21.1 C
Ranchi
Saturday, February 24, 2024

BREAKING NEWS

Trending Tags:

Homeएजुकेशनबिहार शिक्षक परीक्षा: एक्सपर्ट से जानिए कैसे करें दूसरे फेज की तैयारी, क्या पढ़ने से एग्जाम में मिलेगी मदद..

बिहार शिक्षक परीक्षा: एक्सपर्ट से जानिए कैसे करें दूसरे फेज की तैयारी, क्या पढ़ने से एग्जाम में मिलेगी मदद..

बिहार शिक्षक भर्ती के फेज 2 के परीक्षा की तैयारी कैसे करें ताकि परीक्षा आसान हो जाए. 7 से 15 दिसंबर को होने वाली परीक्षा के लिए जानिए क्या है एक्सपर्ट की राय. किन विषयों को और किन किताबों को पढ़ने से आसान होगा काम. जानिए..

BPSC Tre 2 : बिहार लोक सेवा आयोग की तरफ से परीक्षा (Bihar Teacher Exam) का आयोजन करके एक लाख से अधिक शिक्षकों को नियुक्त किया जा चुका है . वहीं करीब एक लाख से अधिक शिक्षकों की पूर्ति दूसरे फेज में भी होने जा रही है. जिसके बाद प्रदेश में 2 लाख से अधिक शिक्षकों की भर्ती पूरी हो जाएगी. बीपीएससी द्वारा दूसरे चरण की शिक्षक भर्ती परीक्षा 7 से 15 दिसंबर तक ली जायेगी. इसमें प्राथमिक विद्यालय (एक से पांचवीं), उच्च प्राथमिक विद्यालय (छठी से आठवीं) और माध्यमिक विद्यालय (नौवीं से 10वीं) तथा उच्च माध्यमिक विद्यालय (11वीं से 12वीं) के शिक्षक पद के लिए परीक्षा होगी. जानिए इसबार किन कंडिडेट को परीक्षा में शामिल होने की अनुमति नहीं दी गयी है.

कक्षा 11वीं से 12वीं के लिए…

पटना साइंस कॉलेज के असिस्टेंट प्रोफेसर डॉ अखिलेश कुमार बताते हैं कि क्वालीफाइंग में सामान्य अंग्रेजी व हिंदी से संबंधित प्रश्न होंगे. सामान्य इंग्लिश ग्रामर व हिंदी व्याकरण पर आधारित होगा. इसमें व्याकरण के साथ साथ बेसिक हिंदी व इंग्लिश लिटरेचर के कुछ प्रश्न शामिल किये जा सकते हैं. अतः इसके लिए अभ्यर्थी उन विषयों के बिहार विद्यालय परीक्षा समिति के पाठ्यक्रमों के साथ-साथ एनसीइआरटी को ही आधार बनाएं, तो बेहतर होगा. सामान्य अध्ययन पत्र उच्च माध्यमिक विद्यालय के पाठ्यक्रमों के अनुरूप होगा, जिसमें उच्च माध्यमिक स्तर तक के प्राथमिक गणित, सामान्य जागरूकता, सामान्य विज्ञान, भारतीय राष्ट्रीय आंदोलन, भूगोल आदि को कवर किया जायेगा. पाठ्यक्रम संबंधित विषयों पर आधारित उच्च माध्यमिक विद्यालय के पाठ्यक्रमों के अनुरूप होगा. विषय पत्र के लिए अभ्यर्थियों को अपने विषय श्रेणी के अनुरूप 12वीं तक की एनसीइआरटी, एससीइआरटी के साथ-साथ स्नातक, पीजी स्तर की कुछ पुस्तकों को शामिल करना चाहिए. सामान्य अध्ययन के लिए अभ्यर्थी एनसीइआरटी के साथ-साथ बिहार टेक्स्ट बुक्स को ही आधार बनाएं, तो बेहतर होगा.

