्रकाशन प्रभारी डॉ दयानाथ झा, ज्योतिष विभागाध्यक्ष डॉ कुलानंद झा, वेद विभागाध्यक्ष डॉ विनय कुमार मिश्रा, वित्त पदाधिकारी रतन कुमार, परीक्षा नियंत्रक डॉ दिनेश्वर यादव, डॉ जीवानंद झा, डॉ कुणाल कुमार झा, डॉ विदेश्वर झा, डॉ चंद्र शेखर झा बूढाभाई, नरोत्तम मिश्र आदि मौजूद थे. पिछले साल के मुकाबले 10 रुपये की बढ़ोतरी के साथ पंचांग की कीमत 90 रुपये रखी गयी है.

14 जुलाई से 31 जुलाई 2023 तक के लिए मान्य होगा पञ्चाङ्ग

सह संपादक डॉ वरुण कुमार झा ने बताया कि पञ्चाङ्ग 14 जुलाई 2022 से 31 जुलाई 2023 तक के लिए मान्य होगा. राजा चन्द्रमा तथा मन्त्री बृहस्पति हैं. वर्षा 07 विश्वा तथा धान्य 05 विश्वा है. 15 मार्च 2023 से 14 अप्रैल 2023 तक चैत्रमास में कामाख्या में कुम्भ योग का आयोजन होगा. सौराठ सभा का आयोजन 19 जून से 28 जून 2023 तक होगा. रक्षाबंधन 12 अगस्त, कृष्णाष्टमी 19 अगस्त, अश्विन दुर्गा पूजा का कलश स्थापन 26 सितंबर, विजयादशमी पांच अक्तूबर, कोजागरा नौ अक्तूबर, दीपावली 24 अक्तूबर, छठ 30 अक्तूबर को होगा.

19 से 28 जून तक होगा सौराठ सभा का आयोजन

मकर सङ्क्रान्ति 15 जनवरी, होलिका दहन सात मार्च एवं होली आठ मार्च को मनाई जाएगी. 25 अक्तूबर को खण्डग्रास सूर्यग्रहण तथा आठ नवंबर को खग्रास चंद्रग्रहण लगेगा. सूर्यग्रहण का स्पर्श दिन में 04.42 तथा मोक्ष शाम 05.08, चन्द्र ग्रहण स्पर्श दिन में 04.59 तथा मोक्ष शाम 06.20 बजे. एक माह दो ग्रहण का होना अशुभ फलदायक है. इस वर्ष गृहारम्भ तथा गृह प्रवेश के 28-28 शुभ मुहूर्त है.

मुंडन के लिए कुल 34 दिन

  • नवंबर : 25, 28, 30

  • दिसंबर : 5, 9

  • जनवरी : 23, 26, 27

  • फरवरी : 1, 3, 10, 22, 23, 24

  • मार्च : 1, 2, 3, 9, 10

  • अप्रैल : 24, 26, 27

  • मई : 1, 3, 8, 22, 24, 29, 31

  • जून: 1, 2, 8, 21, 28 

विवाह के मुख्य 58 दिन

  • नवंबर: 20, 21, 24, 25, 27, 28, 30

  • दिसंबर: 4, 5, 7, 8, 9, 14

  • जनवरी: 18, 19, 22, 23, 25, 26, 27, 30

  • फरवरी : 1, 6, 8, 10, 15, 16, 17, 22, 24, 27

  • मार्च: 1, 6, 8, 9, 13

  • मई: 1, 3, 7, 11, 12, 17, 21, 22, 26, 29, 31

  • जून : 5, 7, 8, 9, 12, 14, 18, 22, 23, 25, 28

उपनयन के 14 दिन

  • जनवरी: 26, 31

  • फरवरी: 1, 22, 24

  • मार्च: 1, 2, 3

  • मई : 1, 22, 24, 29, 30, 31

Prabhat Khabar App :

देश, दुनिया, बॉलीवुड न्यूज, बिजनेस अपडेट, टेक & ऑटो, क्रिकेट और राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

googleplayiosstore
Follow us on Social Media
  • Facebookicon
  • Twitter
  • Instgram
  • youtube

संबंधित खबरें

Share Via :
Published Date

अन्य खबरें