कक्षा नौवीं से 10वीं के लिए…

पटना ट्रेनिंग कॉलेज, पीयू के असिस्टेंट प्रोफेसर डॉ दीप नारायण कुमार छात्रों को सलाह देते हैं कि विषय-पत्र व सामान्य अध्ययन के पेपर पर फोकस करने की जरूरत है. इसमें कुल 120 अंकों के लिए 120 प्रश्न पूछे जायेंगे. विषय पत्र में विषयों को चार समूहों में बांटा गया है. गणित, विज्ञान, सामाजिक विज्ञान तथा भाषा से संबंधित विषय हैं. इसी पेपर के आधार पर अभ्यर्थियों का मेरिट निर्धारित होगा. अंतिम समय में पाठ्यक्रम को एक बार सरसरी निगाहों से देख लें. पूर्व में पूछे गये प्रश्नों को एक बार अवश्य पढ़े. इससे आपको प्रश्न की प्रकृति को समझने में आसानी होगी. अपने-अपने विषय के नौवीं से 12वीं तक के टेक्स्ट बुक को अच्छी तरह से पढ़ें. वस्तुनिष्ठ प्रश्न पर ज्यादा फोकस करें. सामान्य ज्ञान के लिए बिहार के इतिहास, भूगोल, राजनीति तथा पर्यावरण से संबंधित तथ्यों को ज्यादा देखें. इतिहास में प्राचीन काल तथा आधुनिक भारत एवं राष्ट्रीय आंदोलन से संबंधित तथ्यों पर ज्यादा फोकस करें. राष्ट्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय पहलुओं से जुड़े सभी घटनाक्रम को एक बार जरूर देख लें.

Also Read: बिहार में BPSC पास शिक्षक से पकड़ौआ शादी मामले में एक गिरफ्तार, अपहरण करके जबरन कराया गया था विवाह..
कक्षा एक से पांचवीं के लिए…

विमेंस ट्रेनिंग कॉलेज, पीयू की असिस्टेंट प्रोफेसर डॉ आरती कुमारी की सलाह है कि अंतिम समय में परीक्षा के पैटर्न को समझना जरूरी है. पिछली बार पूछे गये प्रश्नों को ध्यान से देखें. उसके ऑप्शन को भी देंखे ले. ऑप्शन से भी इस बार सवाल तैयार हो सकते हैं. इससे परीक्षा में पूछे जाने वाले प्रश्नों के संभावित स्तर का पता चल जायेगा. अभ्यर्थी विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं में भाषा से पूछे जा रहे सवालों को आधार बना सकते हैं. सामान्य अध्ययन के लिए एलीमेंट्री गणित, मेंटल एबिलिटी, जेनरल अवरेनेस, जेनरल सांइस, सोशल साइंस, भारतीय स्वतंत्रता संग्राम, भूगोल और पर्यावरण जैसे टॉपिक्स से प्रश्न रहेंगे. अभ्यर्थी एनसीइआरटी के साथ-साथ बिहार टेक्स्ट बुक्स को ही आधार बनाएं तो बेहतर होगा. सोशल साइंस के लिए कक्षा छठी से 12वीं, साइंस के लिए कक्षा छठी से 10वीं तक तथा गणित के लिए जेनरल मैथ की कोई पुस्तक को देख सकते हैं. जेनरल अवेयरनेस के लिए करेंट अफेयर्स के मंथली मैगजीन को पढ़ना बेहतर होगा.

कक्षा छठी से आठवीं के लिए…

शिक्षाविद राजकिशोर दुबे बताते हैं कि उच्च माध्यमिक विद्यालय के अभ्यर्थियों की परीक्षा में भी 150 अंक के प्रश्न पत्र रहेंगे, जिसमें 30 अंक भाषा से संबंधित होंगे, जो केवल क्वालीफाइंग हैं. शेष 120 अंक जिसमें 40 अंक सामान्य जागरूकता से तथा 80 अंक संबंधित विषय से रहेंगे. इसमें 11वीं -12वीं के एनसीइआरटी से प्रश्न ज्यादातर पूछे जायेंगे. ज्यादा से ज्यादा एमसीक्यू क्वेश्चन की प्रैक्टिस करें. एनसीइआरटी छठी से 12वीं तक के एमसीक्यू की प्रैक्टिस करें. छठी से आठवीं के अभ्यर्थियों के लिए छठी से आठवीं की एनसीइआरटी की पुस्तक के संबंधित विषय का एमसीक्यू बना लें. कक्षा नौवीं से 10वीं के अभ्यर्थियों के लिए छठी से 10वीं तक की एनसीइआरटी की पुस्तक का एमसीक्यूबनाएं. 11वीं से 12वीं की अभ्यर्थियों के लिए कक्षा 9वीं से 12वीं तक की एनसीइआरटी का एमसीक्यूबनाएं. शेष सामान्य जागरुकता के प्रश्न जो 40 की संख्या में रहेंगे, इसमें समसामयिकी में संयुक्त सैन्य अभ्यास, अंतरराष्ट्रीय संगठन, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी, पर्यावरण, राष्ट्रीय खेल पुरस्कार आदि को एक नजर देखें.

You May Like

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें